मंगलवार, 22 नवंबर 2016

साबित हुआ जनता मोदी के साथ : नोटबंदी के बाद हुए उपचुनाव BJP जीती :

नोट बंदी के बाद जिस तरह से विपक्ष ने हायतोबा मचाई थी उसका जबाव जनता ने दे दिया हे । जहाँ  जिसकी राज्य सरकार थी वहां उस दल को सीट मिल गई है । भारत में आमजन भाजपा के फेवर में हैं । यह सबूत  मध्यप्रदेश , असम और अरुणाचल के उप चुनावों में 2 लोकसभा और 3 विधानसभा चुनाव जीतें ने से दिया है ।  इन चुनावों से  सबोट हुआ कि जनता मोदीजी के साथ हे । 
- अरविन्द सिसोदिया , जिला महामंत्री भाजपा  कोटा , राजस्थान 9509559131
----

नोटबंदी के बाद हुए उपचुनाव का रिजल्टः MP, असम, अरुणाचल में BJP जीती, मंत्री ने कहा- साबित हुआ जनता मोदी के साथ
dainikbhaskar.com | Nov 22, 2016, 




नई दिल्ली. नोटंबदी के बाद पिछले हफ्ते 7 राज्यों की 14 सीटों पर उपचुनाव हुए थे। इसके नतीजे मंगलवार को आए। मध्य प्रदेश, असम और अरुणाचल प्रदेश में बीजेपी ने कब्जा किया है। तमिलनाडु की तीनों विधानसभा सीटों पर AIADMK ने जीत हासिल की है। त्रिपुरा में दोनों सीटें सीपीएम को मिलीं हैं। उधर वेस्ट बंगाल टीएमसी तीनों विधानसभा सीटें अपने ही पास रखने में कामयाब रही है। 
# मध्य प्रदेश
- शहडोल लोकसभा सीट और नेपानगर विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में बीजेपी अपना कब्जा बरकरार रखने में कामयाब रही है।
- शहडोल ज्ञान सिंह ने कांग्रेस की हिमाद्री सिंह को हराया। हिमाद्री कांग्रेस के केंद्रीय मंत्री रहे दलबीर सिंह की बेटी हैं।
- शहडोल सीट बीजेपी सांसद दलपत सिंह परस्ते की मौत के बाद खाली हुई थी।
- नेपानगर में बीजेपी की मंजू दादू ने कांग्रेस के अंतर सिंह बारडे को हराया।
- मंजू बीजेपी के दिवंगत विधायक राजेंद्र श्यामलाल दादू की बेटी हैं। श्यामलाल दादू की इसी साल जून में सड़क हादसे में मौत हो गई थी।
# वेस्ट बंगाल
- वेस्ट बंगाल में टीएमसी तीनों सीटों पर फिर जीत हासिल करने में कामयाब रही।
- कूच बिहार में पार्था प्रतिम 4 लाख 13 हजार 231 वोटों से जीते। उन्होंने बीजेपी के हेमचंद्र बर्मन को 4 लाख 90 हजार वोटों से हराया।
- तमलुक लोकसभा सीट पर दिव्येंदु अधिकारी जीते। उन्होंने सीपीअाई-एम की मंदिरा पांडा को 4 लाख 97 हजार वोटों से शिकस्त दी।
- मोंटेश्वर विधानसभा सीट पर सैकत पांजा जीते। उन्होंने सीपीआई-एम के मोहम्मद ओसमान गनी सरकार को 1 लाख 27 हजार वोटों से हराया।
# तमिलनाडु
- तमिलनाडु की तीनों विधानसभा सीटों पर AIADMK ने जीत दर्ज की है।
- तंजावुर सीट पर AIADMK के एम. रेंगासामी ने DMK के अंजुघम बूपथि को 25000 वोटों से शिकस्त दी।
- अरावकुरिचि में AIADMK के वी. सेंथिल बालाजी ने DMK के के.सी. पलानिसामी को 23 हजार 661 वोटों से हराया।
- तिरुपर्रानकुंदरम सीट पर AIADMK के ए.के. बोस ने DMK के पी. सर्वाननम को 42670 वोटों से शिकस्त दी।
- अरावकुरिचि और तंजावुर में इस साल मई में हुए विधानसभा चुनाव के वक्त वोटिंग टाल दी गई थी। इन दोनों सीटों पर अब चुनाव करवाए गए हैं।
- इनके अलावा तिरिपर्रानकुंदरम में उप चुनाव कराए गए हैं।
# अरुणाचल प्रदेश
- अरुणाचल प्रदेश में बीजेपी की दसांगलू पुल ने डिपेंडेंट कैंडिडेट योंपी क्री को 944 वोटों से हराया।
- दसांगलू पूर्व दिवंगत सीएम कलिखो पुल की पत्नी हैं। कलिखो की मौत के बाद ही ह्यूलांग विधानसभा सीट खाली हुई थी।
- दसांगलू कलिखो की तीन पत्नियों में से सबसे छोटी हैं। उन्होंने नॉर्थ डेमोक्रेटिक अलायंस की ओर से बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ा था।
# असम
- लखीमपुर-14 लोकसभा सीट और बैठलांसो-20 विधानसभा सीट पर बीजेपी ने जीत दर्ज की है।
- लखीमपुर-14 सीट पर बीजेपी के प्रदान बरुआ ने कांग्रेस के डॉ. हेमा प्रसंगा पेगू को 1 लाख 90 हजार 219 वोटों से शिकस्त दी।
- लखीमपुर सीट सांसद सर्वानंद सोनोवाल के असम का सीएम बनने के बाद खाली हुई थी।
- बैठलांसों में डॉ. मानसिंह रोंगपी ने कांग्रेस के रुपोनसिंग रोंघांग को 16 हजार 600 वोटों से हराया।
- डॉ. मानसिंह 12 जुलाई को कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए थे इसके बाद यह सीट खाली हो गई थी।
# त्रिपुरा
- त्रिपुरा की दोनों विधानसभा सीटों पर सीपीआई-एम ने कब्जा किया।
- बरजाला सीट सीपीआई-एम ने कांग्रेस से छीन ली। यहां झूमू सरकार ने बीजेपी के शिस्तामोहन दास को 3 हजार 374 वोटों से हराया।
- खोवाई सीट पर बिस्वजीत दत्ता ने टीएमसी के मनोज दास को 16 हजार 47 वोटों से हराया।
- बरजाला सीट कांग्रेस के विधायक जितेंद्र सरकार के इस्तीफा देने के बाद खाली हुई थी। खोवाई सीट सीपीआई-एम के नेता समीर देब की मौत के बाद खाली हुई थी।
# पुड्डुचेरी
- पुड्डुचेरी के नल्लीथोप्पे विधानसभा सीट पर कांग्रेस को जीत हासिल हुई है।
- यहां सीएम वी. नारायणसामी ने AIADMK के ओम सक्थि सेखर को 11 हजार 144 वोटों से हराया।
- मई में हुआ विधानसभा चुनाव नारायणसामी नहीं लड़े थे। लेकिन बाद में उन्हें विधायक दल का मुखिया चुना गया।
- नारायणसामी के लिए नल्लीथोप्पे सीट कांग्रेस के जॉन कुमार ने छोड़ी थी, ताकि वे यहां से चुनाव लड़ सकें।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें