सोमवार, 14 नवंबर 2016

घोटाला करने वाले ही , मोदी जी के खिलाफ हो रहे हैं एकजुट !








भाजपा ने विपक्ष पर बोला हमला,
कहा- घोटाला करने वाले मोदी के खिलाफ हो रहे हैं एकजुट

ब्यूरो/ अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Mon, 14 Nov 2016

कालाधन के खिलाफ अभियान के नाम पर मोदी सरकार के 500 और 1000 के नोट को प्रचलन से हटाने के कारण लोगों को हो समस्या पर विपक्ष के हमले पर भाजपा ने पलटवार किया है। पार्टी ने कहा है कि अपने शासनकाल में जम कर घोटाला करने वाले दलों के नेताओं को कालाधन, हवाला रैकेट और आतंकवाद के खिलाफ छेड़े गए मोदी सरकार का अभियान रास नहीं आ रहा।

पार्टी प्रवक्ता सिद्घार्थ नाथ सिंह ने दावा किया कि मोदी सरकार के इस फैसले से विपक्ष बुरी तरह हिल गया है। यही कारण है कि इस फैसले को लोगों से मिल रहे भरपूर समर्थन की अनदेखी कर विपक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अनाप शनाप आरोप लगा रहा है।

सिंह ने कहा कि विरोध करने वाले वही लोग हैं जिनके शासनकाल में कई घपलों के जरिए जनता की गाढ़ी कमाई लूट ली गई। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आरोपों पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा कि दरअसल उन्हें नारद घोटाला मामले की चिंता सता रही है। सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री का निर्णय देशहित में है। यह निर्णय आतंकवाद, कालाधन धन रखने वालों और हवाला रैकेट चलाने वालों के खिलाफ है। लोग सच्चाई समझ रहे हैं, इसलिए खुल कर इस फैसले का समर्थन कर रहे हैं। विपक्ष इस फैसले को मिल रहे जनसमर्थन से बौखला कर राजनीति कर रहा है। इस दौरान सिंह ने जल्द ही लोगों को हो रही परेशानी दूर होने की उम्मीद जताई।

--------------------

नोटबंदी पर सरकार नहीं करेगी सरेंडर, पीएम बोले- देश हमारे साथ, विपक्ष रणनीति में जुटा कालेधन के खिलाफ मुहिम को अंजाम तक पहुंचाएंगे

aajtak.in [Edited By: अमित दुबे] नई दिल्ली, 14 नवम्बर 2016 |

मोदी सरकार द्वारा 500 और 1000 के नोट पर पाबंदी के बाद से ही विपक्ष ने हमलावार रुख अपना लिया है. तमाम पार्टियां अब इस मुद्दे को लेकर सरकार को संसद में घेरने की तैयारी में है. वहीं सरकार ने पलटवार के लिए अपनी रणनीति तैयार कर ली है.

खबरों की मानें तो नोटबंदी पर विपक्ष के तेवरों के आगे सरकार खुद सरेंडर नहीं करेगी. सूत्रों के मुताबिक संसदीय कमेटी बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि देश की जनता हमारे साथ है. हालांकि सर्वदलीय बैठक में सरकार सभी पर विपक्ष को चर्चा का भरोसा दिया और कहा कि उसे विपक्ष से उम्मीद है कि सदन में उनका पूरा सहयोग मिलेगा.

संसदीय कमेटी बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि सरकार संसद में सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है, लेकिन अगर विपक्ष हावी होने की कोशिश करेगा तो उन्हें जवाब दिया जाएगा. वहीं पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि विपक्ष के पास कोई बड़ा मुद्दा नहीं है इसलिए वो संसद की शीलकालीन सत्र में नोटबंदी, OROP और सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे पर सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश करेगा.

इस बीच केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि पीएम मोदी के फैसले के साथ पूरा देश खड़ा है. चाहे वो सीमा पर आतंकियों के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक का मुद्दा हो या फिर कालेधन पर लगामे लगाने के लिए 500 और 1000 के नोट पर बैन का फैसला. नायडू ने बताया इन दोनों मुद्दों पर एनडीए के घटक दलों ने भी पीएम मोदी को अपना पूरा समर्थन दिया. वहीं केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि विपक्ष जितना चाहे शोर मचा ले कालेधन के खिलाफ मुहिम को अंजाम तक पहुंचाएंगे.

विपक्ष सरकार के खिलाफ एकजुट
दरअसल नोटबंदी को लेकर विपक्ष अब संसद में सरकार को घेरने की तैयारी में है. इस को ध्यान में रखते हुए शीलकालीन सत्र से पहले तमाम दलों ने बैठक की. बैठक में कांग्रेस, टीएमसी, आरजेडी, जेडीयू, जेएमएम समेत वामदल के तमाम बड़े नेता शामिल हुए. खबरों की मानें तो विपक्ष का कहना है कि सरकार ने बिना तैयारी नोट पर पाबंदी लगा दी है. विपक्ष की मांग है कि जनता की परेशानी को देखते हुए मोदी सरकार को नोटबंदी पर अपना फैसला वापस लेना चाहिए.

विपक्ष का आरोप है कि सरकार के इस कदम पूरे देश में हाहाकार मचा है और लोग बेहद परेशान हैं. इसले अलावा सर्जिकल स्ट्राइक पर भी सरकार ने जवाब मांगने की तैयारी में हैं विपक्षी पार्टियां. सरकार पर संसद पर दबाव बनाने की रणनीति को लेकर मंगलवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी मुलाकात करेंगी.

---------------------

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें