मंगलवार, 29 नवंबर 2016

भारतबंद बुरी तरह विफल हुआ - अरविन्द सिसोदिया





भारतबंद बुरी तरह विफल हुआ है। किसी भी पार्टी के कार्यकर्ता में यह दम नहीुं हुआ कि वे दुकानें बंद करवानें निकल सकें। बंगाल में मामूली असर सिर्फ केरल और त्रिपुरा में रहा बांकी सिर्फ फोटो खिचवाई और न्यूज बनवाई तक ही सीमित रहा बंद । कुल मिलाकर बुरी तरह से फैल हुआ भारत बंद । 
- अरविन्द सिसोदिया, जिला महामंत्री, भाजपा कोटा, राजस्थान 94141 80151 


नोटबंदी: विपक्ष का देश भर में विरोध प्रदर्शन, भाजपा बोली, फ्लॉप शो
एजेंसी/ नई दिल्लीUpdated Tue, 29 Nov 2016
http://www.amarujala.com
नोटबंदी के फैसले के खिलाफ विपक्षी दलों ने सोमवार को देश भर में विरोध प्रदर्शन किया। यूपी, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा समेत अन्य राज्यों में कांग्रेस, लेफ्ट, तृणमूल कांग्रेस व अन्य कई विपक्षी दलों के नेता सड़कों पर उतरे और नोटबंदी के लिए मोदी सरकार की आलोचना की। हालांकि वामदल शासित केरल और त्रिपुरा के बंद को छोड़कर ज्यादातर जगहों पर आम जनजीवन सामान्य रहा।

वामदलों ने सोमवार को 12 घंटे के बंद के आह्वान किया था, जिसके चलते केरल और त्रिपुरा में जनजीवन ठप रहा। जबकि कांग्रेस, तृणमूल और अन्य कई दलों ने आक्रोश दिवस के तहत सिर्फ विरोध प्रदर्शन किए। जदयू और बीजद ने विरोध प्रदर्शन में हिस्सा नहीं लिया। भाजपा ने विपक्ष के विरोध और बंद को फ्लॉप शो करार दिया और कहा कि विपक्षी दलों की अपील को जनता ने खारिज कर दिया। जनता ने बता दिया है कि उसे बंद और विरोध प्रदर्शन की अपील करने वाले दागी दलों में कोई भरोसा नहीं है।

कांग्रेस और आप समेत अन्य दलों ने दिल्ली में विरोध प्रदर्शन किया और नोटबंदी से लोगों को हो रही परेशानी को लेकर सरकार पर जोरदार हमला बोला। यूपी के लखनऊ समेत तमाम शहरों में कांग्रेस, वामदलों और आप ने सड़कों पर उतर कर विरोध प्रदर्शन किया। मध्यप्रदेश के ग्वालियर में आक्रोश दिवस रैली के दौरान शहर कांग्रेस अध्यक्ष दर्शन सिंह की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई।

कमिश्नर को ज्ञापन देने के बाद वह अचानक गिर पड़े। उन्हें अस्पताल ले जाया गया, मगर उनकी जान नहीं बचाई जा सकी। बिहार में बंद का मिलाजुला असर देखने को मिला। वाम दलों ने कई जगहों पर जोरदार प्रदर्शन किया। कई जिलों में सड़क मार्ग जाम कर दिया, तो कहीं रेल के परिचालन को ही रोक दिया। तमिलनाडु में एमके स्टालिन समेत द्रमुक कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन के बाद गिरफ्तारी दी। महाराष्ट्र में भी कांग्रेस और एनसीपी ने विरोध प्रदर्शन किए।

वामपंथी दलों की बंद की अपील का पश्चिम बंगाल में कोई खास असर नहीं नजर आया। यहां सुबह से ही ट्रेनें, बसों, और ट्रामों का संचालन सामान्य रहा। तमाम दफ्तर भी खुले रहे। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस बंद का विरोध किया था। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें