गुरुवार, 15 दिसंबर 2016

श्रीमती वसुंधरा राजे : बेबाक सीएम



विशेषकर राजस्थान भाजपा के मतदाता, समर्थक , कार्यकर्ता ओर पदाधिकारियों को मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे जी के इस पूर आलेख को दो तीन बार पढ़ना समझना चाहिये और जनता के मध्य बात चीत में अपनी तरफ से सही तथ्य रखने चाहिये। जिम्मेवार कार्यकर्ताओं को पढ़ने लिखने और प्रभावशाली तरीके से अपनी बात रखनें की आदत बनानी चाहिये | क्यों कि हम सब भाजपा के विस्तारक ही तो हे।   - अरविन्द सिसोदिया , जिला महामंत्री ,भाजपा , जिला कोटा शहर 9509559131 / 9414180151 / ईमेल sisodiaarvind0@gmail.com



कह दो मुश्किलों से थोड़ा और कठिन हो जाएं,
कह दो चुनौतियों से थोड़ा और जटिल हो जाएं,
नापना चाहते हो गर हमारे परों की हिम्मत को,
तो कह दो आसमान से थोड़ा और ऊपर हो जाए।
जनता से आकाशवाणी के ज़रिये सीधा संवाद अभिभूत कर देने वाला अनुभव रहा। आप सभी के स्नेह, विश्वास और आशीर्वाद की सदैव ऋणी! 


श्रीमती वसुंधरा राजे जी के मन की बात, 

सुझावों-प्रश्नों पर बेबाक बोली मुख्यमंत्री 


Alok Khandelwal | Dec 14, 2016,

http://www.bhaskar.com/news/c-10-talk-to-cm-vasundhara-raje

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से बुधवार को प्रदेश की जनता ने सीधे बात की। वे आकाशवाणी के माध्यम से प्रदेश की जनता से रूबरू हुईं और लोगों के प्रश्नों के उत्तर दिए। तीखे प्रश्नों पर जहां बेबाकी से उत्तर दिए, वहीं सभी सुझावों को गंभीरता से लिया। उनपर कार्रवाई का भरोसा जताया। यूं की लोगों ने सीएम से बातें...

- कार्यक्रम आकाशवाणी के माध्यम से डायरेक्ट ब्रॉडकास्ट किया गया।
- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम के बाद राजे ने राज्य की जनता से रूबरू होने का अनूठा तरीका निकाला।
- सीएम आकाशवाणी के कुछ नंबरों पर आने वाले फोन कॉल्स के जवाब देती रहीं।
- हालांकि इस बीच दो-तीन श्रोता ऐसे भी रहे, जिनके कॉल डिस्कनेक्ट हो गए।
- फोन कॉल कार्यक्रम के तहत आमजन आकाशवाणी के फोन नंबर- 0141 2200600, 2200700 और 2200800 नंबरों पर लोगों ने कॉल की।
यहां प्रसारित हुआ यह कार्यक्रम
- मुख्यमंत्री का फोन इन कार्यक्रम आकाशवाणी के सभी 19 केंद्रों के साथ एफएम रेडियो और विविध भारती के साथ सभी प्राइमरी सेंटर्स पर प्रसारित किया गया।
क्या कहा राजे ने, जानिए
मध्यप्रदेश, गुजरात, छत्तीसगढ़ की जनता ने बीजेपी को 15 साल दिए इसी वजह से वहां बहुत अच्छे विकास, वादे पूर्ण हुए ठीक उसी तरह हमें भी यदि 15 वर्ष दिए जाएं तो बेहतर परिणाम होंगे।
- जनता ने हमें पहले 5 और अब तीन साल दिए हैं जिसमें हमने जो वादे किए वो पूरे किए हैं और आगे भी करेंगे।
ये सवाल और ये जवाब
महेश कुमार हनुमानगढ़
लघु उद्योग के लिए जमीन कन्वर्जन कराने के लिए बोला जाता है। ग्रामीण में तो ऐसा कन्वर्जन जरूरी नहीं है?
सीएम राजे :कोई जरूरत नहीं है कन्वर्जन की।
लाखा राम बाड़मेर
राजस्थान संबल से पब्लिक की समस्याओं का समाधान नहीं हो रहा? दो साल पहले पानी समस्या के बारे में गलत जवाब डालकर क्लोज किया जा रहा है? मोबाइल वेन मिलनी चाहिए।
सीएम राजे: आपके सुझाव को कारगर करेंगे। शिकायत संबल पोर्टल पर दर्ज कर उन्हें पूरा किया जा चुका है। इसे कॉल सेंटर से क्रॉस चेक करते हैं। हो सकता है आपके इस मामले में शिकायत रही हो, उसे दूर करेंगे।
हनुमाना राम नागौर
खेती की जमीन गांवों में बच्चों के नाम हो सकती है क्या?
सीएम राजे : न्याय आपके द्वार कार्यक्रम में जाना चाहिए आपको।
संजय कौशिक, जयपुर
टूरिज्म बढ़ नहीं रहा है कुछ सालों से, एक ऐसा सिस्टम डवलप करें कि टूरिज्म बढ़े। हेरिटेज प्रोपर्टी को उनके मालिक सुधार नहीं पा रहे? नया प्रमोट नहीे हाे रहा?
सीएम राजे : टूरिज्म यूनिट पॉलिसी बेहतर पॉलिसी है। मार्च में टूरिज्म के मिशन को बनाना चाहते हैं, आपके सुझाव की ओर ध्यान देंगे। म्यूजियम, जेकेके जैसे स्थान, रंगमंच को नई लाइफ देने की कोशिश कर रहे हैं? हम भी मानते हैं कि यह राजस्थान की लाइफ लाइन है। पर्यटकों की चॉइस बढ़ गई है। विश्वास दिलाती हूं कि टूरिज्म को प्रमोट करने का काम करेंगे। 6 माह में एक माह में बदलाव देखने को मिलेगा।
सुभाष, बीकानेर
यहां सड़क, बिजली पानी कुछ नहीं है।
सीएम राजे :यदि आपकी ग्राम पंचायत है तो ऐसा नहीं होना चाहिए। आप विधायक को अपनी डिटेल दें।
जयराम सैनी नीमकाथाना सीकर
प्रमोशन में आरक्षण को लागू करने के नियम बना दिए, इसे जल्द लागू कराया जाए।
सीएम राजे: जल्द करेंगे।
तेज, जोधपुर
बाड़मेर में रिफाइनरी क्यों अटकी है। जल्द करें ताकि फायदा हो। जोधपुर में आपके आने के बाद कुछ भी नहीं हुआ है?
सीएम राजे: फायदे के लिए हम बाड़मेर रिफाइनरी के एग्रीमेंट में एमेंडमेंट करा रहे हैं। आप भी नहीं चाहेंगे कि आपको नुकसान हो। बाड़मेर की रिफाइनरी तब लगेगी, जब उसका फायदा राजस्थान को होगा। रही बात जोधपुर की तो सभी संभागों में काम हो रहे हैं।
अलवर : धर्मवीर शर्मा
अलवर में मेडिकल कॉलेज बनाने को लेकर प्रयासरत हैं, लेकिन उसमें कार्रवाई आगे नहीं बढ़ पा रही?
सीएम राजे : हमारी कोशिश होगी कि इसे जल्दी कर लें। अलवर में मेडिकल कॉलेज बनाने की कोशिश में हैं। हम बात कर रहे हैं।
भानू
गरीब के लिए 5 रुपए में नाश्ता और 8 रुपए में खाना कार्यक्रम को पूरे राज्य में शुरू किया जाए। सीएम राजे : हमारी कोशिश सभी जिलों के लिए है।
मुरारी
पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर और पॉल्युशन फ्री बनाने पर क्या काम कर रहे हैं।
राजे : सिटी के अंदर मेयर और जेडीए से बात कर इस दुविधा को दूर करेंगे?
भंवरगढ़, कैलाश चौधरी
नरेगा की लेबर को किसान से जोड़ा जाए। आधा पेमेंट किसान दे और आधा सरकार।
सीएम राजे :इस पर विचार करेंगे।
विकास शर्मा कोटा
भामाशाह और जल स्वावलंबन योजना के लिए अाभार।
राजे: धन्यवाद।
रितु अंबानी,
भामाशाह बना हुआ है, लेकिन हॉस्पिटल में स्वास्थ्य योजना से जुड़ा नहीं है।
राजे : नोट करा लेते हैं।
घनश्याम, जोधपुर
प्राध्यापक परीक्षा 2015 की नियुक्ति कब तक होगी।
राजे: विभाग से पूछिए।
बालोतरा से एक व्यक्ति
बालोतरा में मीठे पानी की समस्या दूर नहीं हो पा रही है।
राजे: मैं पता कर लेती हूं आपके मंत्री जी से। इसे फॉलो करेंगे।
शशांक, जयपुर
ट्रांसफर सरकारी ऑफिसर्स के, किस आधार पर होते हैं। पति-पत्नी के अलग अलग जिलों में हो जाते हैं।
राजे : आपके सुझाव का ध्यान रखेंगे।
जनता से संवाद का अंत ये शेर सुनाकर किया
कह दो मुश्किलों से थोड़ा और कठिन हो जाए
कह दो चुनौतियों से थोड़ा और जटिल हो जाए
नापना चाहते हो हमारे परों की हिम्मत को
कह दो आसमां से थोड़ा और मुश्किल हो जाए
रिसर्जेंट राजस्थान पर तेजी से काम हो रहा है।
इसका फायदा लाखों लोगों को रोजगार के रूप में मिलेगा।
इसकी पूरी पॉलिसी बनकर काम शुरू हो चुका है।
कंपनियों ने यूनिट्स लगाना शुरू कर दिया है।
ग्राम यानी एग्रीटेक मीट
फार्मिंग कम्युनिटी को महत्व देेन के लिए इसकी पहल की।
79 साल आजादी के हुए हैं, इसमें ऐसा कार्यक्रम कभी नहीं हुआ।
किसानों की इनकम कैसे बढ़ सकती है।
38 एमओयू हुए। 4400 करोड़ रुपए से ज्यादा के।
इसका फायदा किसानों व हर वर्ग को बहुत हुआ। अच्छा लगा।
अब चार और ऐसे ग्राम संभाग स्तरों पर करेंगे।
संकल्प
कुछ मंत्रालयों को और सपोर्ट करने की कोशिश है।
सरकार बनी तो इन्फ्रास्ट्रक्चर, पीपुल आरिएंटेड काम को आगे बढ़ाने का सोचा था। इस पर भी तेजी से काम किया जा रहा है।
हमने 15 लाख बच्चों को नौकरी का वादा किया था, इनमें से 11 लाख हो चुके हैं। इनमें 1 लाख सरकारी व शेष गैर सरकारी अवसर उपलब्ध कराए हैं।

हैपीनेस इंडेक्स यानी आपके चेहरे पर मुसकान लाने के लिए टॉए बैंक बनाने का काम शुरू किया है।
सभी लोग पुराने टॉए फेंके नहीं, आंगनबाड़ी में दें।
पुराने कपड़े इकट्‌ठा करेंगे।

फ्री खाना एनजीओ के सपोर्ट से दिलाने का काम शुरू कर दिया है। अन्नपूर्णा रसोई ये काम करेगी। 5 रुपए ब्रेकफास्ट और 8 रुपए में खाना।

मैं भी जिलों में दो से तीन दिन रुकूंगी आैर काम करूं।

संदेश
ये काम मैं अकेले में नहीं कर सकती। हम सबको साथ मिलकर काम करना होगा।

------------------------------------

राजस्थान को देश का मॉडल स्टेट बनाने के लिए 'आओ साथ चलें' : वसुंधरा राजे
Jaipur  12/14/2016
जयपुर। राज्य सरकार के तीन वर्ष पूरे होने पर मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने आज सुबह 11 बजे आकाशवाणी के फोन-इन कार्यक्रम के जरिए प्रदेश की जनता से सीधा संवाद किया। इस दौरान उन्होंने करीब एक घंटे के कार्यक्रम में प्रदेश के कोने-कोने से लोगों ने राजे से सवाल किए, अपने सुझाव दिए और अपनी समस्याएं भी बताई। साथ ही कल्याणकारी योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिए राज्य सरकार की सराहना भी की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने आकाशवाणी जयपुर के क्षेत्रीय समाचार एकांश के फेसबुक पेज को भी लॉन्च किया।  

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि 8 रुपए में खाना तथा 5 रुपए में नाश्ता देने की अन्नपूर्णा रसोई योजना को पूरे प्रदेश में लागू करेंगे। राजे ने कहा कि हमने 12 जिलों के लिए यह योजना शुरू की है, आगे हम इसे पूरे प्रदेश में लागू करेंगे। 

राजे ने श्रोताओं को आश्वस्त किया कि जो बात उन्होंने कही है या जो सुझाव दिए हैं, उन पर पूरी गंभीरता से ध्यान दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों से कहा कि राजस्थान को देश का मॉडल स्टेट बनाने के लिए आओ साथ चलें। उन्होंने कहा कि यह काम अकेले सरकार का नहीं है, इसके लिए आप सबको साथ चलना होगा। इस कार्यक्रम का प्रसारण प्रदेश के सभी 19 आकाशवाणी केन्द्रों से एक साथ किया गया।

उन्होंने प्रदेश के विकास को लेकर अपने जज्बे का इजहार इन पंक्तियों के साथ किया- 'कह दो मुश्किलों से थोड़ा और कठिन हो जायें, कह दो चुनौतियों से थोड़ा और जटिल हो जायें, नापना चाहते हो गर हमारे परों की हिम्मत को, तो कह दो आसमान से थोड़ा और ऊपर हो जाये।’ राजे ने कहा कि प्रदेशवासियों ने उन्हें बहुत बड़ी जिम्मेदारी दी है। उनकी आकांक्षाओं पर खरा उतरने के लिए 365 दिन और 24 घंटे भी काम करें तो कम होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले तीन सालों में प्रदेश ने तरक्की की ऊंचाईयां छुई हैं। रिसर्जेंट राजस्थान और ग्राम-2016 जैसे आयोजनों से प्रदेश में निवेश आया है। उन्होंने कहा कि इसमें करीब साढ़े तीन लाख करोड़ के 470 एमओयू हुए थे, जिनमें से एक साल में ही पांच हजार करोड़ का निवेश आ चुका है। करीब 1.08 लाख करोड़ का निवेश विभिन्न स्तरों पर क्रियान्विति की प्रक्रिया में है। इसी प्रकार ग्राम में 4400 करोड़ के 38 एमओयू हुए। इजराइल जैसा देश इस आयोजन में हमारा भागीदार था, जो कि एक बड़ी सफलता है। 

मुख्यमंत्री ने भामाशाह योजना तथा भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि इन योजनाओं ने प्रदेश का मान बढ़ाया है। इसके सुखद परिणाम सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि राजस्थान को भामाशाह योजना के लिए गोल्ड मेेडल मिला है और देश एवं दुनिया में इसकी सराहना हो रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के करीब 4 करोड़ 71 लाख लोग इससे जुड़े हैं और करीब 5 हजार करोड़ रुपये बैंक खातों में ट्रांसफर हुए हैं। भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना से 6 लाख रोगियों को कैशलेस उपचार मिला है।

उन्होंने एक उदाहरण देते हुए बताया कि सवाई मानसिंह अस्पताल में एक महिला ने उनका हाथ पकड़कर रोका और कहा कि उसके पति को हार्ट अटैक आ गया था, लेकिन भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के कारण उसे तुरन्त उपचार मिल सका और आज उनके पति पूरी तरह स्वस्थ है। साथ ही उन्होंने बताया कि इस योजना के अतिरिक्त मुफ्त दवा योजना के लिए भी राज्य सरकार ने 400 करोड़ रुपये का बजट प्रावधान रखा है। 

राजे ने कहा कि हैप्पीनेस इन्डेक्स को बढ़ावा देने के प्रयास जारी रहेंगे। अन्नपूर्णा योजना लागू करने तथा प्रदेशवासियों के दुख-सुख में काम आने से भी मुझे खुशी मिली है। इसके अलावा राजे ने मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान, न्याय आपके द्वार अभियान, स्किल डवलपमेन्ट आदि योजनाओं एवं कार्यक्रमों के जरिए प्रदेशवासियों के जीवन में आ रहे बदलाव तथा सुझावों पर चर्चा की।

----------------------------------------





कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें