गुरुवार, 22 दिसंबर 2016

राहुल गांधी फिर से फैल


कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के आरोप में नयापन नहीं

फिर से पप्पू फैल हो गया  

        अपनी राजनीती चमकानें  की जी तोड़ कोशिस कर रहे राहुल ने इस बार मोदीजी पर आरोप लगाने में नकलमारी की !! एक डायरी , किसने लिखी , पता नहीं !  नाम दे दिया की सहारा ने लिखी , कभी पुष्ठि हुई नही !! इस डायरी को सर्वोच्च न्यायालय ने सबूत मानाने से इंनकार कर दिया !!  इन आरोपों को पहले भी प्रशांत भूषण ] अरविन्द केजरीवाल लगा चुके हैं ! कहीं इनको मान्यता नहीं मिली ! कुल मिला कर एक बार फिर से पप्पू फैल हो गया !    - अरविन्द सिसोदिया , जिला महामंत्री भाजपा , कोटा राजस्थान । 


       नई दिल्ली।  बुधवार को गुजरात के मेहसाणा में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगाए करप्शन के सनसनीखेज आरोप में नयापन नहीं है। जानकारी के मुताबिक़ उन्होंने जिन डाक्यूमेंट्स के आधार पर आरोप लगाए हैं सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें भरोसेमंद मानने से इनकार किया है। बता दें कि ये आंकड़े सुप्रीम कोर्ट में दायर उस पीआईएल का हिस्सा हैं, जिसे सहारा और बिड़ला केस में वकील प्रशांत भूषण ने दाखिल किया है। इस मामले पर कोर्ट में सुनवाई चल रही है। सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक़ कोई भी करप्ट आदमी मोदी के नाम पर इस तरह एंट्री दर्ज कर सकता है। उसे भरोसेमंद नहीं माना जा सकता।

सहारा-बिड़ला मामले में प्रशांत से कोर्ट ने मांगे हैं पुख्ता सबूत
बता दें कि सहारा-बिड़ला मामले में प्रशांत भूषण ने जो साक्ष्य सुप्रीम कोर्ट में रखे हैं, कोर्ट ने उसे मानने से इनकार किया है और उनसे पुख्ता सबूत लाने को कहा है। बगैर पुख्ता सबूत वह इस मामले पर सुनवाई के लिए राजी नहीं है। 11 जनवरी को इस मामले की अगली सुनवाई तय है।

इन्हीं आंकड़ों पर केजरीवाल भी लगा चुके हैं आरोप
इसी याचिका के एक हिस्से के आधार पर अरविंद केजरीवाल भी सवाल उठा चुके हैं और जिस दूसरे हिस्से को लेकर राहुल ने आरोप लगाया है, वह भी पहले सामने आ चुका है। वकील प्रशांत भूषण भी सुनवाई के दौरान कोर्ट में इस पर विस्तार से चर्चा कर चुके हैं।

सी-वोटर सर्वे: राहुल के आरोप पर जनता मोदी के साथ

उधर, एक सर्वे में लोगों ने राहुल गांधी द्वारा मोदी पर लगाए आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। बता दें कि पिछले दिनों संसद की कार्यवाही से पहले राहुल ने मोदी पर करप्शन के आरोप लगाते हुए कहा था कि मैं संसद में बोलूंगा तो भूकंप आ जाएगा। नोटबंदी और करप्शन के इन्हीं सवालों को लेकर सी-वोटर ने एक सर्वे करवाया। सर्वे में लोग अब भी मोदी के साथ नजर आए। बता दें कि 82 प्रतिशत से ज्यादा लोगों ने माना है कि राहुल द्वारा मोदी पर भ्रष्टाचार के आरोप आधारहीन हैं।

मेहसाणा में क्या आरोप लगाए थे राहुल गांधी ने?
मेहसाणा में राहुल ने मोदी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे और कहा था कि उन्होंने सहारा से 6 महीने के अंदर 9 बार में 41 करोड़ से ज्यादा रुपए लिए। राहुल ने कहा कि ये आंकड़े ढाई साल पहले आयकर विभाग को मिली एक डायरी में दर्ज हैं, जिसमें मोदी के नाम से एंट्री है।आयकर विभाग का हवाला देते हुए उन्होंने कहा था कि 30 अक्टूबर 2013 को 2.5 करोड़ रुपया मोदी को दिया गया। उसी साल 12 नवंबर को 5 करोड़, 27 नवंबर को 2.5 करोड़ और 29 नवंबर को 5 करोड़ रुपया दिया गया था। राहुल ने बताया कि 22 नवंबर 2014 को आयकर विभाग ने सहारा कंपनी पर छापा मारा था। सहारा मामले में कांग्रेस वाइस प्रेसिडेंट ने स्वतंत्र जांच की मांग भी की।

राहुल के आरोपों को भाजपा ने बताया शर्मनाक, कहा गंगा जैसे पवित्र हैं हमारे पीएम
राहुल गांधी के आरोपों पर बीजेपी ने बुधवार शाम कड़ा जवाब दिया और इसे शर्मनाक बताया था। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, हमारे गंगा जैसे (पवित्र) पीएम के ऊपर बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। ये (राहुल गांधी) सारे आरोप खीज में लगा रहे हैं। प्रसाद ने कहा, कांग्रेस का करप्शन का इतिहास रहा है। सभी कांग्रेसी सरकारों ने पब्लिक मनी लूटने के लिए लुटेरों को प्रमोट किया और उन्हें प्रश्रय दिया। प्रसाद ने राहुल के आरोपों को खीज करार दिया था।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें