शुक्रवार, 6 जनवरी 2017

देश की प्रगति में सबसे बड़ा योगदान उत्तर प्रदेश का : अमित शाह



भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा उत्तर प्रदेश के लखनऊ में आयोजित परिवर्तन महारैली में दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु

महारैली में जुटी ऐतिहासिक भीड़ बता रही है कि 
भारतीय जनता पार्टी को दो तिहाई बहुमत मिलेगा : अमित शाह
*************
देश की तकदीर बनाने वाले उत्तर प्रदेश के युवा में अपने प्रदेश को न बदल पाने की छटपटाहट है इसलिए परिवर्तन तय है : अमित शाह
*************
केंद्र ने उत्तर प्रदेश को ढाई लाख करोड़ रुपये दिए। सपा ने विकास नहीं किया, भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश को सबसे समृद्ध राज्य और उत्तम प्रदेश बना सकती है : अमित शाह
*************
केंद्र सरकार हाइटेंशन लाइन से विकास के लिए उत्तर प्रदेश को संसाधन दे रही लेकिन राज्य सरकार का ट्रांसफार्मर ही जला हुआ है: अमित शाह
*************
चाचा भतीजा के कमीशन को लेकर चले झगड़े के चलते फसल बीमा योजना का लाभ किसानों को नहीं मिल रहा है: अमित शाह
*************
सपा ने खराब की राज्य की छवि, देशभर में उत्तर प्रदेश के गुंडाराज, दुष्कर्म, आगरा-लखनऊ हाइवे में भ्रष्टाचार और जमीन कब्जा करने की चर्चा है: अमित शाह
*************
नोटबंदी के चलते आवास, वाहन और उद्यम के लिए ऋण की ब्याज दर घटी। किसानों को 42 हजार करोड़ तक व छोटे व्यापारियों को 20 फीसदी ज्यादा ऋण और बुजुर्गों को बचत पर आठ फीसदी ब्याज मिल रहा है: अमित शाह
*************

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने सोमवार को लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर स्टेडियम में परिवर्तन महारैली को संबोधित किया। श्री शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा बस आरोपों की राजनीति ही करते आए हैं। संसाधनों की भरमार के बावजूद राज्य का विकास नहीं हो पाया। भारतीय जनता पार्टी ही राज्य को उत्तम प्रदेश बना सकती है। देश की तकदीर बनाने वाले राज्य के युवा में अपने प्रदेश को न बदल पाने की छटपटाहट है इसलिए परिवर्तन तय है।

अब तक की सबसे बड़ी राजनीतिक रैली में श्री शाह ने लोगों के भारी जमावड़े और उत्साह को देखकर कहा कि राज्य में परिवर्तन यात्राओं में लगातार जुटी भीड़ ने पार्टी को दो तिहाई बहुमत मिलने का विश्वास जगाया है। श्री शाह ने कहा कि परिवर्तन यात्रा की शुरुआत में पूछा जा रहा था कि सरकार किसकी बनेगी। लेकिन आज की भीड़ के बाद यही सवाल रह जाएगा कि दूसरा नंबर किसका आएगा।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि पूरे उत्तर प्रदेश में परिवर्तन यात्रा ने गांव-गांव और शहर-शहर जाकर परिवर्तन का शंखनाद किया है। पंद्रह साल बाद उत्तर प्रदेश में एक विकास करने वाली सरकार आने वाली है। जो इसे देश का सबसे समृद्ध राज्य बनाएगी और उत्तम प्रदेश के रूप में विकसित करेगी।

श्री शाह ने कहा कि परिवर्तन यात्रा में परिवर्तन शब्द का प्रयोग सरकार, मुख्यमंत्री या विधायक बदलने के लिए नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश की स्थिति बदलने के लिए किया गया है। पंद्रह साल से प्रदेश में चाचा-भतीजा और बुआ भतीजा की सरकार ने राज्य को सिर्फ नुकसान पहुंचाया है। ये राज्य का भला नहीं कर सकते। प्रदेश के विकास के लिए श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार लानी होगी। हम सिर्फ वादे नहीं करते बीजेपी शासित राज्यों ने विकास करके दिखाया है। देश के 10 राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है। उत्तर प्रदेश में आजादी के इतने साल बाद भी हर घर में बिजली, स्कूलों में शिक्षक और शिक्षकों को कमरे नसीब नही हुए हैं। भ्रष्टाचार के चलते रोजगार, स्वास्थ्य, सस्ती दवाएं, सड़कों से जुड़ाव भी नहीं हो पाया है। मंडी में किसानों को उचित दाम भी नहीं मिल पा रहा है।

श्री शाह ने कहा कि मैं जिस क्षेत्र से आता हूं वहां 1200 फुट नीचे पानी आता है। जबकि उत्तर प्रदेश में सौ फुट नीचे पानी है। गंगा, यमुना, गंडक जैसी नदियां बहती हैं। राज्य में बेहद उपजाऊ जमीन है। साथ ही मेहनती किसान और तेजतर्रार युवा हैं। देशभर में विकास के लिए उत्तर प्रदेश का युवा योगदान दे रहा है लेकिन अपने राज्य में ऐसा नहीं कर पा रहा।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि आज देश की प्रगति में सबसे बड़ा योगदान उत्तर प्रदेश का है। अस्सी में से 73 लोकसभा सीट आपने भारतीय जनता पार्टी को दी है। उत्तर प्रदेश ने श्री नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाया है। श्री मोदी ने हर साल उत्तर प्रदेश को एक लाख करोड़ रुपये ज्यादा दिए हैं लेकिन लखनऊ से जो भ्रष्टाचार की गंगा बह रही है वह विकास होने नहीं दे रही। इस भ्रष्टाचारी सरकार को उखाड़ फेंकना जरूरी है।

श्री शाह ने कहा कि देश के हर हिस्से में उत्तर प्रदेश के गुंडाराज, बुलंदशहर के दुष्कर्म, आगरा-लखनऊ हाइवे में भ्रष्टाचार और जमीन कब्जा करने की चर्चा ही होती है। कोई विकास की बात नहीं करता। श्री मोदी जी ने चार धाम को जोड़ने वाले नेशनल प्रोजेक्ट की घोषणा की है। इसे कई पहाड़ों को काटकर बनाया जाना है। लेकिन तब भी उसकी कीमत आगरा-लखनऊ हाईवे से कम है। इसी से पता चलता है कि कितना भ्रष्टाचार हुआ है। अखिलेश राज में महिलाएं सुरक्षित नही हैं। दबंगों ने जमीन पर कब्जा किया है। थानों में शिकायत भी दर्ज नहीं की जाती। श्री राजनाथ सिंह और श्री कल्याण सिंह के दौर में राज्य में गुंडाराज नहीं था। भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी तो एक हफ्ते में गुंडे जेल के अंदर होंगे या प्रदेश छोड़ देंगे। सपा और बसपा एक दूसरे के भ्रष्टाचार को गाली देते हैं और खुद भ्रष्टाचार करते रहते हैं।

श्री शाह ने कहा कि श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी सरकार पर ढाई साल में भ्रष्टाचार का एक भी आरोप विरोधी नहीं लगा पाए। ममता, अखिलेश, मायावती और केजरीवाल सभी मोदी और नोटबंदी जप रहे हैं। यह आठ तारीख तक मोदी जी से सवाल पूछते थे कि आपने कालेधन के लिए क्या किया। अब पूछ रहे हैं क्यूं किया। नोटबंदी का फैसला गरीब, किसान, मजदूर, दलित, पिछड़ों को बराबरी के अवसर दिलाएगा। देश को कई साल बाद ऐसा प्रधानमंत्री मिला है जो गरीबों की सोचता है।


राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि नोटबंदी के सकारात्मक परिणाम सामने आने लगे हैं। बैंकों ने ऋण पर एक फीसदी ब्याज दर में कटौती कर दी है। किसानों का ऋण 21 हजार करोड़ से बढ़ाकर 42 हजार करोड़ कर दिया है। छोटे व्यापारियों का ऋण 20 फीसदी तक बढ़ाया और बुजुर्गों को बचत पर आठ फीसदी ब्याज कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश में ध्यान भटकाने की राजनीति हो रही है। चाचा या भतीजा मुख्यमंत्री बने यह चुनावी मुद्दा नहीं होना चाहिए बल्कि किसान के उपज की खरीद, बेरोजगार को रोजगार, गांव में बिजली चुनाव का मुद्दा है।


श्री अमित शाह ने कहा कि 70 साल में ज्यादातर राज्य में कांग्रेस, सपा और बसपा की सरकारें रहीं लेकिन गांव में झोपड़ी से धुंआ हटाने के लिए किसी ने कुछ नहीं किया। श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी सरकार ने ढाई साल में डेढ़ करोड़ गैस कनेक्शन, बीस करोड़ बैंक खाते, फसल बीमा योजना, नीम कोटेड यूरिया जैसे उपहार जनता को दिए। चाचा भतीजा के कमीशन को लेकर चले झगड़े में फसल बीमा योजना का प्रीमियम ही नहीं भरा गया इसलिए उत्तर प्रदेश को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। केंद्र सरकार नब्बे से ज्यादा योजनाएं गरीब, दलित, पिछड़ा के लिए लाई है।


यूपी की सरकार गांवों तक योजनाएं नहीं पहुंचने दे रही। केंद्र सरकार हाइटेंशन लाइन से विकास के लिए उत्तर प्रदेश को संसाधन दे रही लेकिन राज्य सरकार का ट्रांसफार्मर ही जला हुआ है। इसे बदलने की जरूरत है। श्री शाह ने आवाहन किया कि अखिलेश सरकार को उखाड़ फेंकिए और राज्य में विकास का मार्ग प्रशस्त कीजिए।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें