शुक्रवार, 13 जनवरी 2017

ममता के रोके संघ कार्यक्रम को उच्च न्यायलय की अनुमति






कोलकाता :  RSS की रैली को हाई कोर्ट ने दी हरी झंडी

कोलकाता : कोलकाता हाई कोर्ट ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के एक कार्यक्रम को अपनी इजाजत दे दी है। इस रैली कार्यक्रम में संघ प्रमुख मोहन भागवत को भी शामिल होना है। पहले कोलकाता पुलिस ने संघ के इस कार्यक्रम को इजाजत देने से मना किया था। हालांकि हाई कोर्ट ने कुछ शर्तों के साथ इस रैली की अनुमति दी है। 14 जनवरी को मकर संक्रांति है। हिंदू धर्म के इस महत्वपूर्ण त्योहार के दिन ही संघ ब्रिगेड परेड ग्राउंड पर रैली आयोजित करना चाहता था। भागवत को मकर संक्रांति के अवसर पर यहां एक रैली को संबोधित करना था और नए ड्रेस में स्वयंसेवकों के अभ्यास को देखना था।

पहले आरएसएस ने पश्चिम कोलकाता के भूकैलाश ग्राउंड में सभा करने की अनुमति ली थी, लेकिन बाद में पुलिस ने इसकी इजाजत नहीं दी। इसके बाद संघ नेताओं ने सेना से ब्रिगेड परेड ग्राउंड में सभा करने की इजाजत ले ली लेकिन यहां भी पुलिस ने सभा की अनुमति देने से मना कर दिया।

पुलिस ने आरएसएस से इस रैली के लिए वैकल्पिक तारीख मांगी। इसके बाद संघ ने हाई कोर्ट में अपील की थी। ऐसा माना जा रहा है कि ममता बनर्जी और भाजपा के बीच हालिया पैदा हुई तल्खी की वजह से पुलिस ने अनुमति देने से मना किया। हाई कोर्ट ने बुधवार को कोलकाता पुलिस से कहा था कि 24 घंटे में सोचकर यह बताएं कि आरएसएस को रैली की इजाजत दी जानी चाहिए या नहीं।

-----------------

RSS प्रमुख मोहन भागवत के 14 जनवरी को होने वाले 
कार्यक्रम को कोलकाता पुलिस ने नहीं दी मंजूरी


14 जनवरी को कोलकाता में होने वाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ आरएसएस के एक कार्यक्रम को पुलिस ने इजाजत देने से मना कर दिया है। कार्यक्रम में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत को भी शामिल होना था।

भाजपा के पश्चिम बंगाल राज्य के अध्यक्ष दिलीप घोष ने रैली की अनुमति न मिलने पर राज्य की तृणमूल कांग्रेस पर “गंदी राजनीति का आरोप लगाया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नगर विंग – अपने प्रमुख मोहन भागवत की शहर में यात्रा के अवसर पर एक रैली की योजना बनाई थी।

घोष ने कहा “मोहन भागवत शहर में हर साल आते हैं और संघ के कार्यक्रम को राज्य सरकार की अनुमति के साथ आयोजित किया जाता है। लेकिन इस साल सरकार ने गंदी राजनीति का सहारा लिया है। इस साल गार्डन रीच के पास रैली करने की अनुमति को रद्द कर दिया।

समाचार एजेंसी आईएनएस की खबर के अनुसार, भागवत को मकर संक्रांति के अवसर पर यहां एक रैली को संबोधित करना था और नए ड्रेस में स्वयंसेवकों के अभ्यास को देखना था। पहले आरएसएस ने पश्चिम कोलकाता के भूकैलाश ग्राउंड में सभा करने की अनुमति ली थी, लेकिन बाद में पुलिस ने इसकी इजाजत नहीं दी।

पुलिस ने भूकैलाश ग्राउंड का सभा की इजाजत देने से मना करते हुए कहा कि यह काफी छोटा ग्राउंड है और इससे कानून तथा व्यवस्था की समस्या हो सकती है।

आपको बता दें कि कोलकाता पुलिस का यह कदम केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की ममता सरकार के बीच नोटबंदी पर चल रहे तनाव से जोड़कर देखा जा रहा है। आरएसएस को बीजेपी का मातृ संगठन माना जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें