पोस्ट

अप्रैल 30, 2010 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

स्विस बेंको में जमा काला धन पर, प्रणव की गलत बयानी ... ,

प्रणव की गलत बयानी ... , २९ अप्रेल २०१० को संसद में कहा की टैक्स हेवन देशों के साथ दोहरी संधि हो रही हे ताकि काला धन वापस लाया जा सके , मगर यह सच नही हे । सच यह हे की कांग्रेस कभी भी काला धन देश में वापिस नही लाएगी , क्यों की यह धन उनका ही हे । एक बार नाम जद इस धन का ब्यौरा एक विदेसी पत्र में छपा था , उसमें राजीव गाँधी का नाम था , तब उसका खंडन तक नही किया गया था । उस पत्र के खिलाफ कोई मुकदमा तक नही चलाया गया था । विदेस में जमा कालाधन बहुत लोगों का होगा मगर इसमें ज्यादतर कांग्रेस का ही हे , इसीलिए यह कभी वापस नही आएगा । यह धन बहुत आधिक हे ; सोच से भी हजारों गुना हे , इतना ही कहना काफी होगा की हर गरीब को २ लाख रुपया दिया जा सकता हे । ek १ भारत का १४५६ अरब डालर , २ रूस का ४७० अरब डालर , ३ ब्रिटेन का ३९० अरब डालर , ४ उक्रेन का १०० अरब डालर , ५ चीन का ९६ अरब डालर काला धन स्विस बेंको में जमा हे । भारत का काला धन भारत के बजट से ९ गुना हे साहव जी , कोण उसे वापस लता हे जी , झूठी बात हे प्रणव की । अरविन्द सीसोदिया राधा क्रिशन मंदिर रोड , ददवारा , कोटा २ राजस्थान ।