पोस्ट

जून 13, 2010 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

नीतीश, सस्ती लोकपियता के लिए सोचा समझा षड्यंत्र ....!

चित्र
           मुझे मुसलमानों का मसीहा बनना हे.....! बिना हिदू वोट के कोई दल जीत ही नही सकता......! सस्ती लोकपियता के लिए सोचा समझा  षड्यंत्र ....! भोज रद्द करके तो आपने अपने ही राज्य का अपमान किया हे....!            मुझे मुसलमानों का मसीहा बनना हे , उनके वोट ठगने हें , इसलिए नरेंद्र मोदी जी तुम शहीद हो जाओ,  एल   के  आडवानी जी की राम रथ यात्रा को रोक कर लालुप्रशाद यादव ने भी १५ साल तक मुसलमानों के वोटों को ठगा था , मगर  सब जानते हें की यह तो कांग्रसी वोटर हे , मुस्लमान जब तक अपनी हिदू विरोधी छवि से बहार नही आएगा, तब तक शोषित ही  होता रहेगा , क्यों की आम हिदू इसे आच्छा थोड़े ही मनाता हे , बिना हिदू वोट के कोई दल जीत ही नही सकता , कांग्रेस जो की बिहार में हान्सिये   पर हे ने एक मुसलिम को प्रदेश आध्यक्ष बनाया हे , सिर्फ इतने से भयभीत हें नितीश ,          ,           नरेन्द्र मोदी बीजेपी के सबसे सफल और कुशल राजनेता हैं वे तीन बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने हैं और अब प्रधानमंत्री के दावेदारों मे शामिल हो चुके हैं. वरुण गांधी 2009 के लोकसभा चुनाव मे बीजेपी के सबसे बड़े स्टार बनकर उभरे, अ