पोस्ट

अक्तूबर 8, 2010 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

राहुल की उमर के बारे में समझ गलत थी...!!

राहुल की बाल बुद्धी ...; संघ देश भक्तों का संगठन..,  - अरविन्द सीसोदिया       राहुल गांधी ने कुछ ही दिनों पहले जो   उमर अब्दुल्ला का समर्थन  करके गलती  की थी यह अब सामने आ गयी  है.., उमर  के हलके स्तर के बयान फिर से सामने आने लगे; पहले इन्होने युवाओं को गलत आक्रोस में धकेला , फिर पुलिस और सेना पर पत्थर फिकवाए , गोलियों और आग की होली खेली , जानता को मरवाया , फिर उनकी लाशों पर राजनीति की..! अब कहते हैं कश्मीर भारत का अंग नहीं है..! सिहासन और राष्ट्र विरोधी शेखी .. इन शेख वंशजों की विशेषता है..! मकशद सिर्फ सट्टा पर आरूढ़ रहना है ..!! देश हित की बात भाजपा  विधायकों ने की तो उन्हें मार्शलों के  द्वारा बाहर किये जाने की घटना के बाद , उमर  के मशूबे साफ हो जाते हैं.., इस वंश ने हमेशा भारत विरोधी बातें कर के राज किया और यह लोग वे थे जिन्होंने भारत के संबिधान पर हस्ताक्षर  किये हैं..! विलय की संधी पर महाराजा हरि सिंह  के साथ इनके हस्ताक्षर किये हैं ...!! खैर  सवाल यह है कि राहुल की उमर के बारे में समझ गलत थी...!!      राहुल गाँधी ने जो संघ के बारे में कहा है वही राहुल की अपरिपक्वता की सच्चाई