पोस्ट

नवंबर 2, 2010 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

बेंच खाया बी एस एन एल, सत्ता चलाने के लिए .!

चित्र
भारत संचार निगम लिमिटेड घाटे में ..... कर्मचारियों को बोनस नहीं - अरविन्द सीसोदिया भारत संचार निगम लिमिटेड एक कमाऊ उपक्रम था, नवरत्न कंपनियों में आता था ! मगर गत ५-६ वर्षों से देश के लिए महत्वपूर्ण यह मंत्रालय और यह सार्वजानिक उपक्रम तमिलनाडू के डीएमके के खाते में है...! इस निगम को घाटे में देने और प्राईवेट कंपनियों को फायदा पहुचने का कारोवार बड़ी बेशर्मी से चल रहा है..! डीएमके का मतलव तमालनाडू के मुख्यमंत्री करुणानिधि है.., ए. राजा भले ही दिखावटी सचार मंत्रीं हों , असल में इस निगम की लूटपाट मुख्यमंत्री करुणानिधि कर रहे हैं और यह सब यू पी ए की केंद्र सरकार को समर्थन देने के बदले हो रहा है | प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सहमती से हो रहा है..! सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में इस निगम से जुड़े टू- जी स्पेक्ट्रम आबंटन के घोटाले की सुनवाई करते हुए कहा केंद्र सरकार को सीएजी की रिपोर्ट में १.४ लाख करोड़ रूपये के संभावित नुकसान के अनुमान का जवाब देना चाहिए ..! इस मामले की अगली सुनवाई १५ नवम्बर २०१० को है ..! यह गड़बड़ इसलिए प्रमाणित है कि २ जी स्पेक्ट्रम आवंटन में सफल दो कंपनियों यूनिटेक व

संघ से नेहरु कांग्रेस की वंशानुगत शत्रुता

चित्र
संघ - संघ कोसे जाओ..!  खाओ -  पियो - माल उडाओ...!! - अरविन्द सीसोदिया       आज जब देश में कांग्रेस की सरकार है वह संघ को कोसती है तो सबसे ज्यादा खुशी किसी मुसलमान को या किसी समाजवादी को नही होती .., सबसे ज्यादा खुशी होती है ईसाई मिशनरियों को.., रोम को , पोप को , क्यों कि ये ही इस देश को इसाई देश बनाना चाहते हैं , ईसाई देश बनाने कि खुली घोषणा करते हैं .., उनकी राह रोकने की ताकत और किसी  में तो है नहीं ..!! यह पुरुषार्थ सिर्फ संघ के स्वंयसेवक ही करते हैं कि उन्होंने अपने प्रयासों से मिशनरियों के द्वारा किये जा रहे धर्मान्तार्ण को लगभग रोक दिया है...!! पूरे देश में  एकमात्र संघ ही इस तरह का संगठन है जो देश के हिंदुत्व  को बचाने में लगा हे .. इसीलिए उसे बार बार बदनाम करके रोकने के प्रयास कांग्रेस कर रही ..!    कांग्रेस यह कार्य संघ के विरुद्ध है पहली बार  नहीं कर रही ! बल्की वह उसके प्रती शत्रुता पूर्ण कार्य लगभग १९४५/४७ से ही रही है ! तब जवाहर लाल नेहरु भी येशी ही भाषा बोलते थे  | जब सरदार पटेल संघ का विलय कांग्रेस में चाहते थे तब भी संघ विलय  का विरोध करने वाले नेहरु जी थे ..!!

कांग्रेस के लिए भ्रष्टाचार ...! अजी आदत में शुमार है ..!

चित्र
खाओ पियो योजना में  .., कमानवेल्थ के बाद  आदर्श सोसायटी .... - अरविन्द सीसोदिया  नई दिल्ली से खबर है कि ,  राष्‍ट्रमंडल खेलों के आयोजन में हुए महा भ्रष्‍टाचार के विवादों से निपटने से पहले ही महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण का आदर्श भ्रष्टाचार के रूपमें सामने आया , आदर्श  सोसायटी कांड में फंसना कांग्रेस के लिए बड़ी जबावदेही बन गया है। लेकिन पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कांग्रेस कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित करते हुए भ्रष्‍टाचार जैसे अहम मुद्दे जिक्र तक नहीं किया। जिक्र कैसे करतीं ... बोफोर्स घोटाले से ही उनकी स्थिति साफ़ है कि उन्हें घोटालों  से परहेज नहीं...! वे सबतरफ घोटालों पर आँख तरेरती नजर आती हैं .., मगर कभी किसी घोटालेबाज  का कुछ हुआ क्या....????? हो भी नही सकता जो स्विस बैंकों में जमा देश में वापस नहीं लाना चाहता वह किस मुह से अन्य घोटाले बाजों से बात कर सकता है !! कांग्रेस क्या ज्यादातर दलों में अब घोटाले चोर चोर मौसेरे भाई कि तरह का खेल हो गया ......!!! अब तो कई नेतागण इसे जस्टीफाई भी करने लगे ..!!    सबसे महत्व पूर्ण बात यह है कि --  केंद्रीय मंत्री विलासराव देश