पोस्ट

नवंबर 12, 2010 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

कांग्रेस की मानसिकता हिन्दू विरोधी - राजेन्द्र द्विवेदी

चित्र
- अरविन्द सीसोदिया         कोटा में १० नवम्बर को जिला मुख्यालय पर , राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के विशाल मौन जलूस को संबोधित करते हए , संघ के क्षैत्रिय संपर्क प्रमुख राजेन्द्र द्विवेदी ने प्रमाण सहित बताया कि  कांग्रेस का  संघ के प्रती द्वेष का भाव स्वतंत्रता से पूर्व से ही बना हुआ है , तब न तो जनसंघ बना था ओर न भाजपा बनीं थी | क्योंकि मूलतः संघ का उद्देश्य हिन्दू समाज के भिन्न घटकों , वर्गों को एक साथ संगठित करना,देश का उत्थान  करते हुए भारत माता को परम वैभव पर आरूढ़ करना  है जबकि कांग्रेस  का सोच हमेशा ही समाज को विभाजित कर उसमें लाभ  ढूँढने का रहा है |         उन्होंने संघ को योजना पूर्वक बदनाम करने और उसकी छवी ख़राब करने के लिए लगाये जा रहे आरोपों को सिरे से ख़ारिज करते हुए कहा राजस्थान के गृह मंत्री और कांग्रेस के नेता गण जिन पुष्ट प्रमाणों की बात कर रहे हैं , वैसी  बातें गांधी वध के आरोप के समय और आपातकाल लगाते समय भी कही गईं थीं.., संघ को कुचलने के अनेक बार प्रयत्न हुए और प्रातिबंध  लगाये गये, मगर हर बार  तब भी संघ निर्दोष होकर निकला और उसकी छवी  और समाज के मध्य स्वीकार्यता में वृधी