पोस्ट

मार्च 10, 2011 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

सोनिया जी वरुण की शादी में जातीं तो उनका ही मान बढता ..

इमेज
- अरविन्द सिसोदिया         आखिर इंदिरा गांधी की दो संतानों में से एक संजय थे .., उनकी सगी देवरानी ही तो मेनका थी .., और वरुण गांधी  भी सगे ही थे , सोनिया गांधी स्वंय पहुचती तो उनका ही मान बड़ता...! ख़ैर जब वे पूरी तरह से इंदिराजी की छोड़ी विरासत को अपने नाम कर चुकीं हैं तो अब उसमें मेनका या वरुण का क्या काम...! राजनीती के इतने  बड़े पद पर और अपने आपको त्याग की मूर्ती कहल्वानें के बाद ..., इतनी छोटी की बात पर अनावश्यक दूरी बनानें से उनका ही कद छोटा हुआ है ...! सोनिया जी वरुण की शादी में जातीं तो उनका ही मान बढता ..., क्योंकि वे परिवार की मुखिया हैं ...! - ----- 07 मार्च 2011 इंडो-एशियन न्यूज सर्विस http://josh18.in.com/hindi/national-video/968272/0 वाराणसी।  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय महासचिव वरुण गांधी रविवार को वाराणसी के कामकोटेश्वर मंदिर में कोलकाता की ग्राफिक डिजाइनर यामिनी रॉय के साथ परिणय सूत्र में बंध गए। विवाह में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के परिवार का कोई सदस्य हालांकि शामिल नहीं हुआ। तबीयत खराब होने की वजह से प्रियंका भी शादी में नहीं पहुंच पाईं।