पोस्ट

मार्च 14, 2011 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

प्रधानमंत्री को माफ़ी क्यों...? सजा क्यों नहीं ...!

इमेज
- अरविन्द सिसोदिया         एक व्यक्ती जो कभी जनता से चुनाव नही जीता .., वह व्यक्ति देश के संवैधानिक ढांचे की कमजोरी का फायदा उठा कर देश का प्रधानमंत्री बनाया  हुआ है ..! इस व्यक्ति की इतनी  ही विशेषता है कि इन्होनें प्रधान मंत्री नरसिंह राव के कार्यकाल में स्वंय वीत मंत्री रहते हुए .., सोनिया गांधी जी के नेतृत्व में चलने वाले ट्रस्ट राजीव गांधी फाउंडेशन को परोक्ष एवं अपरोक्ष धन ; सम्पती व संसाधनों की व्यवस्था सत्ता  के प्रभाव से की ...! तब से ही मनमोहन सिंह सोनिया जी के ख़ास की सूची में हैं ...! सच यही है की धन संसार का सबसे प्रभावशाली घटक है .., जो धन देता है ..,  दिलाता है ..! वह ख़ास होता ही है ..! भारतीय राजनीती में यह असर सिर्फ आत्यन्त ऊँचाई पर ही नहीं नीचे से नीचे के पदों पर भी है ..! कितनें  ही आर्थिक स्वच्छता की बात की जाये लगभग बहुतायत में नेताओं की नजर दूसरे के माल को मुफ्त प्राप्त करने में होती है ..!        मनमोहन सिंह जी ने देश को प्रधान मंत्री के रूप में लुतावानें के सभी रस्ते खोल दिए.., हे पूंजी पतियों आओ और अपने अपने हितों  में इसे खूब लूटो ..! आखीर सरकार कानून व्यवस