पोस्ट

अप्रैल 15, 2011 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण पर टैक्स चोरी के आरोप

चित्र
- जे पी सिंह , १३.४.२०११  शांति भूषण और प्रशांत भूषण ने इलाहाबाद में बीस करोड़ की संपत्ति का एग्रीमेन्ट टू सेल एक लाख रूपये में हासिल किया. लखनऊ और इलाहाबाद से प्रकाशित होनेवाले हिन्दी दैनिक डेली न्यूज एक्टिविस्ट ने खुलासा किया है कि बाप बेटे की यह जोड़ी संपत्तियां बनाने और स्टांप ड्यूटी बचाने के मामले में करप्शन किंग हैं. इलाहाबाद के सिविल लाइंस जैसे पॉश इलाके में 12 अक्टूबर 2010 को देश के पूर्व कानून मंत्री शान्ति भूषण, उनके वरिष्ठ वकील पुत्र प्रशान्त भूषण, उनके द्वितीय पुत्र जयंत भूषण एवं उनकी पुत्री शेफाली भूषण के नाम बंगला नम्बर 19 (पुराना) 77/29 (नया) तथा 19-ए (पुराना) 79/31 (नया) एल्गिन रोड, लाल बहादुर शास्त्री मार्ग की कुल भूमि 7818 वर्ग मीटर है। भूमि सहित बने हुए बंगले की ‘एग्रीमेंट टू सेल’ रजिस्ट्री मात्र एक लाख रुपये में की गयी है। यह ‘एग्रीमेंट टू सेल’ हरिमोहन दास टंडन, सुधीर टंडन एवं सतीश टंडन ने 12 अक्टूबर 2010 को दो हजार रुपये के स्टाम्प पेपर पर मात्र पांच हजार रुपये का भुगतान लेकर किया है। गौरतलब है कि इस बंगले में शांति भूषण वर्षों से किरायेदार हैं और इसका विवाद भी