पोस्ट

अगस्त 15, 2011 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

अन्ना को जगह नहीं ...खुद के लिए मेला लगाया ...

इमेज
कांग्रेस ने पिछले ही साल अपना ८३ वां राष्ट्रिय महा अधिवेशन दिल्ली के पास बुराड़ी गाँव में हुआ .., तीन दिवसीय इस महा अधिवेशन में लगभग २० हजार लोग सम्मिलित हुए.., १८ से २० दिसंबर २०१० के इस अधिवेशन में हजारों चार पहिया वाहन आये..मेला लगा रहा .., मगर इसी कांग्रेस को देखिये कि वह अन्ना हजारे  को अनशन के लिए जगह तक नहीं दे रही ..!! यह अघोषित आपातकाल है जो भी कोंग्रेस सरकार के विरोध में कुछ बोलेगा , उसी के खिलाफ झूठा मुक़दमा बना देंगे या कोई दुष्प्रचार प्रारंभ कर देते हैं ...!!! कोंग्रेस के अधिवेशन में पुलिस दुमदवाये थे ...मगर यही अन्ना की टीम के पीछे दुश्मन की तरह पीछे पड़ गई है...   ------- साम्प्रदायिकता को देश के समक्ष खतरा करार दिया था। कांग्रेस महाधिवेश शुरू होने से ऐन पहले राहुल गांधी से जुड़े कथित विकीलीक्स खुलासे का भी सत्र पर कुछ प्रभाव पड़ सकता है जिसकी आरएसएस और भाजपा ने कड़ी आलोचना की है। राहुल गांधी ने अमेरिकी राजदूत टिमोथी रोमर को कट्टरपंथी हिन्दू संगठनों से लश्कर ए तैयबा के समान खतरा बताया था। कांग्रेस ने इस विषय पर स्पष्टीकरण जारी किया है जिससे यह स्पष्ट हुआ है कि राहुल ने

अन्ना हजारे ने राजघाट में गांधी जी की समाधि के समाने मौन धारण कर लिया

इमेज
नई दिल्ली।   गांधीवादी सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे और उनके समथर्कों को 16 अगस्त से दिल्ली के जयप्रकाश नारायण राष्ट्रीय उद्यान में आमरण अनशन करने की अनुमति नहीं मिलने के बाद स्थिति में नया मोड़ आ गया है। अन्ना हजारे ने राजघाट में गांधी जी की समाधि के समाने मौन धारण कर लिया है। उनके साथ उनके समर्थक भी साथ हैं। इस बीच दिल्ली पुलिस भी वहां पहुंच गई है। इस बीच कोई भी यह नहीं समझ पा रहा है कि कहीं अन्ना आज से ही अपना अनशन न शुरू कर दें। अन्ना के राजघाट पर पहुंचने के बाद फिर से माहौल गरमा गया है। राजनीतिक सरगर्मी फिर से तेज हो गई है। दिल्ली पुलिस अपने दल-बल के साथ राजघाट पर पहुंच गई है। पुलिस का अनशन की अनुमति देने से इंकार गांधीवादी सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे और उनके समथर्कों को 16 अगस्त से दिल्ली के जयप्रकाश नारायण राष्ट्रीय उद्यान में आमरण अनशन करने की अनुमति नहीं दी गई। अन्ना हजारे व उनके सहयोगियों द्वारा पुलिस की ओर से रखी गई कुछ शर्तों को मानने से इंकार करने के बाद दिल्ली पुलिस ने यह कदम उठाया है। संयुक्त पुलिस आयुक्त सुधीर यादव ने कहा कि इसके बावजूद यदि अन्ना हजारे व उनके