पोस्ट

दिसंबर 18, 2011 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Atal Bihari Vajpayee : ex Prime Minister of India

इमेज
Atal Bihari Vajpayee  Date of Birth : Dec 25, 1924 Date of Death : - Place of Birth : Gwalior,MP Political party : BJP Took Office : Mar 19, 1998 Left Office : May 22, 2004 Successor : Dr. Manmohan Singh Shri. Atal Bihari Vajpayee, the ex Prime Minister of India, is a multi faceted political personality. He was born on 25th December 1924, at Gwalior, Madhya Pradesh to parents Krishna Bihari Vajpayee, a school teacher and Krishna Devi. He was educated at Victoria alias Laxmibai College, Gwalior and D.A.V. College, Kanpur and holds a Postgraduate degree in Political Science. Shri Vajpayee's first brush with nationalist politics was in his student days, when he joined the Quit India Movement of 1942 which hastened the end of British colonial rule. A student of political science and law, it was in college that he developed a keen interest in foreign affairs, an interest he has nourished over the years and put to skilful use while representing India at vari

जहाँ डाल-डाल पर सोने की चिड़ियां करती है बसेरा : ahan Daal Daal Par Sone Ki

इमेज
. . हम ऐसे देश के वासी है,जिस देश से ज्ञान का दीपक दुसरे देशों में फैला. विश्व गुरु भारत ज्ञान-विज्ञानं में दुनिया में अव्वल रहा है. शांति और अहिंसा का पाठ विश्व को हमने सिखाया है. कही हम खुद इस शांति और अहिंसा को भूल तो नहीं गए है.हमारी सभ्यता, संस्कृति का मुकाबला करने का साहस किसी में नहीं था. खोये हुए गौरव के लिए हमने कोई दीप जलाया की नहीं इस पर भी मंथन करने का समय है. जहाँ डाल डाल पर सोने  - Jahan Daal Daal Par Sone Ki (Md.Rafi) Movie : सिकंदर-ए-आज़म (1965) Music By: हंसराज बहल Lyrics By: राजिंदर कृषण Performed By: मो.रफ़ी जहाँ डाल-डाल पर सोने की चिड़ियां करती है बसेरा वो भारत देश है मेरा जहाँ सत्य, अहिंसा और धर्म का पग-पग लगता डेरा वो भारत देश है मेरा (जय भारती...) --- ये धरती वो जहाँ ऋषि मुनि जपते प्रभु नाम की माला (हरी ॐ) जहाँ हर बालक इक मोहन है और राधा इक-इक बाला जहाँ सूरज सबसे पहले आ कर डाले अपना फेरा वो भारत देश है मेरा... --- जहाँ गंगा, जमुना, कृष्ण और कावेरी बहती जाए जहाँ उत्तर, दक्षिण, पूरब, पश्चिम को अमृत पिलवाये ये अमृत पिलवाये