पोस्ट

नवंबर 18, 2012 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे : अंतिम संस्कार

इमेज
शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में प्रमुख हस्तियां यहां स्थित ऐतिहासिक शिवाजी पार्क मैदान में पहुंचीं जिनमें राजनीति, फिल्म और कापरेरेट जगत के दिग्गज शामिल थे। दादर में शिवसेना मुख्यालय से कुछ मी टर की दूरी पर स्थित शिवाजी पार्क मैदान में ठाकरे के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए पहुंचे प्रमुख लोगों में राकांपा प्रमुख शरद पवार, भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज, अभिनेता अमिताभ बच्चन और उद्योगपति अनिल अंबानी शामिल थे। इसके साथ ही वहां पर भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, भाजपा नेता मेनका गांधी एवं शाहनवाज हुसैन, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता डा डी वाई पाटिल और महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता एकनाथ खडसे भी उपस्थित थे। इसके अलावा वहां पर केंद्रीय मंत्री प्रफुल्ल पटेल,वरिष्ठ भाजपा नेता अरुण जेटली, विहिप नेता प्रवीण तोगड़िया, कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला और महाराष्ट्र के लोकनिर्माण मंत्री छगन भुजबल भी उपस्थित थे। इस मौके पर बॉलीवुड अभिनेता न

शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे

इमेज
बाला साहब ठाकरे के जाने से..., आज मन व्यथित है। हमने एक सच्चा हिन्दू हित चिन्तक खो दिया। जिसकी ललकार की आवाज दूर दूर तक सुनी जाती थी। समय इस रिक्तता की पूर्ती समय कब और कैसे करता है, यह तो भगवान ही जानें। शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे का शिवाजी पार्क में आज अंतिम संस्कार NDTVIndia, : 18 नवम्बर , 2012 http://khabar.ndtv.com/news मुंबई: पिछले कई दिनों से गंभीर रूप से बीमार चल रहे शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे का शनिवार 17 नवम्बर , 2012 को 86 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। शनिवार दोपहर 3 बजकर 33 मिनट पर बाला साहब ठाकरे ने अंतिम सांस ली। डॉक्टर के मुताबिक दिल का दौरा पड़ने से ठाकरे का निधन हुआ। ठाकरे को सांस की बीमारी के अलावा पैंक्रियास की बीमारी थी। उनके परिवार में पुत्र जयदेव और उद्धव हैं। इनमें उद्धव पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष हैं। ठाकरे का अंतिम संस्कार रविवार को किया जाएगा और इससे पहले उनके पार्थिव शरीर को शिवाजी पार्क में दर्शन के लिए रखा जाएगा। शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि आम जनता सुबह से शाम पांच बजे तक ठाकरे के पार्थिव शरीर का अंतिम दर्शन कर सकती है। बाद में पास में

क्रान्तिकारी बटुकेश्वर दत्त

इमेज
***** क्रान्तिकारी बटुकेश्वर दत्त ***** आज भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान क्रान्तिकारी बटुकेश्वर दत्त का जन्मदिवस है जिन्हें देश ने सबसे पहले 8 अप्रैल, 1929 को तब जाना, जब वे भगत सिंह के साथ केंद्रीय विधान सभा में बम विस्फोट के बाद गिरफ्तार किए गए।                  उनका जन्म  १८ नवम्बर, 1910 को बंगाली कायस्थ परिवार में ग्राम-औरी, जिला-नानी बेदवान (बंगाल) में हुआ , कुछ स्थानों पर उनका जन्म  नवम्बर, 1908 में कानपुर में हुआ भी लिखा है । पिता 'गोष्ठ बिहारी दत्त' कानपुर में नौकरी करते थे। उनका पैत्रिक गाँव बंगाल के 'बर्दवान ज़िले' में था | दत्त की स्नातक स्तरीय शिक्षा पी.पी.एन. कॉलेज कानपुर में सम्पन्न हुई। 1924 में कानपुर में ही इनकी भगत सिंह से भेंट हुई जो उन दिनों गणेश शंकर विद्यार्थी के पत्र 'प्रताप' में छद्म नाम से काम कर रहे थे और क्रन्तिकारी गतिविधियों में संलग्न थे|। भगत सिंह के संपर्क में आकर बटुकेश्वर दत्त ने हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन के लिए कानपुर में कार्य करना प्रारंभ किया और इसी क्रम में बम बनाना भी सीखा। उन्होंने कई वर्षों तक