पोस्ट

दिसंबर 9, 2012 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

जन गण मन : राजस्थान का जिक्र तक नहीं

इमेज
जन गण मन अंग्रेजी दासता का गीत है क्या ? अंग्रेज राजा की स्तुति में रविन्द्र नाथ टेगोर द्वारा लिखा गया गीत है जब वे भारत में आए थे ... क्या हम अब भी अंग्रेजी उपनिवेश हैं ? कोई इस पर प्रकाश डालेगा क्या ? हाँ, यह जोर्ज पंचम की स्तुति है. इसी के कारण टेगोर को नोबल पुरस्कार मिला था. १९११ में गीत गाया गया और १९१३ में नोबल. ये 'अधिनायक' शब्द से ही जाहिर है. मुझे तो इसमें यह भी अजीब लगता है कि हमारे राजस्थान का इसमें कहीं भी जिक्र तक नहीं है. ‘’वन्देमातरम’’ VS जन गण मन सच जाने,इस पोस्ट को पूरा पढे ! http://donateforsmile.blogspot.in/2012/09/vs.html http://donateforsmile.blogspot.in/2012/09/vs.html ‘’वन्देमातरम’’ बंकिमचंद्र चटर्जी ने लिखा था ! उन्होने इस गीत को लिखा !लिखने के बाद 7 साल लगे जब यह गीत लोगो के सामने आया ! क्यूँ की उन्होने जब इस गीत लो लिखा उसके बाद उन्होने एक उपन्यास लिखा जिसका नाम था ‘’आनद मठ’’ उसमे इस गीत को डाला !वो उपन्यास छपने मे 7 साल लगे ! 1882 आनद मठ उपनास का हिस्सा बना वन्देमातरम और उसके बाद जब लोगो ने इसको पढ़ा तो इसका अर्थ पता चला की वन्देमातरम क्या ह

मिर्गी के लिए वरदान है हल्‍दी : Epilepsy Treatment

इमेज
मिर्गी के लिए वरदान है हल्‍दी भारतीय खानों में हल्‍दी का प्रयोग धड़ल्‍ले से किया जाता है क्‍योंकि यह एंटी बायोटिक का काम करती है। लेकिन एम्‍स के शोधकर्ताओं ने हल्‍दी पर शोध कर बताया है कि हल्‍दी सिर्फ एंटीबायोटिक का ही काम नहीं करती है बल्कि मिर्गी के मरीजों के लिए भी दवा का काम करती है। उनका कहना है कि हल्‍दी में मौजूद एंटी ऑक्‍सीडेंट तत्‍व मिर्गी की बीमारी दूर करने के साथ साथ तनाव दूर करने व यादाश्‍त को मजबूत करने में भी कारगर है। प्रोफेसर के एच रीता का कहना है कि मिर्गी के इलाज के लिए एंटी एपीलेप्टिक ड्रग्‍स थैरेपी का इस्‍तेमाल होता है। इससे डीएनए के मॉलीक्‍यूल क्षतिग्रस्‍त हो जाते हैं। लेकिन हल्‍दी का इस्‍तेमाल इस दवा के साइड इफेक्‍ट को कम करती है। हल्‍दी को अन्‍य दवाओं के साथ मिक्‍स करके इस्‍तेमाल किया जा सकता है। Epilepsy Treatment http://www.news-medical.net/health/Epilepsy-Treatment.aspx    Epilepsy is usually treated with medication prescribed by a physician; primary caregivers, neurologists, and neurosurgeons all frequently care for people with epilepsy. In some