पोस्ट

दिसंबर 10, 2012 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

वॉलमार्ट : भारत में एंट्री के लिए 125 करोड़ लॉबीइंग पर खर्च

इमेज
  वालमार्ट के लिए इतनी तरफदारी क्यों हो रही थी यह सामने आ गया हे .., सरकार से लेकर छुट भईया दलों तक को ऍफ़ डी आई क्यों भा रही थी ..यह भी सत्य उजागर हो गया , सवाल यह हे की वालमार्ट यह भी खुलासा करे की यह धन किस किस पर और कहाँ कहाँ खर्च हुआ ..मगर यह सच वालमार्ट क्यों बताएगा ??? वह तो सही तथ्यों पर पर्दा ही डालेगा .....!!!!  संयुक्त राष्ट संघ की ही कोई गुप्तचर संस्था इस सच को उदघाटित करे तो बात सभी सामने आये।। भारत में एंट्री के लिए वॉलमार्ट ने खर्च किए 125 करोड़ Walmart lobbying bill hits Rs 125 crore on India entry पीटीआई | 10 Dec, 2012, http://navbharattimes.indiatimes.com/articleshow/17552663.cms वॉशिंगटन ।। भारत में अपने स्टोर खोलने को बेकरार ग्लोबल रीटेल कंपनी वॉलमार्ट अमेरिकी सांसदों के बीच अपनी पैरवी (लॉबीइंग) पर 2008 से अब तक 25 मिलियन डॉलर (करीब 125 करोड़ रुपये) खर्च कर चुकी है। इसमें भारत में आने की मंजूरी देने के लिए लॉबीइंग पर खर्च भी शामिल है। वॉलमार्ट की ओर से अमेरिकी सेनेट में दाखिल डिस्क्लोजर रिपोर्ट से यह खुलासा हुआ है। उधर, सीनियर बीजेपी लीडर मुरली मनोहर जोशी ने क