पोस्ट

मार्च 3, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Smt. Vasundhra Raje, BJP State President

इमेज
Smt. Vasundhra Raje BJP State President Former Chief Minister Vasundhara Raje's five-year term as Chief Minister was marked by a strong focus on infrastructure-building and social initiatives. As the Finance Minister, Raje was able to steer the state from a budget deficit into a budget surplus for the first time since the 1991-1992 budget, in accordance with the guidelines of the 12th Finance Commission. Rajasthan became self-sufficient in power generation, and massive road and canal-building projects were undertaken under her administration. She implemented a Tourism Unit Policy, intent on expanding upon Rajasthan's ability to cater to large numbers of tourists by increasing the number of accommodations available. She was also active in courting the IT (Information Technology industry) to open offices in the state, and oversaw the building of new schools and colleges. On the social front, Vasundhara introduced mid-day meal schemes for mothers, insurance schemes, t

Speech: Sh. Rajnath Singh at BJP National Council Meeting

इमेज
National Council Meeting 2-3 March, 2013 Talkatora Stadium, New Delhi Speech: Sh. Rajnath Singh at BJP National Council Meeting Saturday, 02 March 2013 / Presidential Address Friends, aftertaking over the responsibility of the national president again, I am meeting for the first time with the Karyakartas who have come from different corners of the country. It is a heartening coincidence but gives a sense of responsibility. It is heartening because the presence of all the Karyakartas gladdens the heart. It reminds of sense of responsibility because on such occasions, the expectations of Karyakartas and people of this country once more makeme aware of the challenges that lieahead of us. Friends, the time of this national council is witness of two historical occasions. One, the Mahakumbh festival of Tirthraj Prayag is in progress and second the entire nation is celebrating the 150thanniversary of Swami Vivekananda. Mahakumbh is not only the biggest event in the world but also of th

नरेंद्र मोदी ने संभाली मिशन 2014 की कमान

इमेज
नरेंद्र मोदी ने संभाली मिशन 2014 की अघोषित कमान Sun, 03 Mar 201 नई दिल्ली [आशुतोष झा]। गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की भूमिका को लेकर केंद्रीय भाजपा में जो भी असमंजस हो, मोदी ने खुद ही अघोषित रूप से मिशन 2014 की कमान संभाल ली है। खचाखच भरे दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में पिछले तीन दिन में कार्यकार्ताओं ने भी उनकी भावी भूमिका के लिए बेलौस समर्थन जता दिया है। रविवार को मोदी ने अपने संवाद में सपने भी दिखाए और उन्हें साकार करने का भरोसा भी दिया। साथ ही केंद्रीय नेतृत्व को भी याद दिला दी कि 'परिवर्तन के लिए देश चल पड़ा है। अब संख्या का आकलन छोड़ आगे बढ़ना होगा।' रविवार 03/03/2013 को खत्म हुई परिषद की बैठक में न तो लोकसभा चुनाव के लिए नेतृत्व पर चर्चा होनी थी और न ही किसी रूप में हुई, लेकिन मोदी ने स्पष्ट कर दिया कि वह सबसे आगे खड़े होकर चुनावी नेतृत्व के लिए तैयार हैं। संकेतों में उन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी का हवाला देते हुए 'नेतृत्व की क्षमता' की याद भी दिलाई और आगाह कर दिया कि देश की जनता को निराश करने का अधिकार हमें नहीं है। इस पर कार्यकर्ताओं ने तालियों से उनका

'गरीबी और महंगाई के लिए कांग्रेस जिम्मेदार' : नरेंद्र मोदी

इमेज
'गरीबी और महंगाई के लिए कांग्रेस जिम्मेदार' : नरेंद्र मोदी आईबीएन-7/Mar 03, 2013 नई दिल्ली। बीजेपी राष्ट्रीय परिषद की बैठक के दूसरे दिन गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्र सरकार को अपने निशाने पर लिया। नरेंद्र मोदी ने गरीबी महंगाई के लिए मौजूदा यूपीए सरकार को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि एक परिवार के हितों के लिए देश के हितों की बलि चढ़ाने की परंपरा कांग्रेस की रही है। ऐसा कह मोदी ने सोनिया और राहुल पर सीधा हमला बोल दिया। नरेंद्र मोदी ने इस सरकार को बीजेपी कार्यकर्ताओं के लिए शर्मनाक बताया और कहा कि कांग्रेस ने सोनिया परिवार के सियासी वजूद को बनाए रखने के लिए सीताराम केसरी सरीखे कमजोर नेता को कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया। बाद में केसरी को बाहर निकाल कर अध्यक्ष पद पर कब्जा कर लिया गया। मोदी ने यूपीए के राज की तुलना रात और अंधेरे से की। नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस सरकार को एनजीओ में काम करने वाले फाइव स्टार एक्टिविस्ट चला रहे हैं। मोदी ने मनमोहन सिंह पर भी हमला बोला और कहा कि अगर देश की बागडोर प्रणब मुखर्जी के हाथों में होती तो देश की ऐसी दुदर्शा नहीं होती। मोदी ने कह