पोस्ट

मई 8, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

कांग्रेस सेवादल The Seva Dal

शिमला  —  महान स्वतंत्रता सेनानी, विचारक, पत्रकार और कांग्रेस सेवादल के संस्थापक स्व. नारायण सुब्बाराव हार्डीकर की 123वीं जयंती पर सोमवार को प्रदेश कांग्रेस सेवादल द्वारा कच्चीघाटी शिमला में कार्यक्रम आयोजित कर सेवादल संस्थापक के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्घाजंलि दी और उनके बताए मार्ग पर चलकर देश सेवा का संकल्प लिया। बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश मुख्य संगठक इंद्र दत्त लखनपाल ने कहा कि डा. नारायण सुब्बाराव का जन्म सात मई, 1889 को रत्नागिरि तालुक के हर्डी नामक गांव में हुआ था। बाल्यावस्था में ही उनके माता-पिता का देहांत हो गया, जिस कारण उन्हें लगा कि यदि उचित स्वास्थ्य सेवा मिलती तो उनके माता-पिता बच सकते थे। इसी से उन्होंने चिकित्सक बनने तथा आधुनिक सुविधाओं से लैस अस्पताल खोलने का प्रण लिया और डाक्टरी की पढ़ाई के लिए विदेश चले गए। डाक्टर की डिग्री करने के बाद वह भारत वापस आ गए और स्वतंत्रता आंदोलन में कूद गए। 28 दिसंबर, 1923 में उन्होंने हिंदोस्तानी सेवादल की स्थापना की, जिसके प्रथम अध्यक्ष पंडित जवाहर लाल नेहरू बने। इस प्रकार सेवादल के माध्यम से डा. हार्डीकर ने स्वतंत्रता संग