पोस्ट

मई 22, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

चीन में 180000 अश्लील वेबसाइट्स पर प्रतिबंध

चीन में 180000 अश्लील वेबसाइट्स पर प्रतिबंध बीजिंग चीनी अधिकारियों ने मार्च में इंटरनेट की सफाई के लिए अभियान छेड़ने के बाद से अश्लील सामग्री परोसने के आरोप में 180,000 ऑनलाइन प्रकाशनों पर रोक लगा दी है। अश्लील साहित्य और अवैध प्रकाशन विरोधी राष्ट्रीय कार्यालय द्वारा बुधवार को जारी एक बयान के अनुसार, 10,000 वेबसाइटों को नियम और कानूनों के उल्लंघन के आरोप में दंडित किया गया है। अभियान ने 56 लाख अवैध प्रकाशनों को उजागर किया। राष्ट्रीय कार्यालय ने ऑनलाइन अश्लील साहित्य, ऑनलाइन गेम विज्ञापनों, मोबाइल एप्लीकेशन और ऑनलाइ मीडिया प्लेयर के खिलाफ मार्च में अभियान की शुरुआत की थी। कार्यालय के अनुसार, यह अभियान मई में समाप्त होने वाला था, लेकिन अब इसे जून तक बढ़ा दिया गया है। कार्यालय ने कहा कि उनका अगला कदम उल्लंघन के मामलों पर ध्यान केंद्रित करना और वेबसाइट के प्रबंधन में सुधार करना है। (एजेंसी)

पीएम बंशी बजाते रहे, घोटाले ही घोटाले होते रहे

जब रोम जल रहा था, तब नीरो बांसुरी बजा रहा था। पीएम बजाते रहे बंशी,  घोटाले ही घोटाले होते  रहे Wed, 22 May 2013 नई दिल्ली। बुधवार को यूपीए 2 अपनी कामयाबी की रिपोर्ट पेश कर रही है। एक तरफ सरकार नीरो की बंशी बजा रही है तो दूसरी तरफ विपक्ष बस माथा पीटने और मगरमच्छ के आसूं बहाने में वक्त जाया कर रहा है। इस कार्यकाल में सांप्रदायिकता और विकास का नारा खूब चला। समझ नहीं आ रहा है समाजवादी कांग्रेस में समाजवाद में कितना लेट है। इस बीच इन चार सालों में आम आदमी की पीठ पेट से सटती जा रही है लेकिन घोटालों के आगे जीरो बढ़ता ही जा रहा है। लगता है कि हर घोटाले आपस में होड़ कर के बैठे हों। आम आदमी को सरकार से रोजगार और सुरक्षा को लेकर खास अपेक्षाएं होती हैं। चलिए हम आपको चार सालों के चार बड़े घोटाले बताते हैं। चार साल और चार घोटाले :- 1- कोयला आवंटन घोटाला : 1 लाख 86 हजार करोड़ के इस घोटाले ने पीएमओ ऑफिस से लेकर कोयला मंत्रालय तक पर कालिख पोत दी। कोयला की आग में बेचारा कानून मंत्रालय भी झुलस गया। सीबीआइ की साख पर भी बंट्टा लग गया। 2- जी स्पेक्ट्रम घोटाला: 2जी स्पेक्ट्रम आंवटन के मामले में 1 ल