पोस्ट

सितंबर 15, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Ganesha Chaturthi Puja Vidhi

इमेज
Ganesha Chaturthi Puja Vidhi - Neena Sharma Lord Ganesha is worshipped with all sixteen rituals along with chanting of Puranik Mantras during Ganesha Chaturthi Puja which is also known as Vinayaka Chaturthi Puja. Worshipping Gods and Goddesses with all 16 rituals is known as Shodashopachara Puja (षोडशोपचार पूजा). Although Ganesha Puja can be done during Pratahakal, Madhyanakal and Sayanakal but Madhyanakal is preferred during Ganesha Chaturthi Puja. Madhyanakal Puja time for Ganesha Puja can be known at Ganesha Chaturthi Puja Muhurat. All rituals which are prescribed during Ganesha Puja are given below and it also includes sixteen steps which are prescribed in Shodashopachara Puja. Deep Prajawalan (दीप प्रज्ज्वलन) and Sankalpa (संकल्प) are done before starting the Puja and these two are not part of core sixteen steps of Shodashopachara Puja. If you have Lord Ganesha installed at your home and is worshipped daily then Avahana (आवाहन) and Pratishthapan (

Biography : Narendra Damodardas Modi

इमेज
http://www.narendermodi.co.in/ Narendra Damodardas Modi The leading controversial Indian politician, Narendra Damodardas Modi (born 17 Sept 1950) is the present primary reverend of the Indian condition of Gujarat . Renowned Narendra Damodardas Modi was created in reverse category (OBC) middle-class close relatives at Vadnagar; he was the third of six kids created to simple Damodardas Mulchand Modi and his spouse Maa Heeraben. He has been a participant of the popular Rashtriya Swayamsevak Sangh or also called as RSS since child years, having a new in state policies since puberty. He maintains a master’s level in archaeology. In the year of 1998, he was selected by giant politician L. K. Advani, the head of the renowned political party Bharatiya Janata Celebration (or also called BJP), to immediate the selection strategy in state Gujarat as well as state Himachal Pradesh. He became the primary reverend of Gujarat state  in Oct 2001, marketed to the workplace

जय कृष्ण कृष्ण

इमेज
भजन–श्री कृष्ण –भजन— Posted on जून 18, 2011 by vastushastri08 कोई पीवे… कोई पीवे… कोई पीवे… कोई पीवे… कोई पीवे संत सुझान, नाम रस मीठा रे ॥ राजवंश की रानी पी गयी, एक बूँद इस रस का। हो भैया रे… एक बूँद इस रस का। आधी रात महल तज चलदी, रहू न मनवा बस का। हो भैया रे… रहू न मनवा बस का। हो गिरिधर की दीवानी मीरा, ध्यान छूटा अप्यश का। बन बन डोले श्याम बांवरी लगेओ नाम का चस्का॥ लगेओ नाम का चस्का… हो लगेओ नाम का चस्का… नाम रस मीठा रे… नाम रस मीठा रे… नाम रस मीठा रे… नामदेव रस पीया रे अनुपम, सफल बना ली काया। नरसी का… एक तारा कैसे जगतपति को भाया। हो भैया रे… कैसे जगतपति को भाया। तुलसी सूर फिरे मधुमाते, रोम रोम रस छाया। भर भर पी गयी ब्रज की गोपिका, जिन सुन्दरतम पी पाया॥ ऐसा पी गया संत कबीर, मन हरी पाछे ढोले, हो भैया रे… मन हरी पाछे ढोले, कृष्ण कृष्ण जय कृष्ण कृष्ण, नस नस पार्थ की बोले। चाख हरी रस मगन नाचते शुक नारद शिव भोले। कृष्ण नाम कह लीजे, पढ़िए सुनिए भागती भागवत, और कथा क्या कीजे। गुरु के वचन अटल कर मानिए, संत समागम कीजे। हो भैया रे… संत समागम

बंशी वाले तेरी बंशी कमाल कर गई ,

इमेज
कमाल कर गई,कमाल कर गई , बंशी वाले तेरी बंशी कमाल कर गई , मुरली तेरी कमाल कर गई , तेरे ग्वालों की टोली धमाल कर गई , तेरी बंशी कमाल कर गई , कमाल कर गई बंशी वाले तेरी बंशी कमाल कर गई। राधा - माधव भी नाचे , मस्ती तेरी बेहाल कर गई ॥ बंशी वाले तेरी बंशी कमाल कर गई  ॥॥ ------------------- कन्हैया कन्हैया तुझे आना पड़ेगा, आना पड़ेगा . वचन गीता वाला निभाना पड़ेगा .. गोकुल में आया मथुरा में आ छवि प्यारी प्यारी कहीं तो दिखा . अरे सांवरे देख आ के ज़रा सूनी सूनी पड़ी है तेरी द्वारिका .. जमुना के पानी में हलचल नहीं . मधुबन में पहला सा जलथल नहीं . वही कुंज गलियाँ वही गोपिआँ . छनकती मगर कोई झान्झर नहीं . --------------------- कभी राम बनके कभी श्याम बनके चले आना प्रभुजी चले आना.... तुम राम रूप में आना, तुम राम रूप में आना सीता साथ लेके, धनुष हाथ लेके, चले आना प्रभुजी चले आना... तुम श्याम रूप में आना, तुम श्याम रूप में आना, राधा साथ लेके, मुरली हाथ लेके, चले आना प्रभुजी चले आना... तुम शिव के रूप में आना, तुम शिव के रूप में आना.. गौरा साथ लेके , डमरू हाथ लेके, चले आना प्रभुजी चले आना... त

प्रबल प्रेम के पाले पड़ कर प्रभु को नियम बदलते देखा

इमेज
श्री कृष्ण भजन राधे राधे राधे ,  श्री राधे श्री राधे श्री राधे ! राधे रानी , महारानी , कृपा करो ठकुरानी !! राधे राधे गोविन्द , गोविन्द  राधे , मेरा जीवनधन गोविन्द राधे !! ----------- प्रबल प्रेम के पाले प्रबल प्रेम के पाले पड़ कर प्रभु को नियम बदलते देखा . अपना मान भले टल जाये भक्त मान नहीं टलते देखा .. जिसकी केवल कृपा दृष्टि से सकल विश्व को पलते देखा . उसको गोकुल में माखन पर सौ सौ बार मचलते देखा .. जिस्के चरण कमल कमला के करतल से न निकलते देखा . उसको ब्रज की कुंज गलिन में कंटक पथ पर चलते देखा .. जिसका ध्यान विरंचि शंभु सनकादिक से न सम्भलते देखा . उसको ग्वाल सखा मंडल में लेकर गेंद उछलते देखा .. जिसकी वक्र भृकुटि के डर से सागर सप्त उछलते देखा . उसको माँ यशोदा के भय से अश्रु बिंदु दृग ढ़लते देखा .. ----------------- मुकुन्द माधव गोविन्द मुकुन्द माधव गोविन्द बोल केशव माधव हरि हरि बोल .. हरि हरि बोल हरि हरि बोल . कृष्ण कृष्ण बोल कृष्ण कृष्ण बोल .. राम राम बोल राम राम बोल . शिव शिव बोल शिव शिव बोल . भज मन गोविंद गोविंद भज मन गोविंद गोविंद गोपाला ..  --

नरेन्द्र मोदी : जीवन परिचय

इमेज
नरेन्द्र मोदी भारत डिस्कवरी प्रस्तुति नरेन्द्र दामोदरदास मोदी (जन्म 17 सितंबर, 1950) 7 अक्टूबर, 2001) भारतीय जनता पार्टी के प्रसिद्ध नेता और वर्तमान में गुजरात के मुख्यमंत्री हैं। 'केशुभाई पटेल' के इस्तीफे के बाद नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री बने। नरेंद्र मोदी गुजरात के सबसे ज़्यादा लंबे समय तक राज करने वाले मुख्यमंत्री हैं। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के अनुसार गुजरात में 'भारतीय जनता पार्टी' के वर्चस्व की मूल वजह वही हैं। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने दिसम्बर 2002 और फिर दिसम्बर 2007 और 2012   में विधानसभा चुनाव में भारी बहुमत हासिल किया। जीवन परिचय नरेंद्र मोदी को अपने बाल्यकाल से कई तरह की विषमताओं एवं विपरीत परिस्थितियों का सामना करना पड़ा है किन्तु अपने उदात्त चरित्रबल एवं साहस से उन्होंने तमाम अवरोधों को अवसर में बदल दिया, विशेषकर जब उन्‍होने उच्च शिक्षा हेतु कॉलेज तथा विश्वविद्यालय में प्रवेश लिया। उन दिनों वे कठोर संद्यर्ष एवं दारुण मन:ताप से घिरे थे, परन्तु् अपने जीवन- समर को उन्होंने सदैव एक योद्धा-सिपाही की तरह

सैनिकों का अपमान न करे कांग्रेस सरकार : नरेंद्र मोदी, रेवाड़ी रैली

इमेज
नरेंद्र मोदी ने रेवाड़ी की रैली में कहा राज नेता सीखें सेना से सेक्युलेरिज्म  15 सितम्बर  2013 रेवाड़ी: प्रधानमंत्री पद के लिए बीजेपी उम्मीदवार चुने जाने के बाद नरेंद्र मोदी ने हरियाणा के रेवाड़ी में अपनी पहली रैली को संबोधित किया। मोदी यहां पूर्व सैन्यकर्मियों की एक रैली को संबोधित करने पहुंचे थे, जिसमें पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह भी मौजूद थे। उनके साथ कई सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारियों ने भी रैली में हिस्सा लिया। जैसे ही मोदी मंच से भाषण देने के लिए उठे वहां मौजूद करीब डेढ़ लाख लोगों ने तालियों की जोरदार गड़गड़ाहट से उनका स्वागत किया। सेना के पूर्व अफसरों और जवानों को संबोधित करते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा कि रिझांग्ला, त्रिशूर या करगिल की लड़ाई हो, भारतीय सेना ने शहादत का शतक लगाया। सैनिक का जीवन किसी ऋषि-मुनि से कम नहीं है। कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि पूरा एक दशक होने को आया, कोई अच्छी खबर सुनने को नहीं मिली। उन्होंने कहा कि मैं भारत के वैज्ञानिकों का अभिनंदन करता हूं, जिन्होंने अग्नि-5 मिसाइल का सफल परीक्षण किया। जब सेना में भर्ती होना चाहते थे मोद