पोस्ट

अक्तूबर 23, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

राजमाता से लोकमाता : आदरणीय विजयाराजे सिंधिया

इमेज
*** आदरणीय राजमाता सिंधिया की जयंती *** करबा चौथ   **** 12 अक्टूबर 1919 ***** **** 25 जनवरी ,  2001  पुण्य तिथि  *****     सम्मानीया ग्वालियर राजघराने की बहू और फिर देश की लोकप्रिय नेत्रियों में शुमार प्रखर राष्टवादी एवं धर्मनिष्ठ माननीया विजयाराजे जी सिंधिया यानी राजमाता का जन्म करवा चौथ (तिथि के अनुसार) 1919 ई. में, सागर, मध्य प्रदेश के राणा परिवार में हुआ था। सम्मानीया विजयाराजे सिंधिया के पिता श्री महेन्द्रसिंह जी ठाकुर जालौन जिला के डिप्टी कलेक्टर थे, उनका विवाह के पूर्व का नाम "लेखा दिव्येश्वरी" था। उनका विवाह 21 फरवरी 1941 ई में ग्वालियर के महाराजा सम्मानीय जीवाजी राव जी सिंधिया से हुआ था।  और  25 जनवरी ,  2001  में राजमाता विजयाराजे सिंधिया का निधन हो गया।|  राजमाता साहिबा के पांच संताने हुई, जिसमें प्रथम सम्मानीया पदमावती राजे सिंधिया, द्वितीय सम्मानीया ऊषा राजे सिंधिया, तृतीय सम्मानीय माधवराव सिंधिया, चतुर्थ सम्मानीया वसुंधरा राजे सिंधिया, पंचम सम्मानीया यशोधरा राजे सिंधिया ! राजमाता जी का आदर्श जीवन, सिद्धान्त और लोकसेवा भाव लाखों लोगों को प्