पोस्ट

अक्तूबर 24, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

पद्मश्री मन्ना डे के निधन से एक युग का अंत

इमेज
बेंगलूर में ही होगा मन्ना डे का अंतिम संस्कार http://www.jagran.com/entertainment/bollywood-legendary-singer-manna-dey-dead-10817004.html                                                        ऐ मेरी जोहरा जबीं (फिल्म- वक्त) 24 Oct 2013 मन्ना डे के निधन से एक युग का अंत हो गया है। मन्ना डे को 1971 में पद्मश्री और 2005 में पद्म विभूषण से नवाजा जा चुका है। 2007 में उन्हें प्रतिष्ठित दादा साहब फाल्के पुरस्कार प्रदान किया गया। मन्ना डे ने यूं तो बॉलीवुड में हजारों गाने गाए। लेकिन उनके गाए दस गीत ऐसे हैं जिन्हें हमेशा से याद किया जाता रहा है। बेंगलूर। मन्ना डे का अंतिम संस्कार बेंगलूर में ही होगा। उनके परिवार ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की उनका शव कोलकाता लाकर अंतिम संस्कार करने की अपील ठुकरा दी है। मन्ना का पैतृक घर भी कोलकाता में हैं और उनका जन्म भी इसी शहर में हुआ था। गुजरे दौर के मशहूर गायक मन्ना डे का बुधवार देर रात करीब साढ़े तीन बजे बेंगलूर में निधन हो गया था। आज दोपहर को 2 बजे उनका अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा। वह 94 वर्ष के थे। उन्हें छाती में संक्रमण की शिकायत के