पोस्ट

अक्तूबर 25, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

राजस्थान की कांग्रेस सरकार में मंत्री रहते हुए बाबूलाल नागर ने , महिला से अबैध संबंध कबूले

इमेज
राजस्थान की कांग्रेस सरकार में मंत्री रहते हुए बाबूलाल नागर ने , महिला से अबैध संबंध कबूले  नागर को सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया है नागर ने कबूला, साढ़े 3 साल से थे रेप पीड़िता से संबंध आईबीएन-7 | Oct 25, 2013    http://khabar.ibnlive.in.com/news/110660/12 जयपुर। बलात्कार के आरोपों से घिरे अशोक गहलोत सरकार के पूर्व मंत्री बाबूलाल नागर को सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया गया है। 6 घंटे की लंबी पूछताछ के बाद सीबीआई ने नागर को गिरफ्तार किया है। नागर ने गिरफ्तारी के बाद ये मान लिया कि पीड़िता से उसके शारीरिक संबध थे, लेकिन बलात्कार के आरोपों से इंकार किया। सीबीआई शनिवार को नागर को कोर्ट में पेश करेगी। नागर पर पीड़ित महिला के साथ बलात्कार और बाद में धमकी देने का आरोप है। दरअसल सीबीआई ने शुक्रवार को नागर से जयपुर के सर्किट हाउस में पूछताछ की। पूछताछ की वीडियो रिकार्डिंग की गई है। वहीं नागर का कहना है कि बलात्कार का आरोप गलत है। हालांकि उन्होंने कहा कि करीब साढ़े तीन साल से उनके इस महिला के साथ अवैध संबंध थे।

झांसी में लगाये , राहुल की बॉलिंग पर मोदी ने छक्के ....

इमेज
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गत कुछ आम सभाओं में जितने भी मुद्दे जनता के बिच डाले थे अर्थात क्रिकेट की भाषा में बोलिंग की थी उन सभी पर भाजपा नेता नरेंद्र मोदी ने झांसी की आम सभा में जोरदार जबावी हमले बोले , कटघरे में खड़ा किया अर्थात क्रिकेट की भाषा में छक्के उडाये। झांसी में लगाये , राहुल की बॉलिंग पर मोदी ने छक्के http://abpnews.newsbullet.in/ind/34/57888 'ISI कनेक्शन वाले युवकों का नाम बताएं, नहीं तो माफी मांगे राहुल' एबीपी न्यूज  Friday, 25 October 2013 झांसी. गुजरात के मुख्यमंत्री और बीजेपी की तरफ से पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी यूपी के झांसी में राहुल गांधी पर जमकर बरसे. उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत करते हुए कहा कि उनका सौभाग्य है कि उन्हें इस वीरभूमि से आशीर्वाद लेने का मौका मिला है.राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि वह आज रोने नहीं आए हैं. वह आपके आंसू पोछने आया हूं. कानपुर की रैली में जिस तरह से मोदी ने क्षेत्रीय समस्याओं को तवज्जो दी थी, उसके बाद अब झांसी में भी बुंदेलखंड के स्थानीय मुद्दों को उठाया. उन्होंने कहा कि यहां नदियां बह

प्याज की बंपर पैदावार, फिर कीमतें क्यों बढ़ीं?

इमेज
प्याज के बढ़ते दामों के चलते यह आम लोगों की पहुंच से बाहर हो गया है। ओडिशा के पुरी तट पर लोगों के इसी दर्द को सुदर्शन पटनायक ने कुछ यूं दर्शाया। पटनायक रेत पर कलाकृतियां बनाने के लिए मशहूर हैं। प्याज की बंपर पैदावार, फिर कीमतें क्यों बढ़ीं? प्याज: उत्पादन तो खूब बढ़ा फिर क्यों बढ़ीं कीमतें? टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Oct 25, 2013, सुबोध वर्मा नई दिल्ली।। सच तो यह है कि यह बताना लगभग असंभव है कि प्याज की कीमतें आसमान क्यों छू रही हैं। पिछले 10 सालों में प्याज की पैदावार 42 लाख मीट्रिक टन (एलएमटी) से बढ़कर 163 एलएमटी पर पहुंच चुकी है। इसके बावजूद इसकी कीमतों में ऐसी वृद्धि हैरान करती है। कुल मिलाकर देखें तो एक दशक में प्याज की पैदावार में 300 फीसदी का उछाल आया है। इसी टाइम पीरियड की बात करें तो भारत की जनसंख्या में हर साल 1.7 फीसदी की वृद्धि हुई है। तो ऐसे में यह साफ है कि यदि पूरा देश केवल प्याज ही खा रहा हो, तो भी देश में पैदा हो रहा इतना प्याज आखिर जा कहां रहा है? नासिक के नैशनल हॉर्टिकल्चरल रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट फाउंडेशन के डेप्युटी डायरेक्टर एचआर शर्मा ने कहा कि इस साल