पोस्ट

दिसंबर 19, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

सांप्रदायिक हिंसा बिल :आप दोषी हो, ना हो जेल जाओ..!

चित्र
सांप्रदायिक हिंसा बिल :आप दोषी हो, ना हो  जेल जाओ..! विनोद बंसल अभी हाल ही में यूपीए अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी की अध्यक्षता वाली राष्ट्रीय सलाहकार परिषद द्वारा एक विधेयक का मसौदा तैयार किया गया है। इसका नाम सांप्रदायिक एव लक्षित हिंसा रोकथाम (न्याय एवं क्षतिपूर्ति) विधेयक 2011 ['Prevention of Communal and Targeted Violence (Access to Justice and Reparations) Bill,2011'] है। ऐसा लगता है कि इस प्रस्तावित विधेयक को अल्पसंख्यकों का वोट बैंक मजबूत करने का लक्ष्य लेकर, हिन्दू समाज, हिन्दू संगठनों और हिन्दू नेताओं को कुचलने के लिए तैयार किया गया है। साम्प्रदायिक हिंसा रोकने की आड़ में लाए जा रहे इस विधेयक के माध्यम से न सिर्फ़ साम्प्रदायिक हिंसा करने वालों को संरक्षण मिलेगा बल्कि हिंसा के शिकार रहे हिन्दू समाज तथा इसके विरोध में आवाज उठानेवाले हिन्दू संगठनों का दमन करना आसान होगा। इसके अतिरिक्त यह विधेयक संविधान की मूल भावना के विपरीत राज्य सरकारों के कार्यों में हस्तक्षेप कर देश के संघीय ढांचे को भी ध्वस्त करेगा। ऐसा प्रतीत होता है कि इसके लागू होने पर भारतीय समाज में परस्प

श्रीमती वसुन्धरा राजे : मुख्यमंत्री, राजस्थान

चित्र
श्रीमती वसुन्धरा राजे, माननीया मुख्यमंत्री, राजस्थान  राजनीति और समाज सेवा के माध्यम से आमजन के हितों के लिए समर्पित एवं प्रतिबद्ध श्रीमती वसुन्धरा राजे का जन्म 8 मार्च, 1953 को मुम्बई में हुआ। तत्कालीन ग्वालियर रियासत की राजमाता विजया राजे सिन्धिया तथा महाराजा जीवाजीराव की पांच सन्तानों में से आप चौथी हैं। आपने अपनी स्कूली शिक्षा प्रजेन्टेशन कान्वेंट, कोडईकनाल में पूरी की। तत्पश्चात सोफिया कॉलेज, मुम्बई विश्वविद्यालय, मुम्बई (महाराष्ट्र) से अर्थशास्त्र तथा राजनीति विज्ञान में स्नातक (ऑनर्स) उपाधि प्राप्त की। आपका विवाह 17 नवम्बर, 1972 को धौलपुर के पूर्व महाराजा हेमन्त सिंह के साथ हुआ। तभी से श्रीमती राजे का राजस्थान से संबंध है जो समय के साथ और व्यापक एवं प्रगाढ़ होता जा रहा है। आपके एक पुत्र दुष्यंत सिंह जी है , जो कि झालावाड़ से लोकसभा संसद हैं । श्रीमती राजे को अपनी माता विजया राजे सिन्धिया से समाज सेवा तथा राजनीतिक चेतना के संस्कार मिले। आप बाल्यावस्था से ही जन कल्याणकारी कार्यों में सक्रिय योगदान देती रही हैं। जनसेवा और राजनीति के माहौल में पली-बढ़ी श्रीमती राजे में परमार्थ से

Smt. Vasundhara Raje, Hon'ble Chief Minister, Rajasthan

चित्र
Smt. Vasundhara Raje,  Hon'ble Chief Minister, Rajasthan  Smt. Vasundhara Raje, who is committed and dedicated to welfare of the general public through politics and social service, was born on March 8, 1953 at Mumbai. She is 4th amongst five children of the then Rajmata of Gwalior State Smt. Vijaya Raje Scindia and Maharaja Jeevaji Rao. She completed her school education at Presentation Convent, Kodaikanal. After that she graduated in Economics and Political Science (Honours) from Sofia College, Mumbai University, Mumbai (Maharashtra). She got married to the former Maharaja of Dholpur State Sh. Hemant Singh on November 17, 1972. Then on, Smt. Raje association with Rajasthan started which got intensed and stronger with passage of time. She has a son. Smt. Raje got the samskar of social service and political activism from her mother Smt. Vijaya Raje Scindia. She started participating actively in public welfare services from her childhood. She adopted the culture of service to the