पोस्ट

दिसंबर 21, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

उत्तर प्रदेश के पूर्वजों ने ही रामराज्य की परंपरा डाली : नरेन्द्र मोदी

इमेज
वाराणसी। शिव की नगरी काशी में नरेंद्र मोदी की रैली हो और वह इससे जुड़ीं भावनाओं को न उठाएं, यह संभव नहीं है। हाल में संपन्न विधानसभा चुनावों में तीन राज्यों में सरकार बनाने के बाद जोश से लबरेज भाजपा और उसके प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार मोदी ने बाबा विश्वनाथ, गंगा की सफाई और पूर्वांचल के पिछड़ेपन का जिक्र करते हुए कांग्रेस व प्रदेश में सत्ताधारी समाजवादी पार्टी पर  जमकर हमला बोला। उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत में चिर-परिचित शैली में कहा सोमनाथ की धरती से बाबा विश्वनाथ का आशीर्वाद लेने आया हूं। इसके बाद कहा कि चुनाव से पहले देश में ऐसा माहौल पहली बार देख रहा हूं, 2014 का चुनाव कोई पार्टी या कोई व्यक्ति नहीं लडऩे वाला है। यह चुनाव देश का हर मतदाता लडऩे वाला है। इसके बाद गंगा नदी के प्रदूषण का जिक्र करते हुए उन्होंने स्थानीय लोगों की भावनाओं को छूने की कोशिश की।  मोदी ने कहा, गंगा माता की चर्चा के बिना हिंदुस्तान की चर्चा अधूरी है। औरों के लिए गंगा सिर्फ नदी हो सकती है, लेकिन हमारे लिए यह मां है। गंगा पानी की धारा नहीं है, यह हमारी संस्कृति की धारा है। इस गंगा की सफा