पोस्ट

दिसंबर 28, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

मोदी की रांची रैली 29 दिसंबर को : जेवीएम नेता सहित दर्जनों भाजपा में शामिल

इमेज
मोदी की रांची रैली 29 दिसंबर को पहले जेवीएम नेता सहित दर्जनों भाजपा में शामिल  Sat, Dec 28th, 2013 रांची. नरेंद्र मोदी विजय संकल्प रैली को संबोधित करने 29 दिसंबर को रांची पहुंचेंगे. श्री मोदी का विशेष विमान सुबह 12.45 बजे बिरसा मुंडा एयरपोर्ट उतरेगा. यहां से वह हेलीकॉप्टर से सीधे जेएससीए स्टेडियम पहुंचेंगे. एयरपोर्ट से उड़ान भरने के बाद हेलीकॉप्टर दो मिनट में जेएससीए स्टेडियम पहुंचेगा. इसके बाद मोदी व उनके साथ आये अतिथि कार से सभा स्थल पर पहुंचेंगे. इससे पहले जेवीएम नेता उदय भान सिंह समेत आदिवासी छात्र संघ के कई नेता शुक्रवार को भाजपा में शामिल हुए. प्रदेश कार्यालय में अध्यक्ष डॉ रवींद्र राय ने स्वागत किया. श्री राय ने बताया कि उदय भान सिंह का संबंध रामगढ़ के राजघराने से है. इनके आने से पार्टी और मजबूत होगी. इधर आदिवासी छात्र मोरचा के बेलरस कुजूर के नेतृत्व में ईसाई समुदाय के दर्जनों लोग पार्टी में शामिल हुए. श्री कुजूर इससे पहले चमरा लिंडा की पार्टी से जुड़े हुए थे. पार्टी की सदस्यता ग्रहण करनेवालों में सतीश एक्का, कुंदन टोप्पो, शेफाली खलखो समेत कई लोग शामिल हैं. सरकार ने

गुजरात दंगा : नरेंद्र मोदी ने किया दर्द बयां

इमेज
आईबीएन-7 | Dec 27, 2013 गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2002 दंगों पर 11 साल बाद सफाई दी है। बीते गुरुवार को उन्हें गुलबर्ग सोसायटी दंगा मामले में कोर्ट से राहत मिली है। कोर्ट ने मोदी को मिली एसआईटी की क्लीन चिट बरकरार रखी है। मोदी ने कोर्ट के फैसले को सत्य की जीत बताया, और आज उन्होंने दंगों पर विस्तार से सफाई दी है। उन दिनों को याद करते हुए मोदी ने कहा कि 2002 दंगों के बाद वे बेहद व्यथित और आहत थे। मोदी के मुताबिक दंगों ने उन्हें भीतर तक हिला दिया था, उस दुख को वो कभी साझा नहीं कर पाए। मोदी ने ब्लॉग पर लिखा है कि वो पहली बार गुजरात दंगों की व्यथा बयां कर रहे हैं। मोदी के मुताबिक उन्होंने दंगों के दौर की पीड़ा अकेले ही झेली। मोदी कहते हैं कि गुजरात दंगों जैसे क्रूर दिन किसी को देखने नहीं पड़े, और ईश्वर उन्हें ताकत दें इसकी वो कामना करते हैं। मोदी का दावा है कि गुजरात के दंगों के दौरान वो शांति और संयम बनाए रखने की अपील करते रहे। उन्होंने माना कि शांति बनाए रखना सरकार की नैतिक जिम्मेदारी थी। मोदी का दावा है कि उनकी सरकार ने दंगाइयों से कड़ाई से निपटने की कोशिश की। उसी वक्

महंगाई की मार से नहीं मिली राहत

इमेज
कांग्रेस भयानक महंगाई और मोदी के तूफान में अभी बुरी तरह चुनाव हारी है ,कांगेस शाषित दिल्ली और राजस्थान में वह एक बटा 10 के पास पहुच गई , कांग्रेस  मोदी को तो नहीं रोक सकती मगर महंगाई तो रोक सकती है ! मगर देश की जनता को वो अब भी महंगाई की चक्की में पीसे जा रही है । जिसका परिणाम उसे लोकसभा चुनावों में भुगतना होगा । महंगाई की मार से नहीं मिली राहत रणविजय प्रताप सिंह First Published:27-12-2013 http://www.livehindustan.com/news/tayaarinews/tayaarinews/article1-story-67-67-387862.html बढ़ती महंगाई ने इस साल उपभोक्ताओं की जेब हल्की करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। डॉलर के मुकाबले रुपये में आई रिकॉर्ड गिरावट और आर्थिक वृद्धि दर में लगातार आती कमी पूरे साल परेशानी का सबब बनी रही। हालांकि इस साल आर्थिक जगत में कुछ अच्छे संकेत भी मिले। देश में पहले महिला बैंक की शुरुआत हुई और भारतीय स्टेट बैंक  (एसबीआई) की कमान पहली बार किसी महिला के हाथ में आई। साल 2013 की प्रमुख आर्थिक गतिविधियों पर रणविजय प्रताप सिंह की रिपोर्ट महंगाई से उपभोक्ता और सरकार परेशान खाने-पीने के सामान की कीमतें इस साल आसमान पर