पोस्ट

फ़रवरी 10, 2014 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

आगामी लोकसभा चुनाव भारत का भविष्य - नरेंद्र मोदी

चित्र
 भाजपा के नेतृत्ववाली अटलबिहारी वाजपेयी सरकार में 6 साल तक न मंहगाई थी, न रसोई गैस की किललत थी , न महा भ्रष्टाचार था, सामान्यतौर पर जनता सुखी थी और आज वही जनता भाजपा को सरकार देनं के लिये आगे आगे चल रही है। मोदी के नेतृत्व में ही अगली सरकार बनेगी । ------------------------------- आगामी लोकसभा चुनाव भारत का भविष्य - नरेंद्र मोदी संप्रग का शासन, विनाश का दशक - नरेंद्र मोदी गांधीनगर, एजेंसी गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को संप्रग सरकार पर नये सिरे से हमला बोलते हुए पिछले दस वर्ष को स्वतंत्र भारत के इतिहास में विनाश का दशक और सबसे बुरा समय करार दिया। संप्रग सरकार पर मोदी का ताजा हमला प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा मोदी को भाजपा का प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाए जाने को देश के लिए विनाशकारी बताए जाने के तकरीबन एक महीने बाद आया है। यहां कोबा में भाजपा की राज्य शाखा के नये कार्यालय के उदघाटन के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, भारत की अर्थव्यवस्था कांग्रेस की कुनीतियों की वजह से आज रूपतन केरू कगार पर है। आम आदमी की सुरक्षा पर सवालिया निशान है।

' आआपा ' के पीछे काम कर रही हैं विदेशी ताकतें - अशोक सिंहल

चित्र
' आआपा '  के पीछे काम कर रही हैं विदेशी ताकतें - अशोक सिंहल          गत 31 जनवरी को विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक श्री अशोक सिंहल ने अरविंद केजरीवाल और उनकी "आम आदमी पार्टी "  के संदर्भ में एक प्रेस वक्तव्य जारी किया। वक्तव्य में उन्होंने " आआपा " को गुप्त रूप से समर्थन दे रही विदेशी ताकतों पर सवाल खड़े किए।        श्री सिंहल का कहना था कि केजरीवाल पिछले डेढ़-दो वर्ष में " इंडिया अगेंस्ट करप्शन " तथा ' जन लोकपाल बिल ' के लिए हुए प्रदर्शन के नेता के रूप में समाज के सामने आये, बाद में उन्होंने राजनैतिक दल का गठन किया।         कांग्रेस  की घटती लोकप्रियता का लाभ लेकर और जनता को भ्रमित कर केजरीवाल दिल्ली की सत्ता पर काबिज होने में कामयाब हो गए। आज पूरे देश में यह प्रश्न खड़ा हो गया है कि केजरीवाल के सत्ता में आने के पीछे कौन सी महाशक्ति खड़ी है। धीरे-धीरे यह स्पष्ट होता जा रहा है कि उनके पीछे अमरीका का " " फोर्ड  फाउण्डेशन  " और उसकी सहायक अमरीका की गुप्तचर संस्था सीआईए का बहुत बड़ा हाथ है।          उल्