पोस्ट

मार्च 24, 2014 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

भाजपा सत्ता में आने पर स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करेगी

उपज को कितना समर्थन देता है, समर्थन मूल्य ? http://bhoomeet.blogspot.in/2012/06/blog-post_13.html किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाने के लिए झा कमेटी की सिफारिश के आधार पर वर्ष 1965 में कृषि मूल्य व लागत आयोग का गठन किया गया था। मण्डी में किसानों की फसल को बिचौलिये कम कीमत पर खरीद लेते हैं, इसे ध्यान में रखते हुए ही सरकार आयोग की सिफारिश पर रबी और खरीफ की करीब 21 फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य की घोषणा करती है। एफसीआई और सीसीआई जैसी सरकारी एजेंसियां उन समर्थन मूल्यों पर खरीद भी करती हैं। पिछले सात साल से करीब सभी अनाजों का समर्थन मूल्य दोगुना हो गया है। धान का समर्थन मूल्य 2004-05 की तुलना में 560-590 रुपए से बढ़कर 1,250 रुपए और गेहूं का समर्थन मूल्य 640 रुपए से बढ़कर 1,285 रुपए प्रति क्विंटल तक पहुंच गया। इस दौरान गन्ने का मूल्य भी 74.5 रुपए से बढ़कर 139. 12 क्विंटल प्रति टन पर पहुंच गया। सरकार ने दालों का उत्पादन बढ़ाने के लिए इस साल चने और मसूर का समर्थन मूल्य 2,800 रुपए प्रति क्विंटल कर दिया है। पहली नजर में यह नीति किसानों के लिए लाभदायक लगती है, किन्तु हकीकत बिल्क

महिलाओं पर अत्याचार, शासन चुप क्यों

महिलाओं पर अत्याचार, शासन चुप क्यों महिलाओं को घर की इज्जत माना जाता है, उनकी सुरक्षा को इज्जत का प्रश्न माना जाता हे। यह महिला सुरक्षा के लिये बेहद जरूरी है। तब सरकार चलाने वाले राजनैतिक दल और प्रशासन तंत्र के अधिकारीगण इसे अपनी इज्जत का सवाल क्यों नहीं बनाते ? कम ज्यादा यह प्रश्न सभी जगह है और इस तरह के कृत्यों पर सांठगांठ नहीं वरन कठोर सजा कीे उदाहरण प्रस्तुत किये जानें चाहिये ! कानून में नहीं सरकार चलाने वालों की कमजोरी से यह सब हो रहा ह।। --------------- देह व्यापार से मना करने पर महिला के स्तन काटे Sun, 23 Mar 2014 http://www.jagran.com/news/national-cuted-woman-breast-after-refusing-prostitution-11179595.html थाणे, [महाराष्ट्र]। स्तब्ध कर देने वाली एक घटना में 24 वर्षीय एक महिला के देह व्यापार से मना करने पर उसके स्तन काट दिए गए। कुंभरवाड़ा-भिवंडी के पुलिस इंस्पेक्टर राजन सास्ते ने बताया, 'पीड़ित महिला को गुजरात से भिवंडी लाकर एक वेश्यालय में बेच दिया गया। उससे जबरदस्ती देह व्यापार कराने की कोशिश की गई।'जब उस महिला ने वेश्यालय की महिला संचालक की बात नहीं मानी तो