पोस्ट

अप्रैल 3, 2014 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

हमें वीर केशव मिले आप जबसे : संघ गीत

इमेज
हमें वीर केशव मिले आप जबसे : संघ गीत हमें वीर केशव मिले आप जबसे, नयी साधना की डगर मिल गयी है ॥ध्रु॥ भटकते रहे ध्येय-पथ के बिना हम, न सोचा कभी देश क्या, धर्म क्या है? न जाना कभी पा मनुज-तन जगत में, हमारे लिए श्रेष्ठतम कर्म क्या है? दिया ज्ञान मगर जबसे आपने है, निरंतर प्रगति की डगर मिल गई है ॥१॥ समाया हुआ घोर तम सर्वदिक था, सुपथ है किधर कुछ नहीं सूझता था । सभी सुप्त थे घोर तम में अकेला, ह्रदय आपका हे तपी जूझता था । जलाकर स्वयं को किया मार्ग जगमग, हमें प्रेरणा की डगर मिल गई है ॥२॥ बहुत थे दुखी हिन्दू निज देश में ही, युगों से सदा घोर अपमान पाया । द्रवित हो गए आप यह दृश्य देखा, नहीं एक पल को कभी चैन पाया । ह्रदय की व्यथा संघ बनकर फूट निकली, हमें संगठन की डगर मिल गई है ॥३॥ करेंगे हम पुनः सुखी मातृ-भू को, यही आपने शब्द मुख से कहे थे । पुनः हिन्दू का हो सुयश गान जग में, संजोए यही स्वप्न पथ पर बढ़ रहे थे । जला दीप ज्योतित किया मातृ-मंदिर, हमें अर्चना की डगर मिल गई है ॥४॥

कांग्रेस सबसे ज्यादा सांप्रदायिक : शाही इमाम के भाई

इमेज
कांग्रेस सबसे ज्यादा सांप्रदायिक: शाही इमाम के भाई Thursday, April 03, 2014, नई दिल्ली : जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी के छोटे भाई सैयद याहिया बुखारी ने कांग्रेस को ‘सबसे ज्यादा साम्प्रदायिक पार्टी’ करार देते हुए सत्तारूढ़ पार्टी का समर्थन करने के किसी फैसले का आज विरोध किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी को समर्थन करने के जामा मस्जिद के शाही इमाम के फैसले का मैं पूरी तरह से विरोध करता हूं और इसका कारण यह है कि यदि आप देश में ईमानदारी से किसी मुसलमान से पूछें तो मेरा मानना है कि कांग्रेस पार्टी को सबसे ज्यादा साम्प्रदायिक पार्टी बताया जाएगा। सैयद याहिया ने कहा कि मुसलमान कहते हैं कि भाजपा साम्प्रदायिक पार्टी है, हां है। लेकिन भाजपा अल्पसंख्यकों पर हमले करती है, यह सामने से वार करती है, मुसलमान खुद को बचा लेते हैं लेकिन कांग्रेस ने हमेशा ही उनकी पीठ में छुरा घोंपा है। उन्होंने भाजपा को भी नहीं बख्शा और इस भगवा पार्टी पर हमला करते हुए दावा किया कि गुजरात में दंगों के पीछे भाजपा का हाथ था। यह जगजाहिर बात है कि इस बारे में हर कोई जानता है लेकिन कांग्रेस ने भी मुसलम

केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश ने मानी कांग्रेस की हार

इमेज
जयराम ने मानी कांग्रेस की हार! Apr 03, 2014 नई दिल्ली। कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार के 10 सालों के शासन के खिलाफ लोगों के मन में विरोध है। यह लड़ाई हमारे लिए काफी मुश्किल है। यह बात खुद केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश ने कही। उन्होंने कहा कि हमारा नेतृत्व लोगों से प्रभावी रूप से अपनी बात नहीं कह सका। हम परसेप्सन की लड़ाई हार गए हैं। हमें जनता से बेहतर संपर्क साधने की जरूरत थी। रमेश मे कहा कि यह चुनाव अभियान मुश्किल जरूर है लेकिन पार्टी अपनी अपनी अलग पहचान के चलते तीन अंकों में सीट जीतेंगे। रमेश मे कहा कि राजनीति में कम्युनिकेशन का काफी महत्व होता है और हम इस फ्रंट पर पूरी तरह से नाकाम रहे हैं। पार्टी अपनी बात को ठीक तरह से रखने में नाकाम रही। एक सवाल के जवाब में रमेश मे कहा कि यूपीए-2 का कामकाज अच्छा रहा है, लेकिन कम्युनिकेशन में चूक हुई है। ---------------- जयराम रमेश बोले- धारणा के स्तर पर हारी कांग्रेस, नेतृत्व संवाद कायम करने में विफल भाषा [Edited By: पीयूष शर्मा] | नई दिल्‍ली, 3 अप्रैल 2014 केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश ने आज स्वीकार किया कि कांग्रेस धारणा के स्तर