पोस्ट

मई 18, 2014 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

मोंटेक सिंह अहलूवालिया का इस्तीफा

चित्र
इस आदमी ने आम भारत वासियों का बहुत अपमान किया मोंटेक सिंह अहलूवालिया ने इस्तीफा दिया  Sunday, May 18, 2014 http://zeenews.india.com नई दिल्ली : योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया ने शनिवार को इस्तीफा दे दिया। आयोग के अन्य सदस्य भी इस्तीफा देने की प्रक्रिया में हैं। केंद्रीय मंत्रिमंडल की यहां हुई बैठक के बाद अहलूवालिया ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को अपना इस्तीफा सौंप दिया। आयोग के सदस्य बी के चतुर्वेदी ने भी इस्तीफा दे दिया है। चतुर्वेदी ने कहा कि उपाध्यक्ष ने अपना इस्तीफा दे दिया है। मुझे अन्य सदस्यों के बारे में जानकारी नहीं है लेकिन मैंने आज सुबह योजना आयोग के सदस्य पद से इस्तीफा दे दिया। अहलूवालिया के अलावा आयोग के पूर्णकालिक सदस्यों में बी के चतुर्वेदी, सौमित्र चौधरी, सईदा हामिद, नरेंद्र जाधव, अभिजीत सेन, मिहिर शाह, के कस्तुरीरंगन तथा अरूण मायरा शामिल थे। ऐसी परंपरा है कि आम चुनावों के सभी सदस्य अपना इस्तीफा प्रधानमंत्री को सौंप दे देते हैं। प्रधानमंत्री आयोग के अध्यक्ष भी होते हैं। योजना आयोग के सदस्यों का कार्यकाल सरकार के साथ समाप्त होता है। आम चुन

राष्ट्रपति ने भंग की 15वीं लोकसभा

चित्र
15वीं लोकसभा भंग,  ईसी ने राष्ट्रपति को सौंपी नवनिर्वाचित सदस्यों की सूची Sunday, May 18, 2014 नई दिल्ली : राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने आज 15वीं लोकसभा तत्काल प्रभाव से भंग कर दी। इस प्रकार नये सदन के गठन से पहले की औपचारिकता पूरी हो गयी। चुनाव आयोग ने 16वीं लोकसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों की सूची राष्ट्रपति को सौंप दिया है। सूची में सभी 543 सदस्यों के नाम हैं जो मुख्य चुनाव आयुक्त वीएस संपत की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति को सौंपा। राष्ट्रपति भवन के प्रेस सचिव वेणु राजामणि ने बताया कि राष्ट्रपति ने कैबिनेट की सलाह मान ली है और संविधान के अनुच्छेद-85 के प्रावधान-2 के उप प्रावधान-बी के तहत 15वीं लोकसभा भंग करने के आदेश पर आज दस्तखत कर दिये। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में निवर्तमान केन्द्रीय मंत्रिमंडल की कल हुई अंतिम बैठक में राष्ट्रपति को 15वीं लोकसभा तत्काल प्रभाव से भंग करने की सलाह दी गयी थी। उसके बाद संसदीय कार्य मंत्री कमलनाथ ने राष्ट्रपति से मुलाकात कर कैबिनेट का फैसला उन्हें सौंपा। 16वीं लोकसभा के चुनाव में भाजपा ने अपने दम पर 282 सीट

नरेंद्र मोदी : एक अद्भूत अपूर्व जीत

चित्र
एक अद्भूत अपूर्व जीत निर्मल पाठक, राजनीतिक संपादक, हिन्दुस्तान http://www.livehindustan.com/news/editorial/guestcolumn/article1-story-57-62-425048.html?google_editors_picks=true संकल्प कैसे जीतते हैं, यह हमें नरेंद्र मोदी से सीखना होगा। आज से दो साल पहले अगर कोई कहता कि भारतीय जनता पार्टी सिर्फ अपने बूते पर संसद में पूर्ण बहुमत हासिल कर सकती है, तो कोई भी इस पर विश्वास नहीं करता। एक ऐसी पार्टी, जिसके कई राज्यों में नामलेवा भी बहुत कम मिलते हों, वह सवा सौ साल पुरानी एक अखिल भारतीय पार्टी को उंगलियों पर गिनी जाने वाली संख्या के आसपास ला देगी, इसकी कल्पना भी कुछ समय पहले तक नहीं की जा सकती थी। अब हालत यह है कि भाजपा ने अकेले उत्तर प्रदेश में उससे कहीं ज्यादा सीटें हासिल कर ली हैं, जितनी कि कांग्रेस ने पूरे देश में नहीं हासिल कीं। यह ठीक है कि भाजपा की चुनावी लफ्फाजी में जिस ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ की बात की जाती थी, वह लक्ष्य नहीं हासिल हो सका, लेकिन कांग्रेस के साथ जो हुआ, वह तकरीबन उतना ही बुरा है। अक्सर यह कहा जाता है कि भाजपा की जीत में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एक बड़ी भूमिका

Killer of CANCER : Sitafal सीताफल

चित्र
भारत में यह सीताफल के नाम से जाना जाता है ! "SHARE THIS INFORMATION FIRST AND READ AFTERWARDS.....SAVE LIFE Share this as much as you can. "10000 times stronger killer of CANCER than Chemo".. do share it.. can save many lives, fill up hopes and build confidence in the patients... The Sour Sop or the fruit from the graviola tree is a miraculous natural cancer cell killer 10,000 times stronger than Chemo. ... Why are we not aware of this? Its because some big corporation want to make back their money spent on years of research by trying to make a synthetic version of it for sale. So, since you know it now you can help a friend in need by letting him know or just drink some sour sop juice yourself as prevention from time to time. The taste is not bad after all. It’s completely natural and definitely has no side effects. If you have the space, plant one in your garden. The other parts of the tree are also useful. The next time you have a fruit juice, ask