पोस्ट

जनवरी 27, 2015 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

अमेरिकी राष्ट्रपति , हनुमान भक्त बराक ओबामा !

इमेज
ओबामा , प्रतिभा आडवाणी के पास  आए और बड़े गर्व से हनुमान जी की छोटी सी प्रतिमा दिखाई The photo by Brooks Kraft that appeared in Time on June 2, 2008 shows candidate Obama displaying a palm-full of “lucky” charms.    The full photo is  कैसे हनुमान भक्त बन गए बराक ओबामा http://khabar.ibnlive.in.com/news/135284/1 आईबीएन-7 | Jan 27, 2015 http://khabar.ibnlive.in.com/news/135284/1 नई दिल्ली। जिंदगी के तमाम पड़ावों में, मुश्किलों में, परेशानी में, जब हौसला चाहिए होता है, हिम्मत चाहिए होती है, तब ओबामा याद करते हैं हनुमान को। एक ऐसा सहारा जो तब से उनने साथ है जब उनके पहले पिता उन्हें छोड़कर चले गए थे जब जिंदगी में दूसरे पिता आए थे। जी हां, दुनिया के सबसे ताकतवर शख्स अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को शक्ति मिलती है भगवान हनुमान से। इस बात का चर्चा पिछले काफी सालों से होती रही है। लेकिन रविवार को पहली बार खुद बराक ओबामा ने बताया कि हनुमान जी की उनकी जिंदगी में क्या अहमियत है। रविवार रात सवा नौ बजे के करीब जब ओबामा राष्ट्रपति भवन में खास मेहमानों से एक एक करके मिल

ओबामा : भारत और अमरीका विविधता में एकता वाले देश

इमेज
  ओबामा के भाषण की 12 ख़ास बातें http://www.bbc.co.uk/hindi     अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने दिल्ली के सीरी फ़ोर्ट ऑडिटोरियम में शहर के युवाओं और अन्य निवासियों को संबोधित करते हुए अमरीका को भारत का बेस्ट पार्टनर बताया. उन्होंने भारत में विविधता का ज़िक्र करते हुए ज़ोर देकर कहा कि अमरीका और भारत की सबसे बड़ी ताकत दोनों की अनेकता में एकता है. भारत और अमरीका विविधता में एकता वाले देश हैं और दोनों देशों को इसे बचाना और बढ़ाना चाहिए. 1 . अमरीका के मार्टिन लूथर किंग गांधी जी से प्रेरित थे. ये बात दोनों देशों को जोड़ती है. 2 . भारत और अमरीका विविधता में एकता वाले देश हैं और दोनों देशों को इसे बचाना और बढ़ाना चाहिए. 3 .   एक और संपर्क है. एक समय विवेकानंद आए थे अमरीका..वो भी मेरे शहर शिकागो में और हिंदू धर्म का संदेश दिया था. उनके शब्द थे अमरीका के भाईयो और बहनो. मैं वो शब्द दोहराता हूं...भाइयो और बहनो 4 . हर धर्म का सम्मान होना चाहिए और धर्म के प्रचार प्रसार की आज़ादी भी. 5 . अमरीका चाहता है कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधार हो और भारत को स्थायी सीट मिले. 6

भारत-अमेरिका : सुधरते रिश्तों ने शेयर बाजार को लगाए पंख

इमेज
अमेरिका से सुधरते रिश्तों ने बाजार को लगाए पंख जागरण Tue, 27 Jan 2015 मुंबई। दलाल स्ट्रीट में मंगलवार को लगातार आठवें सत्र में तेजी का दौर बना रहा। भारत-अमेरिका के सुधरते कारोबारी रिश्तों से उत्साहित निवेशकों ने शेयरों में चौतरफा लिवाली की। इससे बंबई शेयर बाजार (बीएसई) का सेंसेक्स 292.20 अंक यानी एक फीसद उछलकर नए शिखर पर पहुंच गया। यह संवेदी सूचकांक 29571.04 अंक के रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ। इसी प्रकार नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 74.90 अंक की छलांग लगाकर 8900 अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर को पार कर गया। यह 8910.50 अंक पर बंद हुआ। विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआइआइ) बाजार में बड़े लिवाल बने हुए हैं। भारत के साथ कारोबार को बढ़ावा देने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने चार अरब डॉलर के निवेश का एलान किया है। इसने निवेशकों का मनोबल बढ़ाया। ओबामा की भारत यात्रा के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में हुए समझौतों से भी बाजार का माहौल गरम रहा। इसमें वह करार विशेष रूप से शामिल है जिसके तहत अमेरिकी कंपनियां भारत में परमाणु संयंत्र बना सकेंगी। तीस शेयरों वाला सेंसेक्स इस दिन 29451.65 अंक पर मजबूत खु