पोस्ट

मई 22, 2015 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह के भाषण के मुख्य बिन्दु

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह के भाषण के मुख्य बिन्दु मैं सबसे पहले राजस्थान भाजपा अध्यक्ष और राजस्थान की नेता हमारी मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे जी को हृदय से बधाई देना चाहता हूं कि राजस्थान 75 लाख के सदस्यता के आंकडे को पार कर गया है। और इस समय कार्यकर्ताओं का समूह जो मैं सामने देख रहा हूं मुझे भरोसा है कि आने वाले वर्षों तक भारतीय जनता पार्टी के अलावा यहां किसी की कोई जगह नहीं होगी। 75 लाख के आंकड़े को यहां के गांव-गांव और कूचे-कूचे में फैले हुए हमारे लाखों कार्यकर्ताओं ने कठिन परिश्रम करके इस कार्य को सिद्ध किया है। मुझे मालूम है कि कितना कठिन काम था मगर जिस तरह का परिश्रम भाजपा के कार्यकर्ता ने किया है उसको दो हाथ जोड़कर वंदन करने के अलावा कोई पुरस्कार नहीं दिया जा सकता। मैं मंच से भाजपा राजस्थान के सबसे छोटे से छोटे कार्यकर्ता को मंच से वंदन करता हूं। आज देश में भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी है। और मुझे कहने में कोई झिझक नहीं है कि राजस्थान की जनता के आशीर्वाद से ही पूर्ण बहुमत मिला है। राजस्थान में 25 की 25 सीटें राजस्थान की जनता

कांग्रेस के दस वर्ष के मुकाबले मोदी का एक वर्ष बेहतर

इमेज
मोदी सरकार का एक वर्ष ---------------------------- पिछले एक साल में मोदी सरकार ने दुनिया भर में बढ़ाया भारत का मान: जेटली केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को यहां कहा कि पिछले एक साल में देश में शासन में आमूलचूल बदलाव देखा गया है। यह बदलाव सिर्फ निर्णायक रूप से ही नहीं, बल्कि तेजी, स्पष्टता और पारदर्शिता के संदर्भ में भी है, जिससे वैश्विक स्तर पर देश को सम्मान मिला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के पूरे होने जा रहे एक वर्ष के मौके पर आयोजित संवाददाता सम्मेलन में जेटली ने कहा कि विकास और वृद्धि दर बढ़ाने के लिए लगभग रोजाना और साप्ताहिक आधार पर फैसले किए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले साल 26 मई को पदभार संभाला था। उन्होंने कहा,'विरोध की स्थिति में भी निर्णय लेने की क्षमता मोदी सरकार की विशेषता है। सरकार को किस दिशा में आगे बढ़ना है, उसके बारे में पूरी स्पष्टता है और यह रास्ता वृद्धि और विकास की ओर जाता है।' उन्होंने कहा कि रेलवे, बिजली, कोयला, खनन, ग्रामीण सड़कें, दूरसंचार, राजमार्ग, शहरी विकास, वित्तीय सेवाएं, सब्सिडी और पेट्रोलियम जैसे