पोस्ट

जनवरी 1, 2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

हर बारह साल में शिवलिंग पर गिरती है बिजली

इमेज
बिजली महादेव- कुल्लू - हर बारह साल में शिवलिंग पर गिरती है बिजली भारत में भगवन शिव के अनेक अद्भुत मंदिर है उन्हीं में से एक है हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में स्थित  बिजली महादेव। कुल्लू का पूरा इतिहास बिजली महादेव से जुड़ा हुआ है। कुल्लू शहर में ब्यास और पार्वती नदी के संगम के पास एक सीधी चढ़ाई वाले ऊंचे पर्वत के ऊपर बिजली महादेव का प्राचीन मंदिर है। पूरी कुल्लू घाटी में ऐसी मान्यता है कि यह घाटी एक विशालकाय सांप का रूप है। इस सांप का वध भगवान शिव ने किया था। जिस स्थान पर मंदिर है वहां शिवलिंग पर हर बारह साल में भयंकर आकाशीय बिजली गिरती है। बिजली गिरने से मंदिर का शिवलिंग खंडित हो जाता है। यहां के पुजारी खंडित शिवलिंग के टुकड़े एकत्रित कर मक्खन के साथ इसे जोड़ देते हैं। कुछ ही माह बाद शिवलिंग एक ठोस रूप में परिवर्तित हो जाते हैं। इस शिवलिंग पर हर बारह साल में बिजली क्यों गिरती है और इस जगह का नाम कुल्लू कैसे पड़ा इसके पीछे एक पौराणिक कथा है जो इस प्रकार है। रहता था कुलान्त राक्षस कुल्लू घाटी के लोग बताते हैं कि बहुत पहले यहां कुलान्त नामक दैत्य रहता था। दैत्य कुल्लू के पास की

हिंदुस्तान भगवान राम की धरती है : अजीज कुरैशी

इमेज
पैगंबर ने भी माना था हिंदुस्तान भगवान राम की धरती है : अजीज कुरैशी News18  | Fri Jan 01, 2016  http://hindi.news18.com/news/uttarakhand/former-governor-aziz-qureshi-says-india-is-a-land-of-ram-1209346.html उत्तराखंड से मिजोरम स्थानांतरित राज्यपाल डॉक्‍टर अजीज कुरैशी एक बार फिर अपने बयान को लेकर चर्चा में हैं। अजीज कुरैशी ने हिन्‍दुस्‍तान को भगवान राम की धरती बताया है। कहा कि इस्लाम के पैगंबर ने भी हिंदुस्‍तान को भगवान राम की धरती बताया है। भगवान राम का वजूद मनवाने के लिए किसी के आदेश की जरूरत नहीं है। विश्व में वह बदनसीब व्यक्ति हैं जो भगवान राम के वजूद को नहीं मानते हैं। राज्‍यपाल ने यहां तक कह डाला कि भगवान राम के आदर्शों को अपनाए बिना विश्‍व का कल्‍याण संभव नहीं है। महामहिम ने ये बातें हरिद्वार के प्रेमनगर आश्रम में आयोजित कार्यक्रम और उसके बाद राजभवन में पत्रकारों से बातचीत में कही। अजीज कुरैशी ने कहा कि उत्तराखंड के लिए उनकी कई योजनाएं थीं, लेकिन उन योजनाओं को धरातल पर उतारने के ख्वाब पूरे नहीं हो सके। इस पर अफसोस जताते हुए उन्होंने कहा कि वे मिजोरम में जाकर गाय,