पोस्ट

अक्तूबर 13, 2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

विजयादशमी : ‘जय श्रीराम’ - ‘जय जय श्रीराम’ : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

इमेज
ऐशबाग की रामलीला में मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें Posted on: October 12, 2016 http://khabar.ibnlive.com/news लखनऊ। मंगलवार को विजयादशमी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लखनऊ की ऐतिहासिक ऐशबाग की रामलीला में शामिल हुए। प्रधानमंत्री मोदी ने दशहरा कार्यक्रम में अपने 25 मिनट के भाषण में मन के रावण को दूर करने से आतंक के रावण को हराने की बात की। पीएम के भाषण की 10 बड़ी बातें क्या थीं, जानिए- -मोदी ने अपने भाषण का समापन भी ‘जय श्रीराम’ और ‘जय जय श्रीराम’ के उद्घोष के साथ किया। मैदान में मौजूद जनता ने उनका साथ दिया और पूरे वातावरण में जय श्रीराम का उद्घोष गूंज उठा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिलाओं के लिए समान अधिकार की वकालत करते हुए लोगों से अपील की कि लड़के और लड़की के बीच भेदभाव बंद होना चाहिए और ‘अपने घरों की सीता’ को बचाना चाहिए। -प्रधानमंत्री ने सवाल किया कि आतंकवाद के खिलाफ सबसे पहले कौन लड़ा था? फिर खुद ही जवाब दिया, ‘रामायण गवाह है कि आतंकवाद के खिलाफ सबसे पहले जिसने लड़ाई लडी थी, वो जटायू ने लड़ी थी। एक नारी की रक्षा के लिए रावण जैसी सामर्थ्यवान शक्ति के खिलाफ जटायू

भाजपा ही यूपी में आ रही है - अरविन्द सिसोदिया

इमेज
मायावती को याद रहे !! लोक सभा चुनाव यूपी 2014 के परिणाम  कम से कम बडबोली मायावती को याद रहने चाहिये।  - अरविन्द सिसोदिया, जिला महामंत्री भाजपा कोटा राजस्थान यूपी से मोदी ने किया सबका सफाया, BSP को 0, यादव-गांधी परिवार छोड़ SP और कांग्रेस भी खत्म  सौरभ द्विवेदी नई दिल्‍ली, 16 मई 2014 | http://aajtak.intoday.in नरेंद्र मोदी ने अपना एक चुनावी वायदा आज ही निभा दिया. मोदी ने उत्तर प्रदेश की हर रैली में कहा था, 'सबका साफ करो'. स से सपा, ब से बसपा और क से कांग्रेस. मोदी की लहर और उनके सेनापति अमित शाह का कहर. यूपी से बसपा, कांग्रेस और सपा तीनों साफ हो गए. बच गए तो बस कांग्रेस का गांधी परिवार और सपा का यादव परिवार. इनके अलावा सब हारे और बुरी तरह हारे. राज्य की दो अहम पार्टियां मायावती की बहुजन समाज पार्टी और चौधरी अजीत सिंह की राष्ट्रीय लोकदल तो खाता भी नहीं खोल पाई. बसपा के इतिहास में ये पहला मौका है, जब वह चुनाव में उतरे और जीरो पर अटके. और जिन चौधरी चरण सिंह की विरासत संभालने का क्या मुलायम क्या अजित सिंह, सभी दावा करते हैं, उन्हीं के पुत्र की पार्टी भी लोकसभा से