पोस्ट

नवंबर 21, 2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

नोटबंदी से अमीर-गरीब की खाई कम होगी : राजनाथ सिंह

इमेज
नोटबंदी से अमीर-गरीब की खाई  कम  होगी : राजनाथ सिंह http://naidunia.jagran.com अमीर-गरीब की खाई कम करेगी नोटबंदी : राजनाथ Published: Sat, 19 Nov 2016 नई दिल्ली। नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों की एकजुटता के बीच गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इसे राजनीतिक शुचिता लाने वाला कदम बताया है। उन्होंने कहा कि इससे गरीब और अमीर के बीच खाई कम करने में भी मदद मिलेगी। नोटबंदी से आम जनता को हुई दिक्कतों को स्वीकार करते हुए उन्होंने कहा कि यह थोड़े दिनों की बात है। जल्द ही स्थिति सामान्य हो जाएगी। राजनाथ सिंह ने 500 और 1000 रुपये के नोट बंद करने को ऐतिहासिक और साहसिक बताते हुए कहा कि इससे आतंकियों और नक्सलियों पर लगाम लगाने में मदद मिलेगी। पाकिस्तान में छपे नकली नोट आतंकी फंडिंग का मुख्य स्त्रोत थे। लेकिन नोट बंद होने के बाद इस पर पूरी तरह रोक लग गई है। इसी तरह अपहरण और लेवी वसूलकर नक्सलियों ने सैंकड़ों करोड़ रुपए जमा किये थे। अब नक्सलियों के लिए अपनी गतिविधियां चलाना मुश्किल होगा। ध्यान देने की बात यह है कि रक्षामंत्री मनोहर पर्रीकर पहले ही कह चुके हैं कि नोटबंदी की मार के बाद कश्मीर में विरो

प्रधानमंत्री मोदी के साथ मिलकर इन भ्रष्टाचारियों के फन को कुचलना है- उमा भारती

इमेज
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘सांपों के बिलों’ में हाथ डाल दिया है : उमा भारती भाषा, अंतिम अपडेट: सोमवार 21 नवम्बर  2016 1-उमा ने नोटबंदी की बावत पूछे गए सवालों के जवाब में कहा 2-नोटबंदी के फैसले से अब यह सभी सांप बौखलाये हुए हैं 3-प्रधानमंत्री के साथ मिलकर इन भ्रष्टाचारियों के फन को कुचलना है. मेरठ: केन्द्रीय जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्री उमा भारती ने रविवार को मेरठ में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 1000 और 500 के नोट बंद कर ‘सांपों के बिलों’ में हाथ डाल दिया है. यहां गांव मुजक्कीपुर में एक कार्यक्रम में संवाददाताओं से उमा ने नोटबंदी की बावत पूछे गए सवालों के जवाब में कहा कि नोटबंदी के फैसले से अब यह सभी सांप बौखलाये हुए हैं और अपना-अपना फन उठाये हुए हैं, पूरे देश की जनता को अब प्रधानमंत्री के साथ मिलकर इन भ्रष्टाचारियों के फन को कुचलना है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के इस फैसले से आम आदमी को नहीं बल्कि आम आदमी पार्टी को परेशानी हो रही है. आम जनता इस फैसले की अहमियत जानती है और वह इससे खुश है. भ्रष्टाचारियों और काले धन वालों से निकलने वाले इस