पोस्ट

नवंबर 10, 2018 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

नोट बंदी की 101 उपलब्धियां

इमेज
नोट बंदी की 101 उपलब्धियां  नोट बंदी देश का पुर्नउद्धार है, इसके बाद जमाखोरी लगभग खत्म हुई है। गरीबों के कल्याण की योजनाओं के लिये पैसा आया है। मंहगाई पर नियंत्रण हुआ है। बिना हिसाब किताब का पैसा बाजार से खत्म हुआ है। टैक्स वास्तविक रूप में मिलने लगा हे। टैक्स चोरी खत्म हुई है। उत्तरप्रदेश में प्रचण्ड बहूमत नोट बंदी के बाद ही भाजपा को मिला था। 01- नोटबंदी के बाद 16.6 खरब नोट सिस्टम में वापस आ गए। 16 हजार करोड़ रुपये को छोड़कर सभी कैश बैंक में जमा हो जाने से बिना हिसाब वाले पैसों का पता चला। 02- अधिकतर कैश के बैंकिंग सिस्टम आने से इस पैसे को कानूनी दर्जा मिला और नोटबंदी अवैध धन रखने वालों के खिलाफ एक्शन लेने का एक जरिया बना है। 03- कासा यानी चालू खाता, बचत खाता जमाओं में कम से कम 2.50-3.00 प्रतिशत की वृद्धि हुई। 04- मुद्रा बाजार की ब्याज दरों में गिरावट हुई और म्युचुअल फंडों के साथ बीमा क्षेत्र में धन का प्रवाह बढ़ा। 05- आयकर विभाग ने संदिग्ध लेन-देन को लेकर 517 नोटिस जारी किए थे, जिसके बाद 1833 करोड़ रुपये की 541 संपत्तियां जब्त की गई। 06- नोटबंदी के बाद 17.73 लाख संदिग्‍ध मा