पोस्ट

अप्रैल 11, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

कोरोना की संजीवनी:हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन और एजिथ्रोमाइसिन

इमेज
कोरोना की संजीवनी:हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन और एजिथ्रोमाइसिन 1061 मरीजों को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन और एजिथ्रोमाइसिन दी, 98% तंदुरुस्त हुए, कार्डियक का खतरा भी नहीं प्रोफेसर रोल्ट के मुताबिक, नतीजों में यह भी पता चला कि इस इलाज से किसी भी तरह का कार्डियक खतरा नहीं है। कोरोनावायरस की नई दवा की खोज से पहले फ्रांस के मार्सिले में की गई सबसे बड़ी स्टडी इलाज के दौरान सिर्फ पांच मरीजों की मौत, ये 74 से 95 साल के थे दैनिक भास्करApr 11, 2020, पेरिस. कोरोनावायरस के इलाज के लिए दो दवाओं की सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है। इनका नाम हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन और एजिथ्रोमाइसिन है। इस दवा से ही फ्रांस, चीन, भारत समेत अधिकांश देशों में इलाज हो रहा है और मरीज तेजी से ठीक भी हो रहे हैं। भारत में यह दवा पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। यही वजह है कि अमेरिका सहित दुनिया के कई देश भारत से इसकी मांग कर रहे हैं। फ्रांस में कोरोना के 1061 मरीजों पर लगातार 3 दिनों तक इन दोनों दवाओं के जरिए इलाज किया गया। नौंवे दिन जब जांच की गई तो 973 मरीज (91.7%) पूरी तरह संक्रमणमुक्त हो गए। नतीजों में यह भी पता चला कि इस इल