संदेश

जुलाई 28, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

राहुलजी की पोल न खुल जाये - अरविन्द सिसौदिया

चित्र
      राहुलजी की पोल न खुल जाये - अरविन्द सिसौदिया कांग्रेस की असलियत यह है कि वह राहुल गांधी को महत्वपूर्ण चर्चाओं से बचा कर रखना चाहती है ताकि राहुलजी की पोल न खुल जाये, कई बयानों से वे पहले भी ओने पौने हो चुके है।यू भी जग जाहिर है कि राहुल जहां - जहां जाते हैं वहां - वहां से कांग्रेस साफ हो जाती है । मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का कथन सही प्रतीत होता है कि “ राहुल गांधी हमेशा बौद्धिक चर्चा से दूर भागते है।” वहीं वह कांग्रेस के किसी अन्य नेता को भी हीरो नहीं बनने देना चाहती ताकि कल को युवराज को कोई नई चुनौती न आ जाये । श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया, सचिन पायलेट और जतिन प्रसाद की लोकप्रियता से वह पहले ही व्यवधान युक्त है। इसलिये उसने आरोप लगाओ भाग जाओ, हुल्लड करो काम मत करने दो की नीति अपनाई है। कांग्रेस अब अगले लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुट गई है वह अब कोई भी रिस्क नहीं उठाना चाहती । इसका सीधा सीधा रास्ता भी यही है कि खुद को बचाते हुये बधायें उत्पन्न करवाते रहो । फिर सामने आ जाओ। यह जनता पार्टी सरकार के समय भी किया गया था। पंजाब से ही तब शिरूआत हुई थी । बाद में आये परिण

केरल में कोरोना विस्फोट तुष्टिकरण की राजनीति से

चित्र
      केरल में कोरोना विस्फोट तुष्टिकरण की राजनीति से भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ संबित पात्रा की प्रेस वार्ता के मुख्य बिंदु जिस समय देश कोरोना से लड़ रहा था तब कांग्रेस को संसद में चर्चा करनी थी. आज जब संसद का सत्र चल रहा है तो कांग्रेस उसे चलने नहीं दे रही है. लोगों ने इन्हें संसद में बहस करने के लिए चुना है. कोरोना जैसे महत्वपूर्ण मुद्दे को छोड़कर कांग्रेस केवल और केवल संसद के नहीं चलने देने का बहाना खोजती रहती है. ****************** राहुल गांधी कह रहे हैं कि उनके फोन में हथियार डाल दिया गया है. अगर हथियार डाल दिया गया तो इतने दिन तक राहुल गांधी चुप क्यों बैठे रहे? इसपर उन्होंने FIR दर्ज की क्या? ****************** कांग्रेस और विपक्ष के लिए कोरोना से बड़ा पेगासस मुद्दा हो गया है. जब पूरा देश कोरोना से लड़ रहा था तब ये सभी घरों में दुबके बैठे थे. राहुल गांधी का मतलब ही गैर जिम्मेदार होना है। ****************** राहुल गांधी कह रहे हैं विपक्ष एक साथ है. 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले भी ऐसी तस्‍वीर आई थी लेकिन गठबंधन का क्या नतीजा निकला, यह सबको मालूम है. गठबंधन में शामिल