पोस्ट

मई, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

स्वतंत्रता संग्राम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की भूमिका

इमेज
स्वतंत्रता संग्राम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की भूमिका डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार का जन्म 1898 में हुआ। महात्मा गांधी के नेतृत्व में तीन सत्याग्रह हुए : 1921, 1930 और 1942। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संस्थापक डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार ने अपने निधन (1940) से पहले 1921 और 1930 के सत्याग्रहों में भाग लिया था और उन्हें कारावास भी सहना पड़ा। डॉ. मनमोहन वैद्य लिखते है, “एक योजनाबद्ध तरीके से आधा इतिहास बताने का एक प्रयास चल रहा है। भारत के लोगों को ऐसा मानने के लिए बाध्य किया जा रहा है कि स्वतंत्रता केवल कांग्रेस के और 1942 के सत्याग्रह के कारण मिली है। और किसी ने कुछ नहीं किया। यह बात पूर्ण सत्य नहीं है। गांधी जी ने सत्याग्रह के माध्यम से, चरखा और खादी के माध्यम से सर्व सामान्य जनता को स्वतंत्रता आन्दोलन में सहभागी होने का एक सरल एवं सहज तरीका, साधन उपलब्ध कराया। लाखों की संख्या में लोग स्वतंत्रता आन्दोलन से जुड़ सके, यह बात सत्य है। परन्तु सारा श्रेय एक ही आन्दोलन या पार्टी को देना यह इतिहास से खिलवाड़ है, अन्य सभी के प्रयासों का अपमान है।” (पांचजन्य, 17 सितंबर, 2018) शुरूआत

मोदी का आत्मनिर्भर भारत अभियान

इमेज
PM मोदी का आत्मनिर्भर भारत अभियान : 20 लाख करोड़ का पैकेज की पूरी जानकारी May 18, 2020   0 Comments PM Modi's Atmanirbar Bharat abhiyan: complete information of 20 lakh crore economy package देश इन दिनों कोरोना संकट से जूझ रहा है, लगभग 2 महीने से देश को lockdown किया  गया है, जिसकी वजह से देश की अर्थव्यवस्था ठप पड़ गई है. इस  lockdown का  सबसे बढ़ा असर छोटे उद्योगों, मजदूरों,  प्रवासी श्रमिकों, पटरी-रेहड़ी कारोबारी, छोटे व्यापारियों, किसानों आदि पर पड़ा है. देश की लड़खड़ाती अर्थव्यवस्था को एक बार फिर से पटरी पर लाने के लिए  PM MODI ने 12 मई शाम 8 बजे के संबोधन में 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा की है . जो भारत की  GDP का लगभग 10 प्रतिशत है . प्रधानमंत्री ने कहा कि देश को आत्मनिर्भर बनाने का यह सही समय है. भारत ने आपदा को अवसर में बदल दिया है और इस समय पूरी दुनिया भारत की तरफ उम्मीदें लगा  कर देश रही है. भारत की प्रगति के  लिए आत्मनिर्भरता,  आत्मविश्वास जरुरी है और इसी लिए आत्मनिर्भर भारत अभियान की पहल की गई है,  Atmanirbhar Bharat Abhiyan  के तहत ही 20 लाख करो