पोस्ट

मार्च, 2012 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

रामनवमी :Ram Navami : Lord Ram

इमेज
Ram Navami: Sunday, 1 April 2012 मंगल भवन अमंगल हारी, दॄवहुसु दशरथ अजिर बिहारि ॥ अगस्त्य संहिताके अनुसार चैत्र शुक्ल नवमी के दिन पुनर्वसु नक्षत्र, कर्क लग्‍न में जब सूर्य अन्यान्य पाँच ग्रहों की शुभ दृष्टि के साथ मेष राशि पर विराजमान थे, तभी साक्षात्‌ भगवान्‌ श्रीराम का माता कौसल्या के गर्भ से जन्म हुआ। चैत्र शुक्ल नवमी का धार्मिक दृष्टि से विशेष महत्व है। आज ही के दिन तेत्रा युग में रघुकुल शिरोमणि महाराज दशरथ एवं महारानी कौशल्या के यहाँ अखिल ब्रम्हांड नायक अखिलेश ने पुत्र के रूप में जन्म लिया था। दिन के बारह बजे जैसे ही सौंदर्य निकेतन, शंख, चक्र, गदा, पद्म धारण कि‌ए हु‌ए चतुर्भुजधारी श्रीराम प्रकट हु‌ए तो मानो माता कौशल्या उन्हें देखकर विस्मित हो ग‌ईं। उनके सौंदर्य व तेज को देखकर उनके नेत्र तृप्त नहीं हो रहे थे। Ram Navami is commemorated in Hindu households by puja (prayer). The items necessary for the puja are roli, aipun, rice, water, flowers, a bell and a conch. After that, the youngest female member of the family applies teeka to all the members of the family. Ever

दुर्गा के नौ स्वरुप : नवरात्र की पूजा

इमेज
नव दुर्गा की आराधना जिस प्रकार सृष्टि या संसार का सृजन ब्रह्मांड के गहन अंधकार के गर्भ से नवग्रहों के रूप में हुआ , उसी प्रकार मनुष्य जीवन का सृजन भी माता के गर्भ में ही नौ महीने के अन्तराल में होता है। मानव योनि के लिए गर्भ के यह नौ महीने नव रात्रों के समान होते हैं , जिसमें आत्मा मानव शरीर धारण करती है। नवरात्र का अर्थ शिव और शक्ति के उस नौ दुर्गाओं के स्वरूप से भी है , जिन्होंने आदिकाल से ही इस संसार को जीवन प्रदायिनी ऊर्जा प्रदान की है और प्रकृति तथा सृष्टि के निर्माण में मातृशक्ति और स्त्री शक्ति की प्रधानता को सिद्ध किया है। दुर्गा माता स्वयं सिंह वाहिनी होकर अपने शरीर में नव दुर्गाओं के अलग-अलग स्वरूप को समाहित किए हुए है। शारदीय एवं चैत्र नवरात्र में इन सभी नव दुर्गाओं को प्रतिपदा से लेकर नवमी तक पूजा जाता है। इन नव दुर्गाओं के स्वरूप की चर्चा महर्षि मार्कण्डेय को ब्रह्मा जी द्वारा इस क्रम के अनुसार संबोधित किया है। प्रथमं शैलपुत्री च द्वितीयं ब्रह्मचारिणी। तृतीयं चन्द्रघंटेति कूष्माण्डेति चतुर्थकम् ।। पंचमं स्क्न्दमातेति षष्ठं कात्यायनीति च । सप्तमं कालरा

टैट्रा ट्रकों की खरीद में गड़बड़ी ,रक्षा मंत्री एके एंटनी इस्‍तीफा दे...

इमेज
'एंटनी जवाब दें, नहीं तो इस्‍तीफा दे' Date: 3/30/2012 रक्षा सौदों में गड़बड़ी की शिकायतों के बारे में एक के बाद एक खुलासे से सरकार की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं। एंटनी को रक्षा सौदों में गड़बड़ी के बारे में पहले से जानकारी होने की बात के जरिये सामने आने के बाद बीजेपी ने भी सरकार पर हमला बोल दिया है। बीजेपी के प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, 'मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक 2009 में ही एंटनी को टैट्रा घोटाले की जानकारी मिली थी। यदि अब भी एंटनी के पास कोई जवाब नहीं है तो उन्‍हें इस्‍तीफा दे देना चाहिए। वहीं, बीजेपी प्रवक्‍ता मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने कहा, सरकार इस मुद्दे पर लीपापोती करने में जुटी है। एक के बाद एक सफाई देने की कोशिश में मसले को उलझा रही है।' चिट्ठी लीक पर मचे बवाल के बाद आर्मी चीफ जनरल वी के सिंह आज पहली बार मीडिया के सामने आए। लेकिन उन्‍होंने इस विवाद पर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। चिट्ठी  लीक मामले की जांच आईबी कर रही है। वीके सिंह ने डिफेंस एक्‍सपो में कहा कि सेना चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार है। जनरल ने कहा, ‘सेना के लिए 70 फीसदी उपकर

जनरल वी के सिंह को घूस का ऑफर प्रकरण , ४० लाख का टाट्रा ट्रक, १ करोड़ से भी अधिक में सेना की सप्लाई में

इमेज
- अरविन्द सिसोदिया , आज का दिन जनरल के पक्ष का रहा , रक्षा मंत्री  का  यह दावा ख़त्म हो गया की लिखित शिकायत नहीं थी । वैसे तो मंत्री स्तर के व्यक्ती से सेना का मुख्य जनरल कोई बात कह रहा हो तब , यह बात हल्की ही थी की कोई लिखित शिकायत नहीं... मगर लिखित शिकायत तो कई वर्ष पहले से थी...... यह बात सामने आनें के बाद अब रक्षा मंत्री के पास बचाव का कोई साधन नहीं बचा .....इसी कारण अब मंत्री से इस्तीफा  मांगा जा रहा हे....यूँ भी अब इतनी  किरकिरी होने के बाद उन्हें  पद पर बने रहने का हक़ नहीं बचाता ... ------   40 लाख में मिल जाते हैं  सेना को एक करोड़ में बेचे गए ट्रक! आईबीएन-7 Mar 30, २०१२ http://khabar.ibnlive.in.com  नई दिल्ली। सेना में अब तक 7000 टाट्रा ट्रक खरीदे गए हैं। दशकों से ये खरीद चल रही है लेकिन सेनाध्यक्ष वीके सिंह ने एक झटके में इस सारी खरीद पर सवाल उठा दिए। उन्हें घूस का ऑफर करने वाले दलाल ने ये कहकर सारी खरीद को सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया कि आपसे पहले भी लोग पैसे लेते थे और आपके बाद भी लोग पैसे लेंगे। जाहिर है ये बयान जनरल वी के सिंह को मनाने की कोशिश में द

सेना प्रमुख सिंह के बयान : जांच न्यायिक हो या जे पी सी करे

इमेज
- अरविन्द सिसोदिया टाट्रा ट्रकों की खरीद का निर्णय प्रधान मंत्री राजीव गांधी के कार्यकाल से जुड़ा हे ....सब जानते हें की यह सप्लाई उनके मित्र रवि श्रिशी से १९८६ में हुआ था .., तब ही जब बोफोर्स का हुआ था .., राजस्थान, कोटा  से प्रकाशित राष्ट्रदूत  के अंक दिनांक २९ व ३० मार्च के अंकों में बड़ी रिपोर्ट हे ... अतः इस पूरे मामले की जांच न्यायिक हो या जे पी सी करे ...सी बी आई की जाँच सिर्फ और सिर्फ लीपापोती करेगी ........ ------------------- सेना प्रमुख सिंह के बयान पर विवाद रक्षा मंत्री ने की सीबीआई जांच की सिफारिश नई दिल्ली, मंगलवार, 27 मार्च २०१२ थल सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह के इन आरोपों के बाद सरकार नए विवाद से घिर गई कि उन्हें एक सौदे को मंजूरी देने के लिए 14 करोड़ रुपए की रिश्वत की पेशकश की गई थी। मामले से सकते में आए रक्षा मंत्रालय ने सीबीआई जांच का आदेश दिया है। थलसेना प्रमुख के आरोपों पर सोमवार को संसद के दोनों सदनों में हंगामा हुआ और विपक्ष ने इन्हें गंभीर करार देते हुए सरकार पर कोई कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया। जनरल सिंह ने एक इंटरव्यू में दावा किया था कि एक

जनरल सिंह ने देश पर उपकार किया है

इमेज
- अरविन्द सिसोदिया ***** कोटि - कोटि प्रमाण ***** जनरल सिंह ने सेना के सच के लिये, कोयला और 2जी स्पेक्ट्रम घोटालों में व्यस्त कांग्रेस सरकार को चेता कर देशहित का बडा काम किया है। उन्हे मां भारती की ओर से कोटि - कोटि प्रमाण.......... जनरल सिंह सही हैं और कांग्रेस सरकार गलत है........ आखिर कब होगा सेना का आधुनिकी करण.....? सेना की गुप्त रिपोटों को तो छोडिये.....रक्षा विभाग से सम्बंधित संसदीय समिति की बैठकों की अनेकानेक रिर्पोटों, कैग की चेतावनीयां और सामरिक उत्पादनों की आत्म निर्भरता के विश्लेषण गवाही देते है। कि भारत सरकार ने सेना की आधुनिकता के साथ गंभीरतम लापरवाहियां की हैं और उसे आज भी विदेशी रक्षा उत्पादकों का मौहताज बना रखा है। सिंह तुम संघर्ष करो देश तुम्हारे साथ है। जनरल की बात गौर से सुनो ओर सेना को तुरंत उन्नत करो....! समय रहते सेना का सच उजागर कर,जनरल सिंह ने देश पर उपकार किया है। ‘हजार फीसदी सच हैं जनरल के दावे’ dainikbhaskar.com (28/03/12)        http://www.bhaskar.com नई दिल्‍ली. सेना की बदहाली के बारे में आर्मी चीफ जनरल वीके सिंह की ओर से पीएम को लिखी

भगवान राम

इमेज
श्रीराम के पाँच गुण   नीति-कुशल व न्यायप्रिय श्रीराम भगवान राम विषम परिस्थितियों में भी नीति सम्मत रहे। उन्होंने वेदों और मर्यादा का पालन करते हुए सुखी राज्य की स्थापना की। स्वयं की भावना व सुखों से समझौता कर न्याय और सत्य का साथ दिया। फिर चाहे राज्य त्यागने, बाली का वध करने, रावण का संहार करने या सीता को वन भेजने की बात ही क्यों न हो।  सहनशील व धैर्यवान  सहनशीलता व धैर्य भगवान राम का एक और गुण है। कैकेयी की आज्ञा से वन में 14 वर्ष बिताना, समुद्र पर सेतु बनाने के लिए तपस्या करना, सीता को त्यागने के बाद राजा होते हुए भी संन्यासी की भांति जीवन बिताना उनकी सहनशीलता की पराकाष्ठा है।  दयालु व बेहतर स्वामी  भगवान राम ने दया कर सभी को अपनी छत्रछाया में लिया। उनकी सेना में पशु, मानव व दानव सभी थे और उन्होंने सभी को आगे बढ़ने का मौका दिया। सुग्रीव को राज्य, हनुमान, जाम्बवंत व नल-नील को भी उन्होंने समय-समय पर नेतृत्व करने का अधिकार दिया।  दोस्त  केवट हो या सुग्रीव, निषादराज या विभीषण। हर जाति, हर वर्ग के मित्रों के साथ भगवान राम ने दिल से करीबी रिश्ता निभाया। दोस

BJP : Time-Line (Chronology)

इमेज
बी  जे पी राष्ट्रिय अधक्ष  लिंक  http://www.bjp.org    Bharatiya Jana Sangh 1951 - 1977 Janata Party 1977 - 1979 Bharatiya Janata Party 1980 Chronological List of Bharatiya Jana Sangh Presidents S.No. Name Year 1 Dr. S.P. Mookerjee 1951 2 Dr. S.P. Mookerjee 1952 3 Pt. Mauli Chandra Sharma 1954 4 Pt. Prem Nath Dongra 1955 5 Acharya D.P. Ghosh 1956 6 Acharya D.P. Ghosh 1956 7 Acharya D.P. Ghosh 1958 8 Acharya D.P. Ghosh 1958 9 Shri Pitamber Das 1960 10 Shri A. Rama Rao 1961 11 Acharya D.P. Ghosh 1962 12 Acharya D.P. Ghosh 1963 13 Shri Bachhraj Vyas 1965 14 Shri Balraj Madhok 1966 15 Pt. Deen Dayal Upadhyaya 1967 16 Shri Atal Bihari Vajpayee 1969 17 Shri Atal Bihari Vajpayee 1969 18 Shri Atal Bihari Vajpayee 1971 19 Shri Lal Krishna Advani 1973 Chronological List of Bharatiya Janata Party Presidents S.No.