पोस्ट

2019 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

नागरिकता (संशोधन) :पाकिस्तान के प्रथम कानून मंत्री योगेन्द्रनाथ मंडल का खत

इमेज
नागरिकता (संशोधन) कानून का विरोध करने से पहले योगेन्द्रनाथ मंडल का खत पढ़ लें पाकिस्तान से वहां के इस्लामी शासन के विभेदकारी कारनामों के कारण प्रताड़ित होकर भारत आ रहे हिन्दुओं को भारतीय नागरिकता प्रदान करने सम्बन्धी नागरिकता (संशोधन) विधेयक-2019 पारित हो जाने पर अपनी छाती पीटने वालों को पाकिस्तान के प्रथम कानून मंत्री योगेन्द्रनाथ मंडल का लिखा खत पढ़ लेना चाहिए। तब उन्हें समझ में आ जाएगा कि यह विधेयक क्यों जरूरी था। पाकिस्तान बन जाने के कुछ ही दिनों बाद वहां मुस्लिम लीग के कारिन्दों द्वारा गैर-मुस्लिमों को निशाना बनाया जाने लगा था। हिन्दुओं के साथ लूट-मार और बलात्कार की घटनाएं सामने आने लगीं। मंडल ने इस विषय पर सरकार को कई खत लिखे। लेकिन पाकिस्तानी सरकार ने उनकी एक न सुनी। उल्टे योगेन्द्रनाथ मंडल को ही मंत्रिमण्डल से बाहर करने के लिए उनकी देशभक्ति पर संदेह किया जाने लगा। मंडल को इस बात का एहसास हुआ कि जिस पाकिस्तान को उन्होंने अपना घर समझा था, वह उनके रहने लायक नहीं है। मंडल बहुत आहत हुए। उन्हें विश्वास था कि पाकिस्तान में दलित-हिन्दुओं के साथ अन्याय नहीं होगा। किन्तु, करीबन

इकलौता बेटा : करोड़पति मां का कंकाल

इमेज
भारतीय संस्कृति बचाओ पवित्र परिवार बनाओ  - अरविन्द सिसौदिया, जिला महामंत्री भाजपा कोटा !!! 9414180151 मुम्बई की करोड़पति स्त्री का शव है। एक करोड़पति NRI पुत्र की माँ की लाश है। #जरूर_पढ़ें यह मुम्बई की करोड़पति स्त्री का शव है। एक करोड़पति NRI पुत्र की माँ की लाश है। लगभग 10 माह से 7 करोड़ के फ़्लैट में मरी पड़ी थी। अमेरिका में रहने वाले इंजीनियर ऋतुराज साहनी लंबे अरसे बाद अपने घर मुंबई लौटे, तो घर पर उनका सामना किसी जीवित परिजन की जगह अपनी मां के कंकाल से हुआ। बेटे को नहीं मालूम कि उसकी मां आशा साहनी की मौत कब और किन परिस्थितियों में हुई। आशा साहनी के बुढ़ापे की एकमात्र आशा 'उनके इकलौते बेटे' ने खुद स्वीकार किया कि उसकी मां से आखिरी बातचीत कोई सवा साल पहले बीते साल अप्रैल में हुई थी। 23 अप्रैल 2016 को मां ने ऋुतुराज से कहा था कि बेटा! अब अकेले नहीं रह पाती हूँ। या तो अपने पास अमेरिका बुला लो या फिर मुझे किसी ओल्डएज होम में भेज दो। बेटे ऋतुराज ने आशा साहनी को ढाढस दिया कि मां फिक्र न करे, वह जल्द ही इंडिया आएगा। डोनाल्ड ट्रंप के अमेरिका में किसी भारतीय का नौकरी

अयोध्या मामले से :न्यायपालिका के प्रति, देश का सम्मान और बढ़ा - प्रधानमंत्री मोदी

इमेज
https://www.narendramodi.in/hi/mann-ki-baat अयोध्या मामले में:न्यायपालिका के प्रति, देश का सम्मान और बढ़ा - प्रधानमंत्री मोदी मेरे प्यारे देशवासियो, ‘मन की बात’ में आप सबका स्वागत है | आज मन की बात की शुरुआत, युवा देश के, युवा, वो गर्म जोशी, वो देशभक्ति, वो सेवा के रंग में रंगे नौजवान, आप जानते हैं ना | नवम्बर महीने का चौथा रविवार हर साल NCC Day के रूप में मनाया जाता है | आमतौर पर हमारी युवा पीढ़ी को Friendship Day बराबर याद रहता है | लेकिन बहुत लोग हैं जिनको NCC Day भी उतना ही याद रहता है | तो चलिए आज NCC के बारे में बातें हो जाए | मुझे भी कुछ यादें ताजा करने का अवसर मिल जाएगा | सबसे पहले तो NCC के सभी पूर्व और मौजूदा Cadet को NCC Day की बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूँ | क्योंकि मैं भी आप ही की तरह Cadet रहा हूँ और मन से भी, आज भी अपने आपको Cadet मानता हूँ | यह तो हम सबको पता ही है NCC यानी National Cadet Corps | दुनिया के सबसे बड़े uniformed youth organizations में भारत की NCC एक है | यह एक Tri-Services Organization है जिसमें सेना, नौ-सेना, वायुसेना तीनों ही शामिल हैं | Leadershi

Ayodhya Verdict: राम जन्मभूमि पर SC का फैसला

इमेज
Ayodhya Verdict: एक नजर में पढ़ें अयोध्या राम जन्मभूमि -बाबरी मस्जिद विवाद पर आया SC का फैसला By Ankur Sharma| Updated: Saturday, November 9, 2019, नई दिल्ली। देश के सबसे बहुचर्चित कोर्ट केस अयोध्या राम जन्मभूमि - बाबरी मस्जिद विवाद केस में शनिवार को फैसला आ गया है और इसके बाद अब तक विवादित रही जमीन पर रामलला विराजमान ही रहेंगे वहीं दूसरी तरफ सर्वोच्च न्यायालय ने मुस्लिम पक्ष को अलग से मस्जिद के लिए जमीन देने के निर्देश दिए हैं। आज पांच जजों की संवैधानिक पीठ ने इस मामले में एतिहासिक फैसला सुनाया है, बता दें कि इस बेंच ने लगातार 40 दिन की मैराथन सुनवाई के बाद बीती 16 अक्टूबर को फैसला सुरक्षित रख लिया गया था। इलाहाबाद हाई कोर्ट का फैसला अतार्किक: SC इलाहाबाद हाई कोर्ट द्वारा विवादित जमीन को तीन पक्षों में बांटने के फैसले को अतार्किक करार देते हुए कहा कि हाई कोर्ट ने जो तीन पक्ष माने थे, उसे दो हिस्सों में मानना होगा। कोर्ट ने कहा कि हाई कोर्ट द्वारा जमीन को तीन हिस्सों में बांटना तार्किक नहीं था। इससे साफ हो गया कि मामले में अब रामलला विराजमान और सुन्नी वक्फ बोर्ड दो पक्ष ही रह
राम दरबार है जग सारा राम दरबार है जग सारा https://bhaktitime.com/ram-darbar-hai-jag-sara/?fbclid=IwAR3FD65D5PAYVf5I4DMb3_pSqgHMFPqwm87LS3mvy2_PXxB10C14mNzlrdQ राम ही तीनो लोक के राजा, सबके प्रतिपला सबके आधारा राम दरबार है जग सारा. राम का भेद ना पाया वेद निगम हू नेति नेति उचरा राम दरबार है जग सारा. तीन लोक में राम का सज़ा हुआ दरबार, जो जहाँ सुमिरे वहीं दरस दें उसे राम उदार. जय जय राम सियाराम. जय जय राम सियाराम जय जय राम सियाराम जय जय राम सियाराम जय जय राम सियाराम जय जय राम सियाराम! राम में सर्व राम में सब माही रूप विराट राम सम नाहीं, जितने भी ब्रह्मांड रचे हैं, सब विराट प्रभु में ही बसें हैं !! रूप विराट धरे तो चौदह भुवन में नाहीं आते हैं, सिमटेई तो हनुमान ह्रदय में सीता सहित समाते हैं. पतित उधरन दीन बंधु पतितो को पार लगातें हैं, बेर बेर शबरी के हाथों बेर प्रेम से खाते हैं जोग जतन कर जोगी जिनको जनम जनम नहीं पाते हैं, भक्ति के बस में होकर के वे बालक भी बन जाते हैं. योगी के चिंतन में राम, मानव के मंथन में राम, तन में राम मन में राम, सृष्टि के कन कन में राम. आती जा

विजयादशमी :सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी

इमेज
विजयादशमी पर विशेष – राष्ट्र जागरण के अग्रिम मोर्चे पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (मंगलवार, 08 अक्तूबर 2019) आदरणीय प्रमुख अतिथि महोदय, इस उत्सव को देखने के लिए विशेष रूप से यहां पर पधारे हुए निमंत्रित अतिथि गण, श्रद्धेय संत वृंद, मा. संघचालक गण, संघ के सभी माननीय अधिकारीगण, माता भगिनी, नागरिक सज्जन एवं आत्मीय स्वयंसेवक बंधु. इस विजयादशमी के पहले बीता हुआ वर्ष भर का कालखंड श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश वर्ष के रूप में तथा स्वर्गीय महात्मा गांधी के जन्म के डेढ़ सौ वे वर्ष के रूप में विशेष रहा. उस उपलक्ष्य में किए जाने वाले कार्यक्रम आगे और कुछ समय, उनकी अवधि समाप्त होने तक, चलने वाले हैं. इस बीच 10 नवंबर से स्वर्गीय दत्तोपंत जी ठेंगड़ी का भी शताब्दी वर्ष शुरू होना है. परंतु बीते हुए वर्ष में घटी हुई कुछ महत्त्वपूर्ण घटनाओं ने, उसको हमारे लिए और स्मरणीय बना दिया है. मई मास में लोकसभा चुनावों के परिणाम प्राप्त हुए. इन चुनावों की ओर संपूर्ण विश्व का ध्यान आकर्षित हुआ था. भारत जैसे विविधताओं से भरे विशाल देश में, चुनाव का यह कार्य समय से और व्यवस्थित कैसे सम्पन्न होत

हिन्दू महात्मा गांधी - अरविन्द सिसौदिया

इमेज
- गांधी जयंती ! हिन्दू महात्मा गांधी को स्थापित करनें की जरूरत है - अरविन्द सिसौदिया जवाहरलाल नेहरू और कांग्रेस ने जिस महात्मा गांधी को सामनें रखा वह महात्मा गांधी थे ही नहीं । महात्मा गांधी ने तो शुद्ध रूप से रघुपति राघव राजा राम गाया था और रामराज्य की कल्पना की थी। महात्मा गांधी तो सनातन महात्मा गांधी थे, हिन्दू महात्मा गांधी थे भारतीय संस्कृित को आगे रख कर चलने वाले महात्मा गांधी थे। श्रीराम, अहिंसा, सत्य, मानवता, रामराज्य और क्षमा हिन्दू संस्कृति से ही उन्होने लिये थे । गीता उनको सबसे प्रिय थी। उनकी 150 जयंती पर हिन्दू महात्मा गांधी को स्थापित कर उन्हे सच्ची श्रृद्धांजल दी जानी चाहिये।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी दीर्घायु हों - अरविन्द सिसौदिया

इमेज
https://www.youtube.com/watch?v=0xwiBM0Pldg  प्रधानमंत्री माननीय नरेन्द्र मोदी जी को जन्मदिवस की कोटि-कोटि शुभकामनाएं - अरविन्द सिसौदिया

’मतदाता सत्यापन कार्यक्रम’ से अवश्य जुडें - अरविन्द सिसौदिया

इमेज
प्रत्येक मतदाता के नाम का सत्यापन होगा 1 जनवरी 2020 को 18 वर्ष पूर्ण करने वाले भी अपना नाम जुडवा सकेगें ’’मतदाता सत्यापन कार्यक्रम’’ प्रारम्भ, वोटरसूची में अपना - अपना नाम सत्यापन अवश्य करवायें - अरविन्द सिसौदिया 1 सितम्बर, कोटा। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार 01 सितंबर से 30 सितंबर 2019 तक मतदाता सूची सत्यापन का कार्य प्रारम्भ हो चुका हे। वर्तमान में मौजूद सभी नामों का सत्यापन किसी अन्य दस्तावेज के साथ किया जायेगा। भाजपा के जिला महामंत्री अरविन्द सिसौदिया ने बताया कि सत्यापन कार्यक्रम के अंतर्गत फोटोयुक्त निर्वाचक नामावली में मौजूदा मतदाताओं ने नामों का सत्यापन बीएलओ द्वारा घर-घर जाकर किया जाएगा। उन्होने कहा अपना और अपने परिवार के नामों की सुनिश्चितता के लिये स्वंय प्रेरणा से तय दस्तावेजों से नाम अवश्य सत्यापित करवाना चहिये। उन्होने बताया कि आयोग द्वारा इस हेतु 7 अधिकृत किये गये दस्तावेजों में भारतीय पासपोर्ट, ड्राइविंग लाईसेंस, आधार, राशनकार्ड, सरकारी-अर्द्ध सरकारी कर्मियों को जारी पहचान पत्र, बैंक की पासबुक, किसान पहचान पत्र आदि में से किसी एक के साथ किया जा रहा है। सीसौदिया

कांग्रेस गद्दार, उसे वोट देना पाप है - अरविन्द सिसौदिया

इमेज
कांग्रेस गद्दार पार्टी, उसे वोट देना पाप है - अरविन्द सिसौदिया कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधाी ने , अपने बयानों के द्वारा पाकिस्तान की पूरी पूरी मदद की और कश्मीर पर झूठ फैलानें का काम स्वंय किया है। जनता में वह गद्दार पार्टी मानी जानें लगी है। तीन बडे राज्यों के विधानसभा चुनाव सामनें हैं। मध्यप्रदेश और राजस्थान में पालिका और पंचायतीराज चुनाव सामनें है। इन चुनावों में जनता से वोट ठगनें के लिये राहुल ने यूटर्न लिया है। राहुल का यह बयान मात्र छल है। वोट ठगनें की राजनीति है। - अरविन्द सिसौदिया, जिला महामंत्री भाजपा, कोटा।

क्या वंश पूछते हो, श्रीराम मय जो पूरा देश है - अरविन्द सिसौदिया

इमेज
12 अग॰ 2019 को प्रीमियर हुआ था **** क्या वंश पूछते हो,भगवान श्रीराम मय जो पूरा देश है - अरविन्द सिसौदिया *** अनुसंधान हो - श्रीराम के वंशज सीसौदिया, सिकरवार बडगूजर गुहिल भी हें *** सूर्यवंशी भगवान श्रीराम और माता जानकी की कोख से जन्में "लव" के वंशज पूरे भारत में फैले हुये हैं। मेवाड श्रीराम के पुत्र लव के वंशजों का ही है। गुहिल , सीसौदिया, सिकरवार और बड गूजर लव के वंशज ही है। लव ने लाहौर बसाई थी । बाद में गुजरात और फिर मेवाड पर उनके वंशजों का शासन हुआ। लेकिन पश्चिमी भारत की अशांत और संघर्षशील सीमाओं के कारण कोई बडे दस्तावेजी सबूत मिलना मुस्किल है। किन्तु स्मृतियों,जागाओं और संस्कृत साहित्य इस बात का गवाह है कि श्रीराम के एक मात्र पुत्र लव थे ! वाल्मीकी जी ने कुशा से कुश को बनाया था और कुश को भी पुत्रवत सम्मान ही प्राप्त था। इन दानों पुत्रों को राज्य दिया गया था तथा उनकी वंश परम्परा समस्त भारत में फैली हुई हे। - अरविन्द सिसौदिया,जिला महामंत्री भाजपा कोटा !!! भाजपा कोटा संभाग मीडिया प्रभारी ! 9414180151 / 9509559131

कांग्रेस आराजकता उत्पन्न करना चाहती है - अरविन्द सिसौदिया

इमेज
14 अग॰ 2019 को प्रीमियर हुआ था कांग्रेस आराजकता उत्पन्न करना चाहती है - अरविन्द सिसौदिया कांग्रेस पाकिस्तान परस्ती के लिये माफी मांगे - अरविन्द सिसौदिया काँग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने कहा कि “ कश्मीर से धारा 370 हटाना असंवैधानिक है “। काँग्रेसी के क्रूर नेता मणिशंकर अय्यर ने कहा कि “ कश्मीर अब फलस्तीन बनके रहेगा“। मतलब कश्मीर में खून-खराबे की काँग्रेस की पाकिस्तान से मिल कर मुकम्मल योजना है। काँग्रेस के महाज्ञानी नेता पी. चिदम्बरम् ने साम्प्रदायिक राग अलापते हुये कहा कि “ मुस्लिम-बहुल होने के कारण ही भगवा सरकार ने धारा 370 हटाई, कश्मीर यदि हिन्दू-बहुल होता तो धारा 370 कभी न हटती ।“ चिदम्बरम् यह बताना भूल गए कि यदि कश्मीर हिन्दू-बहुल होता तो धारा 370 लगती ही नहीं। फिर कल ही काँग्रेस के लगभग मुख्य नेता दिग्विजय सिंह बोले कि “ भाजपा ने 370 हटाकर अपने हाथ जला लिए, अब कश्मीर भारत से अलग हो जाएगा ।“. मतलब कांग्रेस अब कश्मीर पाकिस्तान को सौंप कर ही मानेंगे।“ कुल मिला कर कांग्रेस देश को संकअ में डालनें पर आमादा है। इसके पूर्व संसद में धारा 370 पर चर्चा के दौरान काँग्रेस के अधीर रंजन चैध

कांग्रेस को अपना ब्रिटिश दिमाग बदलना होगा-अरविन्द सिसौदिया

इमेज

सुरक्षा को संकल्पित भाजपा घोषणापत्र - अरविन्द सिसौदिया

इमेज

भाजपा के सदस्य बनें , देश धर्म से जुडें - अरविन्द सिसौदिया

इमेज

महाराणा प्रताप से अकबर की तुलना बर्दास्त नहीं होगी - अरविन्द सिसौदिया

इमेज

हिन्दू धर्म और राष्ट्रीयता – शंकर शरण

हिन्दू धर्म और राष्ट्रीयता – शंकर शरण द्वारा एक व्याख्यान जनवरी 8, 2018 भारतीय इतिहास का पुनर्लेखन https://indictales.com/hi समय बदल गया है, समय की मांग बदल गयी है,और जो नयी पीढ़ी आती है वह स्वयं सबकुछ तय नहीं करती; बहुत सी चीजे उसको बनी-बनायीं मिलती है | यह जो कैरियर ओरिएंटेडनेस का आज कासमय है, उसमेपढ़ना-लिखनाएक तरह से कम हो गया है|सबकुछ रेडीमेड, जल्दी, गूगल से मिल जाये, नेट से मिल जाये,उससे कम चल जाये – यह परंपरा बन गयी है और उसी में जो लोग सिद्धहस्त है,उनको ही सफलमाना जाता है |लेकिन जिस तरह के राष्ट्रवादी वातावरण में आपका संस्थानमुझे दिखाई पढ़ता है, और जिस तरह के परम्पराएं इस संस्थान ने बनाई हुई है,उसमे मुझे लगता है की आपको थोड़ी अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए | क्यूंकि भारत एक अनूठा देश है | अपने सभ्यता की दृष्टि से भी अनूठा है,और विश्व में आज भारत का जो स्थान है,अच्छा भी और कठिन भी – वह दोनों ही दृष्टिसेपहले आपको समझ के रखना चाहिए | आजआप युवा है,काल आप प्रोफेशन में जायेंगे, काम करेंगे, तो आपको यह चेतना होनी चाहिए की इस पुरे एक्सिस्टेंस में विश्व के परिदृश्य में आप, आपका देश,