पोस्ट

अप्रैल, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

प्रधानमंत्री को तुरंत इस्तीफा देना चाहिए - सुषमा स्वराज

इमेज
सुषमा ने सरकार पर जमकर बोला हमला Tue, 30 Apr 2013 www.jagran.com नई दिल्ली। संसद में कांग्रेस सदस्यों द्वारा लगातार की जा रही टोकाटोकी से खफा भाजपा नेता सुष्मा स्वराज ने कहा कि अब वे संसदीय कार्यमंत्री तथा लोकसभा के स्पीकर द्वारा बुलाई गई किसी भी बैठक में शामिल नहीं होगी। लोकसभा में नेता विपक्ष सुष्मा स्वराज ने मंगलवार को कहा कि यह सरकार सभी मोर्चे पर पूरी तरह विफल हो गई है। हालांकि उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव नहीं लाएगी। इससे पहले, कोयला घोटाले और चीनी घुसपैठ को लेकर संसद में गतिरोध जारी है। घोटाले को लेकर सीबीआइ रिपोर्ट में सरकार द्वारा किए गए फेरबदल और उस पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद विपक्ष तेवर और कड़े हो गए हैं। मंगलवार को कार्रवाई शुरू होने के बाद भाजपा सदस्यों के हंगामे के बाद लोकसभा की कार्यवाही पहले दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। दोबारा सदन की कार्यवाही शुरू होने पर विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि हर सत्र से पहले नया घोटाला उजागर हो जाता है। नया घोटाले पहले वाले घोटाले से बड़ा हो

कोलगेट घोटाला : एडि‍शनल सॉलि‍सि‍टर जनरल ने दिया इस्‍तीफा, जाएगी कानून मंत्री की कुर्सी ?

इमेज
एडि‍शनल सॉलि‍सि‍टर जनरल ने दिया इस्‍तीफा, जाएगी कानून मंत्री की कुर्सी ? dainikbhaskar.com  |  Apr 30, 2013, नई दि‍ल्‍ली. कोलगेट घोटाले में घिरी यूपीए सरकार की मुसीबतें लगातार बढ़ती ही जा रही हैं। अटॉर्नी जनरल के खिलाफ गंभीर आरोप लगाने वाले  एडिशनल सॉलिसिटर जनरल हरेन रावल ने अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया है। सरकार के कहने पर इस्‍तीफा देने वाले रावल की जगह यू यू ललित की नियुक्ति की गई है। वहीं, सुप्रीम कोर्ट में सीबीआई की स्टेटस रिपोर्ट और हलफनामे पर सुनवाई के दौरान शीर्ष अदालत ने केंद्र सरकार और जांच एजेंसी की जमकर खिंचाई की। सुप्रीम कोर्ट ने हलफनामे को परेशान करने वाला और चौंकाने वाला बताते हुए नाराजगी जाहि‍र की। हरेन रावल के लेटर बम पर लोकसभा में जमकर हंगामा भी हुआ। वि‍पक्ष ने प्रधानमंत्री और कानून मंत्री के इस्‍तीफे की मांग की है। सुप्रीम कोर्ट की टिप्‍पणी के बाद कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल ने पीएम मनमोहन सिंह से मुलाकात की। पीएम ने कहा है कि वह सुप्रीम कोर्ट की टिप्‍पणी का अध्‍ययन कर रहे हैं। इसके बाद ही वह जरूरी कदम उठाएंगे। कानून मंत्री अश

सर्वोच्च न्यायलय करेगा कानून मंत्री अश्विनी की किस्मत का फैसला

इमेज
आज तक ब्यूरो | नई दिल्ली, 30 अप्रैल 2013 | कोयला घोटाले में फंसी यूपीए सरकार के सामने आज नई मुसीबत खड़ी हो सकती है. देश की सर्वोच्च अदालत में सीबीआई की स्टेट्स रिपोर्ट पर आज सुनवाई होनी है. सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट को तय करना है कि जांच एजेंसी की ओर से स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने से पहले उसे कानून मंत्री, कोयला मंत्रालय और प्रधानमंत्री कार्यालय से साझा करना सही है या गलत. सुप्रीम कोर्ट को सीबीआई ने बताया था कि जांच रिपोर्ट में बदलाव किए गए थे और दो स्तर पर रिपोर्ट बदली गई थी. कानून मंत्री अश्चिनी कुमार का क्‍या होगा? आज पूरे देश की नजरें सुप्रीम कोर्ट पर टिकी हैं क्योंकि इस मसले से कानून मंत्री अश्विनी कुमार का भाग्य भी जुड़ा है. सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में दायर हलफनामे में माना है कि उसने कोयला घोटाले पर अपनी रिपोर्ट को कानून मंत्री अश्विनी कुमार को दिखाया था. कहा जा रहा है कि सीबीआई ने अपनी रिपोर्ट के दो वर्जन कोर्ट में सौंपे. सूत्रों के मुताबिक दूसरे वर्जन में तमाम बदलाव साफ नजर आ रहे हैं. जाहिर है सर्वोच्च अदालत की एक तीखी टिप्पणी कानून मंत्री के लिए परेशानी खड़ी कर सक

अफजल गुरु की फांसी के बदले में सबरजीत पर जान लेवा हमला

इमेज
विपक्ष इस मामले मे राजनीति कर रहा है. सीमा पर सैनिक का सिर् कटा जाई तब भी बोलने पर विपक्ष राजनीति करता है, युध बंदियों के शव पर यातनाओं के इतने निशान थे तब भी बोलने पर विपक्ष राजनीति करता है, देश की जनता की दौलत लूटने वालों के खिलाफ बोलने तो विपक्ष राजनीति करता है, आतंकवादी हमले मे सरकार की नाकामी पर बोलने पर भी विपक्ष राजनीति करता है. देश मे करोरों टन अनाज सढ जाने पर भी विपाकश राजनीति करता है. सीबी आइ के दुपयोग पर बोलने पर भी विपक्ष राजनीति कर रहा है का इल्जाम लगता है , रोज़ बलात्कार होने पर घटना की निन्दा करते हुए अगर किसी भी पार्टी का नेता पुलिस तंत्र की नाकामी की भी बात करे तो राजनीति कर रहा है.. मेरे ख्याल से कांग्रेस की सरकार को एक कानून पास कर देना चाहिये कि हर पार्टी को सरकार के हर कदम हर पॉलिसी का समर्थन करना जरूरी है, अगर किसी ने भी उसके खिलाफ बोला तो आपराधिक कृत्य माना जायेगा और देशद्रोह की सजा मिलेगी. अफजल गुरु की फांसी के बदले में सबरजीत पर जान लेवा हमला  सरबजीत की हालत नाजुक, ISI ने कराया हमला ?   पाक जेल में सरबजीत सिंह पर कैदियों ने किया हमला नवभारतटाइम्स.क

संत श्री आशाराम बापू : Sant Shree Asaram Bapu

इमेज
http://bharatdiscovery.org भारत डिस्कवरी प्रस्तुति आध्यात्मिक गुरु  आशाराम बापू संत श्री आशाराम बापू अथवा आसाराम बापू (अंग्रेज़ी: Asaram Bapu, जन्म: 17 अप्रॅल, 1941, सिंध) एक भारतीय आत्मज्ञानी संत हैं, जो मानवमात्र में एक सच्चिदानन्द ईश्वर के अस्तित्व का उपदेश देते हैं। आशाराम बापू का वास्तविक नाम 'आसुमल सिरुमलानी' है। जीवन परिचय संत श्री आसारामजी महाराज का जन्म सिंध प्रान्त के नवाबशाह ज़िले में सिंधु नदी के तट पर बसे बेराणी गाँव में नगर सेठ श्री थाऊमलजी सिरुमलानी के घर 17 अप्रैल 1941 तदनुसार विक्रम संवत 1998 को चैत्र वदी षष्ठी के दिन हुआ था। इनकी पूजनीय माताजी का नाम महँगीबा है। उस समय नामकरण संस्कार के दौरान आपका नाम आसुमल रखा गया था। बाल्य अवस्था आशाराम का बाल्यकाल संघर्षों की एक लंबी कहानी हैं। विभाजन की विभिषिका को सहनकर भारत के प्रति अत्यधिक प्रेम होने के कारण आपका परिवार अपनी अथाह चल-अचल सम्पत्ति को छोड़कर यहाँ के अहमदाबाद शहर में 1947 में आ पहुँचा। अपना धन-वैभव सब कुछ छूट जाने के कारण वह परिवार आर्थिक विषमता के चक्रव्यूह में फँस गया लेकिन आजीविका के लि

पश्चिम बंगाल चिटफंड घोटाला : कांग्रेस का एक और घोटाला

इमेज
                      पश्चिम बंगाल की मुख्य मंत्री ममता और  वित्तमंत्री पी. चिदंबरम की पत्नी नलिनी चिदंबरम चिटफंड घोटाले की आंच कांग्रेस तक Apr 26, 2013, navbharattimes.indiatimes.com पीटीआई॥ नई दिल्ली, कोलकाता पश्चिम बंगाल में निवेशकों के 20 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम डकार लेने के आरोपी शारदा गु्रप से जुड़े मामले की आंच अब तृणमूल से आगे बढ़कर कांग्रेस तक पहुंच गई है। आरोपों से बैकफुट पर आई तृणमूल कांग्रेस ने मामले में चेन्नै की एक सीनियर महिला वकील की भूमिका को लेकर सवाल खड़े करने शुरू कर दिए हैं। इस वकील की केंद्र सरकार के एक मिनिस्टर से शादी हुई है। गौरतलब है कि आरोपी सुदीप्तो सेन की ओर से सीबीआई को कथित तौर पर लिखे गए लेटर में आरोप लगाया गया था कि कुछ राजनेताओं, जर्नलिस्ट और वकीलों ने उसे ब्लैकमेल किया और सिक्युरिटी देने की एवज में उससे मोटी रकम भी ऐंठ ली। उधर, केंद्र में प्रमुख विपक्षी दल बीजेपी ने भी महिला वकील की भूमिका होने के आरोपों की निष्पक्ष जांच की मांग की है। ------------------------ चिदंबरम की पत्नी लपेटे में -सुदीप्तो सेन की कथित चिट्ठी में तृणमू

हनुमान जी के जन्म की कथा

इमेज
स्कन्दपुराण के उल्लेखानुसार भगवान महादेव ही भगवान विष्णु के श्री राम अवतार की सहायता के लिए महाकपि हनुमान बनकर अपने ग्यारहवें रुद्र के रूप में अवतरित हुए | यही कारण है कि हनुमान जी को रुद्रावतार भी कहा जाता है | इस उल्लेख कि पुष्टि श्रीरामचरित मानस, अगत्स्य संहिता, विनय पत्रिका और वायु पुराण आदि में भी की गयी है | हनुमान जी के जन्म को लेकर विद्वानों में अलग-अलग मत हैं | परन्तु हनुमान जी के अवतार को लेकर तीन तिथियाँ सर्वमान्य हैं | इनमें से पहली तिथि है: चैत्र एकादशी "चैत्रे मासे सिते पक्षे हरिदिन्यां मघाभिदे | नक्षत्रे स समुत्पन्नौ हनुमान रिपुसूदनः | |" इस श्लोक के अनुसार हनुमान जी का जन्म चैत्र शुक्ल की एकादशी को हुआ था| एक दुसरे मत के अनुसार श्री हनुमान जी का जन्म चैत्र मास की पूर्णिमा तिथि को हुआ था | इस मत को निम्नलिखित श्लोक से समझा जा सकता है: "महाचैत्री पूर्णीमाया समुत्पन्नौ अन्जनीसुतः | वदन्ति कल्पभेदेन बुधा इत्यादि केचन | |" वैसे, श्री हनुमान जी के अवतरण को लेकर एक तीसरा मत भी है, जोकि नीचे दिए गए श्लोक में उल्लिखित है: &quo

वीरांगना झलकारीबाई झाँसी

इमेज
 4 अप्रैल उस महान वीरांगना को याद करने का दिन है जिसकी वीरता किसी भी मायने में झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई से कम नहीं थी पर उसे इतिहास और हमारे हृदयों में वो स्थान नहीं मिल पाया जो मिलना चाहिए था| ये महान वीरांगना थी, झलकारीबाई जो झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई की नियमित सेना में, महिला शाखा दुर्गा दल की सेनापति थीं। २२ नवंबर १८३० झांसी के पास के भोजला गाँव में एक निर्धन कोली परिवार में सदोवर सिंह और जमुना देवी के घर में जन्मी झलकारी को कोई औपचारिक शिक्षा तो प्राप्त नहीं हो पाई, लेकिन उन्होनें घुड़सवारी और हथियारों का प्रयोग करने में महारत हासिल करके खुद को एक अच्छे योद्धा के रूप में विकसित कर लिया। उनकी बहादुरी ही झाँसी की सेना के सिपाही पूरन कोरी से उनके विवाह का माध्यम बनी जो अपनी वीरता के लिए पूरे झाँसी में प्रसिद्द था| एक बार गौरी पूजा के अवसर पर झलकारी गाँव की अन्य महिलाओं के साथ महारानी को सम्मान देने झाँसी के किले मे गयीं, वहाँ रानी लक्ष्मीबाई उन्हें देख कर अवाक रह गयी क्योंकि झलकारी बिल्कुल रानी लक्ष्मीबाई की तरह दिखतीं थीं (दोनो के रूप में आलौकिक समानता थी)। अन्य औरतों से झलका

फिर अकेले मोदी ही 'राक्षस' क्यों..?- मधु पूर्णिमा किश्‍वर

इमेज
Mahesh Girase/ facebook फिर अकेले मोदी ही 'राक्षस' क्यों..? -मधु पूर्णिमा किश्‍वर ( लेखिका जानीमानी समाजविज्ञानी हैं) फरवरी 2002 में जब हिंसक दंगों से गुजरात के कुछ हिस्से कांप उठे, तब मैंने भी राष्ट्रीय मीडिया और अपने सक्रिय प्रतिभागी मित्रों के विवरण को स्वीकार कर लिया और मान लिया कि वर्ष 2002 के दंगों में मोदी भी लिप्त थे। इस कारण से मैंने भी मोदी के खिलाफ बयानों पर हस्ताक्षर कर दिए और मानुषी में उन लेखों को छापा, जिनमें गुजरात सरकार को दोषी ठहराया गया था। हमने भी दंगा पीडि़तों के लिए फंड इकट्‍ठा किया। लेकिन, मैं अपने नाम से कुछ भी लिखने से बचती रही क्योंकि मुझे गुजरात जाने, वहां अनुभव लेने और स्वयं स्थिति को जांचने का मौका नहीं मिला था। मेरे पहले के विभिन्न दंगों को कवर करने के अनुभव और कश्मीर तथा पंजाब में हिंसक संघर्ष की स्थितियों ने मुझे सिखा दिया था कि ऐसे मुद्‍दों पर सुनिश्चित रुख तय करने से पहले मीडिया की रिपोर्टों पर भरोसा नहीं किया जा सकता है क्योंकि ये आमतौर पर लेखक की विचारधारा के रंग से रंगी होती हैं। इसलिए मैंने गुजरात पर कोई बयान देने से खुद को रोक

पायो जी मैंने राम रतन धन पायो -मीरा

इमेज
पायो जी मैंने राम रतन धन पायो .. वस्तु अमोलिक दी मेरे सतगुरु किरपा करि अपनायो . जनम जनम की पूंजी पाई जग में सभी खोवायो . खरचै न खूटै चोर न लूटै दिन दिन बढ़त सवायो . सत की नाव खेवटिया सतगुरु भवसागर तर आयो . मीरा के प्रभु गिरिधर नागर हरष हरष जस गायो .

ठुमक चलत रामचंद्र बाजत पैंजनियां - भजन

इमेज
भजन - ठुमक चलत रामचंद्र ठुमक चलत रामचंद्र बाजत पैंजनियां .. किलकि किलकि उठत धाय गिरत भूमि लटपटाय . धाय मात गोद लेत दशरथ की रनियां .. अंचल रज अंग झारि विविध भांति सो दुलारि . तन मन धन वारि वारि कहत मृदु बचनियां .. विद्रुम से अरुण अधर बोलत मुख मधुर मधुर . सुभग नासिका में चारु लटकत लटकनियां .. तुलसीदास अति आनंद देख के मुखारविंद . रघुवर छबि के समान रघुवर छबि बनियां ..

राम के आदर्शों का अनुकरण करें - राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

इमेज
रामनवमी संदेश में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी बोले, राम के आदर्शों का अनुकरण करें -  राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी नई दिल्ली। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भगवान राम के जन्मदिवस के रूप में मनाए जाने वाले हिंदूओं के त्योहार रामनवमी पर देशवासियों को शुभकामनाएं दी। राष्ट्रपति ने देश के नाम जारी संदेश में कहा, "राम नवमी के पावन अवसर पर मैं देश की जनता का अभिनंदन करता हूं तथा उन्हें शुभकामनाएं देता हूं।" उन्होंने कहा, "हम सभी इस अवसर पर भगवान राम की ईमानदारी, दया और धैर्य के आदर्शों का अनुकरण करने की कोशिश करें। मैं कामना करता हूं कि सदाचार के मार्ग पर चलने के लिए मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम का महान उदाहरण हमेशा हमारे लिए प्रेरणा का काम करे।" राष्ट्रपति ने कहा, "मैं यह कामना करता हूं कि उत्साह का यह पर्व हमारे देश की जनता को एक करे तथा हमारे देश का गौरवमय भविष्य लिखने के लिए प्रेरित करे।" रामनवमी का पर्व भारत में शुक्रवार को मनाया जाएगा।

गोधरा-गुजरात का सच आज

इमेज
गुजरात दंगे का सच आज जहा देखो वहा गुजरात के दंगो के बारे में ही सुनने और देखने को मिलता है फिर चाहे वो गूगल हो या फेसबुक हो या फिर टीवी चैनेल | रोज रोज नए खुलाशे हो रहे हैं | रोज गुजरात की सरकार को कटघरे में खड़ा किया जाता है| सबका निशाना केवल एक नरेन्द्र मोदी | जिसे देखो वो अपने को को जज दिखाता है| हर कोई सेकुलर के नाम पर एक ही स्वर में गुजरात दंगो की भर्त्सना करते हैं | कारसेवको को मारने के लिए ट्रेन को जलाने की कई दिनों से योजना बन रही थी- साबरमती ट्रेन हादसे में मौत की सजा प्राप्त अब्दुल रजाक कुरकुर के अमन गेस्टहाउस पर ही कारसेवको को जिन्दा की कई हप्तो से योजना बनी थी ... इसके गेस्टहाउस से कई पीपे पेट्रोल बरामद हुए थे | पेट्रोल पम्प के कर्मचारीयो ने भी कई मुसलमानों को महीने से पीपे में पेट्रोल खरीदने की बात कही थी और उन्हें पहचान परेड में पहचाना भी था .. पेट्रोल को सिगनल फालिया के पास और अमन गेस्टहाउस में जमा किया जाता था | गोधरा से तत्कालीन सहायक स्टेशन मास्टर के द्वारा वडोदरा मंडल ट्रेफिक कंट्रोलर को भेजी गयी गुप्त रिपोर्ट ::- गोधरा क

खिलाडिय़ों को वैचारिक आधार पर नहीं बांटें : भाजपा

इमेज
शनिवार, 13 अप्रैल 2013 RSS Strongly reacts as Rajasthan govt asks affidavit from sportsmen stating no link with RSS! Jaipur/New Delhi April 12, 2012: A sports ceremony organised by Rajasthan's Congress government was turned in to huge controversy when government's Sports Department demanded an affidavit from every awardees stating that they are not involved in RSS ! More than 300 sports persons were given out cash award in Jaipur's SMS Stadium this afternoon for excelling at the state level championships. But a controversy broke out over an affidavit that every awardees was asked to file, stating that they are not involved in RSS and activities of Jamat-e-Islame. Sports persons were taken by surprise when this clause was pointed out to them but Rajasthan Sports Council says they have only followed government guidelines even as BJP accused Gehlot govt of bringing politics into sports. More than 300 sports persons who have done well at state level championsh