पोस्ट

अप्रैल, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

आदि शंकराचार्य : 'हिंदूत्व ' के नवोत्थान कर्ता

इमेज
आदि शंकराचार्य आदि शंकराचार्य का जीवन परिचय एवम जयंती | Adi Shankaracharya biography Jayanti in hindi Priyanka  April 11, 2018 आदि शंकराचार्य का जीवन परिचय एवम जयंती | Adi Shankaracharya biography, Jayanti in hindi शंकराचार्य जी को,आदिशंकराचार्य भी कहा जाता है आप साक्षात् भगवान शिव के अवतार थे . आपने परमेश्वर के विभिन्न रूपों से लोगो को अवगत कराया जिसमे, आपने यह बताया कि, ईश्वर क्या है ? ईश्वर का जीवन मे महत्व क्या है ? यह ही नही आपने अपने जीवनकाल मे, ऐसे कार्य किये जो बहुत ही सरहानीय है और भारत की, अमूल्य धरोहर के रूप मे आज भी है . आपने हिन्दू धर्म को बहुत ही खूबसूरती से एक अलग अंदाज मे निखारा, इसी के साथ अनेक भाषाओं मे, आपने अपने ज्ञान का प्रकाश फैलाया . आपने विभिन्न मठो की स्थापना की इसी के साथ कई शास्त्र, उपनिषद भी लिखे . आदिशंकराचार्य जी का जीवन परिचय ( Shankaracharya history ) आदिशंकराचार्य जी साक्षात् भगवान का रूप थे . आप केरल के साधारण ब्राह्मण परिवार मे जन्मे थे . आपकी जन्म से आध्यात्मिक क्षेत्र मे रूचि रही है जिसके चलते, सांसारिक जीवन से कोई मोह नही था .

रामायण : अवतारी मार्गदर्शन

इमेज
भगवान राम का अवतार अत्यंत प्राचीन घटना मात्र नहीं है बल्कि वह मानव सभ्यता को जीवन पद्यती सिखानें वाला अवतारी मार्गदर्शन हे। यह भारत के एक एक घर में अनुकरणीय है। इसे सर्व प्रथम शिव जी ने पार्वती जी को सुनाया मगर हमें महर्षि बाल्मिकी जी ने संस्कृत में लिख कर बताया,, अवधी में गोस्वामी तुलसीदास जी ने इसे युगानुकूल बनाया और दूरदर्शन के माध्यम से रामानंद सागर ने घर घर में पहुचाया । रामायाण सीरियल के बाद रामानंद सागर रामायण के तीसरे सबसे बडे प्रणेता हे। भारतीय संस्कृति को उन पर गर्व है।   - अरविन्द सिसौदिया,जिला महामंत्री भाजपा,कोटा। 9414180151 रामानंद सागर की रामायण धारावाहिक का   28 मार्च से 2020  से पुनः प्रसारण कोरोना वायरस का कहर हर तरफ देखने को मिल रहा है।देश को बचाने के 21 दिन के लॉकडाउन कर दिया गया है। ऐसे में उन लोगों को घरों से बाहर निकलने की इजाजत है, जिन्हें जरूरी सेवाओं के अंतर्गत कुछ काम हो। अब लॉकडाउन के बीच सरकार ने आखिरकार वह फैसला कर ही लिया, जिसकी पिछले दो दिनों से जबदस्त मांग की जा रही थी। केंद्रीय सूचना तथा प्रसारण मंत्रालय के मुताबिक, रामानंद सागर की रामाय