पोस्ट

जनवरी, 2014 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

देश की जनता कि जागरूकता से ही, देश का भाग्य सुनिश्चित - परमपूजनीय सरसंघचालक मोहनराव भागवत

इमेज
देश की जनता कि जागरूकता से ही, देश का भाग्य सुनिश्चित  - परम पूजनीय सरसंघचालक मोहनराव भागवत http://vskjodhpur.blogspot.in/2014/01/blog-post_1282.html सिरोही, राजस्थान  के अरविन्द पैवेलियन  से । परम पूजनीय सरसंघचालक  मोहनराव भागवत ने अरविंद पैवेलियन में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि जब तक देशवासी खुद को नहीं पहचानेंगे , तब तक हमारे चारों ओर विभिन्न समस्याएं बनी रहेंगी। उन्होंने कहा कि आज हम देश की उन्नति की बात छोड़कर बाकी सब करते हैं। देश की समस्याओं के लिए एक दूसरे पर दोषारोपण करते हैं, लेकिन इससे कुछ नहीं होने वाला। शराबी की, महाभारत की और शेर की कहानियां सुनाकर, उन्होंने आव्हान किया कि पहले हमें खुद को पहचानना होगा, तभी हम देश को आगे बढ़ा पाएंगे, तभी देश के भाग्य का उदय हो सकेगा। उन्होंने कहा कि संघ के कार्यक्रम शक्ति प्रदर्शन के लिए नहीं बल्कि आत्म दर्शन के लिए होते हैं। यह कार्यक्रम आत्म साक्षात्कार  है ताकि वह अपनी क्षमताओं  को पहचाने और उसका उपयोग  राष्ट्र हित में करे।  डॉ०    भागवत जी  ने अपने उद्बोधन में कहा कि सम्पूर्ण विश्व भारत कि औ

आम चुनाव - मंहगाई बनेगा मुद्दा - गुरचरन दास

इमेज
भ्रष्टाचार नहीं , मंहगाई बनेगा मुद्दा ! आम चुनाव /  गुरचरन दास प्रसिद्ध स्तंभकार और लेखक दैनिक भास्कर , कोटा आम आदमी महंगाई के दंश को भूलेगा नहीं, 'आप' भी पुराने वामपंथी विचारों में फंसी हाल में हुए विधानसभा चुनाव में आम आदमी महंगाई की ही शिकायत कर रहा था। टीवी पर लोग आलू, प्याज, घी और दाल की कीमतें बताते नजर आते थे। हालांकि चुनावी पंडित हमेशा का चुनाव राग ही गा रहे थे, लेकिन कांग्रेस की हार में भ्रष्टाचार से ज्यादा महंगाई का हाथ रहा। हाल में महंगाई कुछ कम हुई हैं, लेकिन सभी दलों के लिए यह चेतावनी है कि आम आदमी महंगाई के दंश को भूलने वाला नहीं है और यह आगामी आम चुनाव में नजर आएगा। अर्थशास्त्रियों को भी यह समझ में नहीं आ रहा है कि जब दुनियाभर में कीमतें स्थिर हैं तो भारत में उपभोक्ता वस्तुओं के दाम पिछले पांच सालों से 10 फीसदी प्रतिवर्ष की दर से क्यों बढ़ रहे हैं। यहां तक कि गरीब, उभरती अर्थव्यवस्थाओं में भी कीमतें भारत की तुलना में आधी दर से बढ़ रही हैं। मुद्रास्फीति एक जटिल अवधारणा है और इसके पीछे कई कारण होते हैं, लेकिन विशेषज्ञों को यह स्पष्ट हो गया है कि भारत में इसक

राष्ट्रपति के भाषण की राजनीति : प्रमोद जोशी

इमेज
राष्ट्रपति के भाषण की राजनीति Jan 28 2014  ।। प्रमोद जोशी ।। वरिष्ठ पत्रकार http://www.prabhatkhabar. लालबत्ती संस्कृति और सामाजिक संपदा की अराजक लूट का आरोप भी इसी राजनीति पर है. ‘अराजकता और जन-अभियान’ की बहस अभी और तेज होगी. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के संदेश ने इस बहस का विषय प्रवर्तन मात्र किया है. हमारे राष्ट्रपतियों के भाषण अकसर बौद्धिक जिज्ञासा के विषय होते हैं. माना जाता है कि भारत का राष्ट्रपति देश की ‘राजनीतिक सरकार’ के वक्तव्यों को पढ़ने का काम करता है. एक सीमा तक ऐसा है भी, पर ऐसे भी राष्ट्रपति हुए हैं जिन्होंने सामयिक हस्तक्षेप किये हैं और सरकार की राजनीति के बाहर जाकर भी कुछ कहा है. गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के राष्ट्र के नाम संबोधन को राजनीति मानें या राजनीति एवं संवैधानिक मर्यादाओं को लेकर उनके मन में उठ रहे प्रश्नों की अभिव्यक्ति? यह सवाल इसलिए उठा, क्योंकि गणतंत्र दिवस के ठीक पहले दिल्ली में आम आदमी पार्टी का धरना चल रहा था. देश भर में इस बात को लेकर चरचा थी कि क्या ऐसे मौके पर यह धरना उचित है? क्या अराजकता का नाम लोकतंत्

'ऐ मेरे वतन...' न होता तो हम भूल जाते शहीदों को : नरेंद्र मोदी

इमेज
'ऐ मेरे वतन...' न होता तो हम भूल जाते शहीदों को: मोदी नवभारतटाइम्स.कॉम | Jan 27, 2014, मुंबई 1962 में चीन से युद्ध में शहीद हुए भारतीय जवानों की याद में 1963 में गाए गए गीत 'ऐ मेरे वतन के लोगों...' का स्वर्ण जयंती समारोह मुंबई में मनाया गया। इस गाने को गाने वाली मशहूर गायिका लता मंगेशकर को बीजेपी नेता नरेंद्र मोदी ने सम्मानित किया। समारोह में परमवीर चक्र, महावीर चक्र और अन्य वीरता पुरस्कार प्राप्त 100 से अधिक लोगों को भी सम्मानित किया गया। इस मौके पर बीजेपी के पीएम कैंडिडेड नरेंद्र मोदी ने कहा कि अगर कवि प्रदीप ने यह गीत नहीं लिखा होता तो शायद 1962 के शहीद हमें याद न होते। लता ने 27 जनवरी 1963 को पहली बार यह गीत गाया था। लता के साथ वहां मौजूद 1,42,000 लोगों ने सुर मिलाए। लता ने कहा कि नरेंद्र मोदी मेरे भाई हैं। उनसे सम्मान पाकर मैं खुश हूं। उन्होंने बताया कि जब पहली बार मैंने यह गीत गाया था तो पंडित नेहरू बहुत खुश हुए थे। इंदिरा गांधी ने अपने दोनों बच्चों से मुझे मिलवाया था। अब तक देश के बाहर 101 शो में मैं यह गाना गा चुकी हूं। इस मौके पर मोदी ने कहा कि आज से

नरेंद्र मोदी का असर बंगाल में : भाजपा, आरएसएस के सदस्यों में भारी इजाफा

इमेज
नरेंद्र मोदी का असर बंगाल में : भाजपा, आरएसएस के सदस्यों में भारी इजाफा नई दिल्ली: प्रतीत होता है कि नरेंद्र मोदी की लहर बंगाल तक पहुंच गई है क्योंकि भाजपा की राज्य इकाई की सदस्यता में दोगुना से अधिक बढ़ोतरी हुई है। पश्चिम बंगाल में भाजपा के एक नेता ने कहा कि वर्ष 2011 में राज्य में पार्टी की कुल सदस्यता करीब तीन लाख थी, जो वर्ष 2013 में सात लाख से अधिक हो गई। पिछले छह माह में पार्टी के दो लाख नए सदस्य बने हैं। पार्टी के नेता इसका श्रेय अपने प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को देते हैं। भाजपा के प्रवक्ता और पार्टी की बंगाल इकाई के सह प्रभारी सिद्धांत सिंह ने बताया कि पार्टी की युवा शाखा एबीवीपी की सदस्यता में भी बढ़ोतरी हुई है और पिछले एक साल में ही उसमें 45 हजार नए कार्यकर्ता जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा की अल्पसंख्यक एवं महिला शाखाओं की सदस्यता में भी 50 फीसदी की वृद्धि हुई है। सिंह ने बताया, 'पश्चिम बंगाल में भाजपा की सदस्यता बढ़ने के पीछे दो मुख्य कारक हैं। पार्टी द्वारा मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करना और राज्य में विपक्ष का एक तरह

लता और मोदी के साथ लाखों लोग गायेंगे, ऐ मेरे वतन के लोगों.....!

इमेज
मुबई : लता और मोदी के साथ लाखों लोग गायेंगे, ऐ मेरे वतन के लोगों.....! स्वर्ण जयंती वर्ष Jan 27 2014 मुंबई : मशहूर देशभक्ति गीत  ऐ मेरे वतन के लोगों... के स्वर्ण जयंती वर्ष को यादगार बनाने के लिए आज मुंबई में समारोह का आयोजन किया गया है. इस मौके पर स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी एक मंच पर साथ-साथ दिखेंगे. उम्मीद की जा रही है कि इस बार लता मंगेशकर, मोदी की मौजूदगी में मशहूर देशभक्ति गीत ऐ मेरे वतन के लोगों... भी गायेंगी. आज करीब एक लाख लोग एक साथ यह गीत गायेंगे. इस मौके पर लता मंगेशकर भी मौजूद रहेंगी. भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी इस मौके पर लता को सम्मानित करेंगे. मुंबई के महालक्ष्मी रेसकोर्स में आयोजित होनेवाले इस कार्यक्रम का आयोजन शहीद गौरव समिति (एसजीएस) कर रहा है. इस मौके पर लता मंगेशकर के साथ जंग के नायकों और उनके परिवार के लोगों को सम्मानित किया जायेगा. लता ने 27 जनवरी, 1963 को पहली बार ऐ मेरे वतन के लोगों... गाया, तो देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू समेत कई लोगों की आंखें नम हो गयी थीं. गीत को मशहूर क

भारत के राष्ट्रपति, श्री प्रणब मुखर्जी का राष्ट्र के नाम संदेश

इमेज
http://presidentofindia.nic.in/ph/sp250114.html गणतंत्र दिवस 2014 की पूर्व संध्या पर भारत के राष्ट्रपति, श्री प्रणब मुखर्जी का राष्ट्र के नाम संदेश नई दिल्ली, 25 जनवरी, 2014 मेरे प्यारे देशवासियो, पैंसठवें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर, मैं भारत और विदेशों में बसे आप सभी को हार्दिक बधाई देता हूं। मैं हमारी सशस्त्र सेनाओं, अर्ध-सैनिक बलों तथा आंतरिक सुरक्षा बलों के सदस्यों को अपनी विशेष बधाई देता हूं। 2. हर एक भारतीय गणतंत्र दिवस का सम्मान करता है। चौंसठ वर्ष पूर्व इसी दिन, हम भारत के लोगों ने, आदर्श तथा साहस का शानदार प्रदर्शन करते हुए, सभी नागरिकों को न्याय, स्वतंत्रता तथा समानता प्रदान करने के लिए, स्वयं को एक संप्रभुतासंपन्न लोकतांत्रिक गणराज्य सौंपा था। हमने सभी नागरिकों के बीच भाईचारा, व्यक्ति की गरिमा तथा राष्ट्र की एकता को बढ़ावा देने का कार्य अपने हाथ में लिया था। ये आदर्श आधुनिक भारतीय राज्य के पथ-प्रदर्शक बने। शांति की ओर तथा दशकों के औपनिवेशिक शासन की गरीबी से निकालकर पुनरुत्थान की दिशा में ले जाने के लिए लोकतंत्र हमारा सबसे मूल्यवान मार्गदर्शक बन गया। हमारे संविधान

"जननी जन्मभूमि स्वर्ग से महान है"।

इमेज
"जननी जन्मभूमि स्वर्ग से महान है"। जननी-जन्मभूमि स्वर्ग से महान है । इसके वास्ते ये तन है मन है और प्राण है ॥ जननी-जन्मभूमि स्वर्ग से महान है ॥ध्रु॥ इसके कण-कण पे लिखा राम-कृष्ण नाम है । हुतात्माओं के रुधिर से भूमि शस्य-श्याम है । धर्म का ये धाम है, सदा इसे प्रणाम है । स्वतंत्र है यह धरा, स्वतंत्र आसमान है ॥१॥ इसके आन पे अगर जो बात कोई आ पड़े । इसके सामने जो ज़ुल्म के पहाड़ हों खड़े । शत्रु सब जहान हो, विरुद्ध आसमान हो । मुकाबला करेंगे जब तक जान में ये जान है ॥२॥ इसकी गोद में हज़ारों गंगा-यमुना झूमती । इसके पर्वतों की चोटियाँ गगन को चूमती । भूमि ये महान है, निराली इसकी शान है । इसके जय-पताके पे लिखा विजय-निशान ॥३॥ इसके वास्ते ये तन है, मन है और प्राण है । जननी जन्मभूमि स्वर्ग से महान है ॥ !! भारत माता की जय !! ----------- Sunday, August 14, 2011 जननी जन्मभूमि स्वर्ग से भी महान है....भारत व्यास के शब्दों में मातृभूमि का जयगान ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 721/2011/161 सनमस्कार! 'ओल्ड इज़ गोल्ड' के सभी दोस्तों का हार्दिक स्वागत है इस नए सप्ताह मे

आप की अराजकता, आप का धोखा - कल्पेश याग्निक

इमेज
दैनिक भास्कर, कोटा से Published on 25 Jan-2014 असंभव के विरुद्ध - कल्पेश याग्निक आप की अराजकता, आप का धोखा; बहुत अच्छी शुरुआत अनुशासन, अभ्यास, अनुभूति और अनुभव आधारित अलख इस बार यह कॉलम हममें से उन लोगों को विचलित कर सकता है जिनमें एक उम्मीद जगी है। 'आप' के अनेक हंस अब बगुले सिद्ध हो रहे हैं। बहुत अच्छा हो रहा है। कि बहुत काल्दी ऐसा हो रहा है। आप स्वयं अपने 'अराजक' होने पर गर्व कर रहे हैं। आपने आम आदमियों में एक बहुत बड़ा तूफान पैदा कर दिया था। फिर उस तूफान से मर्यादा के सारे किनारे तोड़ दिए। 'तूफान से तबाही ही तो आएगी' - ऐसा कह सकते हैं आप। राष्ट्र के पास सुनने के अलावा कोई चारा भी नहीं है। बेचारा। यही भूल कर रहे हैं आप। राष्ट्र भला है। बेचारा नहीं। आपने सबसे पहले, सफलता मिलते ही, एक नई भाषा गढ़ ली। आपने कहा - ''मैं कौन हूं? मेरी 'औकात' ही क्या है? यह मेरी सफलता नहीं। यह मेरे साथियों की सफलता नहीं। यह तो आम आदमी की सफलता है।'' फिर हर बात में दोहराना आरंभ कर दिया। 'मैं मुख्यमंत्री कैसे बनूंगा, क्यों बनूंगा। कभी भी

यह 'आप' है या अनाड़ी पार्टी : वेदप्रताप वैदिक

इमेज
Published on 25 Jan-2014 दैनिक भास्कर, कोटा से मोहभंग यह 'आप' है या अनाड़ी पार्टी वेदप्रताप वैदिक यह आम आदमी की नहीं दिल्ली के खाए-अघाए मध्य वर्ग की पार्टी है जो मीडिया को अपना गुरु मानता है पिछले हफ्ते मैंने लिखा था कि आम आदमी पार्टी का ज्वार कहीं भाटा में नहीं बदल जाए! तब तक अफ्रीकी महिलाओं का मामला और धरना आदि के विवाद शुरू नहीं हुए थे, लेकिन अब क्या हुआ? एक ही हफ्ते में आम आदमी पार्टी की दुनिया बदल गई। जो पार्टी लोकसभा के चुनाव में दिल्ली की सातों सीटें जीतने और देश भर में 300 उम्मीदवार लड़ाने का इरादा कर रही थी, उसके बारे में देश भर में हो रहे जनमत-सर्वेक्षण अब क्या कह रहे हैं? विभिन्न सर्वेक्षणों की राय है कि अब यदि पूरे भारत में उसे आठ-दस सीटें भी मिल जाएं तो गनीमत है। मुंबई के वित्तशास्त्र के पंडित कह रहे हैं कि उनके दिल में आम आदमी पार्टी के उदय ने जो धड़कन बढ़ा दी थी, वह अब शांत होती दिखाई पड़ रही है। इतना ही नहीं, पिछले हफ्ते तक आम आदमी पार्टी को लेकर जैसी खबरें आ रही थीं, अब क्यों नहीं आ रही हैं? आम आदमी पार्टी की सदस्य-संख्या रोज लाखों में बढ़ रही थी।

'सपा-बसपा-काग्रेस, सबका मालिक एक' - नरेंद्र मोदी

इमेज
भीड़ देखकर गद गद मोदी : यूपी ने कर लिया है विकास का रुख Thu, 23 Jan 2014 लखनऊ। गोरखपुर में विजय शंखनाद रैली में उमड़ी भीड़ से गदगद भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह संकेत है कि जनता ने कांग्रेस की विदाई तय कर ली है, कांग्रेस मुक्त भारत का संकल्प ले लिया है। सपा पर हमला बोलते हुए कहा कि नेता जी (मुलायम सिंह यादव) की हैसियत नहीं है कि वह उत्तर प्रदेश को गुजरात बना सकें। मोदी ने गुजरात मॉडल की जमकर तारीफ करते हुए पूर्वाचल के युवाओं को सपने दिखाए। महानगर के मानबेला मैदान में कुल 46 मिनट के संबोधन में उन्होंने कहा कि भीड़ देख कर लग रहा है कि उत्तर प्रदेश ने हर क्षेत्र में एक दूसरे से आगे निकलने की स्पर्धा ठान ली है। यहां की हर रैली पिछली रैली का रिकार्ड तोड़ देती है। आज जनता की आवाज बनारस की गलियों में भी गूंज रही है। चुनाव बहुत देखे हैं, लेकिन यह ऐसा चुनाव है, जिसका फैसला देश के कोटि-कोटि जनों ने कर दिया है। कांग्रेस मुक्त भारत हो कर रहेगा नजारा साफ कह रहा है। वहीं सपा प्रमुख को जवाब देते हुए मोदी ने कहा कि मुलायम की हैसियत नहीं है कि

आज भी जीवित हैं चीन युद्ध में शहीद "जसवंत सिंह रावत "

इमेज
आज भी जीवित हैं महावीर चक्र विजेता शहीद जसवंत सिंह रावत....._/\_.... उनको सुबह तड़के साढ़े चार बजे बेड टी दी जाती है. उन्हें नौ बजे नाश्ता और शाम सात बजे रात का खाना भी मिलता है.चौबीस घंटे उनकी सेवा में भारतीय सेना के पाँच जवान लगे रहते हैं. उनका बिस्तर लगाया जाता है, उनके जूतों की बाक़ायदा पॉलिश होती है और यूनिफ़ॉर्म भी प्रेस की जाती है,लोग जब सुबह उसे देखते थे तो ऐसा प्रतीत होता कि किसी व्यक्ति ने उन पोशाकों और जूतों का इस्तेमाल किया है।इतनी आरामतलब ज़िंदगी है बाबा जसवंत सिंह रावत की, लेकिन आपको ये जानकर अजीब लगेगा कि वे इस दुनिया में नहीं हैं. जसवंत सिंह लोहे की चादरों से बने जिन कमरों में रहा करते थे, वही स्मारक का मुख्य केंद्र बना.गुवाहाटी से तवांग जाने के रास्ते में लगभग 12,000 फीट की ऊंचाई पर बना जसवंत युद्ध स्मारक भारत और चीन के बीच 1962 में हुए युद्ध में शहीद हुए महावीर चक्र विजेता सूबेदार जसवंत सिंह रावत के शौर्य व बलिदान की गाथा बयां करता है। उनकी शहादत की कहानी आज भी यहां पहुंचने वालों के रोंगटे खड़े करती है और उनसे जुड़ी किंवदंतियां हर राहगीर को रुकने और उन्हें नमन क

सर्वे: मोदी पहली पसंद, बीजेपी शिखर पर, सीटें 192-210 तक

इमेज
सर्वे: मोदी पहली पसंद, बीजेपी शिखर पर, सीटें 192-210 तक आईबीएन-7 | Jan 24, 2014 नई दिल्ली। अगर अभी चुनाव हों तो बीजेपी अबतक का अपना सबसे बेहतर प्रदर्शन कर सकती है जबकि कांग्रेस को तगड़ा झटका लगता नजर आ रहा है। आईबीएन7 के लिए सीएमडीएस के इस सर्वे में बीजेपी को अकेले 192 से लेकर 210 सीटें मिलने का अनुमान है जबकि कांग्रेस को 92 से 108 तक सीटें मिल सकती हैं। सर्वे में एनडीए को 211 से 231 और यूपीए को 107 से 127 सीटें मिलने का अनुमान है। ममता बनर्जी को 20 से 28 और जयललिता और लेफ्ट फ्रेंट को 15 से 23 सीटें मिल सकती हैं। मोदी पहली पसंद आईबीएन7 के लिए सीएसडीएस के 18 राज्यों में किए गए नेशनल ट्रैकर सर्वे में लोगों की पहली पसंद बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी हैं। सर्वे में नरेन्द्र मोदी 34 फीसदी लोगों को ने पसंद किया है जबकि कांग्रेस के नेता राहुल गांधी महज 15 फीसी लोगों की पसंद हैं और सोनिया 5 फीसदी पर सिमट गई हैं। वहीं जब मोदी और राहुल के बारे में सीधे पूछा गया तो मोदी 42 फीसदी लोग प्रधानमंत्री देखना चाहते हैं और राहुल को 25 फीसदी लोग प्रधानमंत्री देखना चाहेत हैं। गौरत

मैं आपसे साठ महीने मांगता हूं - नरेंद्र मोदी

इमेज
गोरखपुर. आज भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की गोरखपुर में रैली को संबोधित किया। इस रैली को ऐतिहासिक बनाने के लिए भाजपा ने कोई कोर कसर नहीं छोड़ी थी। वहीं मोदी भी इस रैली को सफल बनाने के लिए गोरखनाथ मंदिर के दर्शन करने पहुंचे। वहीं मोदी की सुरक्षा को देखते हुए पुलिस, एटीएस, खुफिया एजेंसियों, गुजरात सुरक्षा बल आदि ने तकरीबन 90 एकड़ रैली क्षेत्र पर नजर रखी। विजय शंखनाद रैली को लेकर बीजेपी के कार्यकर्ताओं में ही नहीं बल्कि लोगों में भी खासा उत्साह देखा गया। हजारों की भीड़ में यहां लोग नजर आए। वहीं सुबह से ही यहां सड़कों पर जाम रहा। इस जाम के कारण कई लोगों को दिक्कतों का सामना भी करना पड़ा। गोरखपुर. यूपी के गोरखपुर में बीजेपी की विजय शंखनाद रैली को संबोधित करते हुए पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस और सपा पर जमकर निशाना साधा। मोदी ने कहा 'आपने साठ साल तक शासक चुने हैं, मैं आपसे साठ महीने मांगता हूं। मैं आपके सपनों का हिंदुस्तान देने का वादा करता हूं। आज सुभाष चंद्र बोस का जन्मदिन है। उन्होंने कहा था कि तुम मुझे खून दो, मैं तुम्ह

कांग्रेस को,जब-जब चुनाव होते हैं तभी गरीबों की याद आती है - नरेंद्र मोदी

मुझे 60 महीने दो, मैं आपको सुख-चैन की जिंदगी दूंगा : मोदी Thursday, January 23, 2014, ज़ी मीडिया ब्यूरो गोरखपुर (उत्तर प्रदेश) : यूपी के गोरखपुर में गुरुवार को विजय शंखनाद रैली के दौरान बीजेपी के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने हुंकार भरी। मोदी ने विपक्षी पार्टियों को ललकारते हुए कहा कि चुनाव का फैसला जनता तय कर चुकी है। मोदी ने रैली के दौरान जमा भारी भीड़ से उत्साहित होकर कहा कि ये भीड़ बदलती हवा का रुख दिखा रही है। मोदी ने इस दौरान कांग्रेस पर जमकर प्रहार किया। उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आपने 60 साल शासकों को दिए हैं, अब सेवकों को 60 महीने दीजिए। हम आपकी खुशी के लिए रात-दिन एक दिन कर देंगे। सुभाष चंद्र बोस के नारे को याद करते हुए मोदी ने कहा कि आप मुझे 60 महीने दीजिए मैं आपको सुख-चैन की जिंदगी दूंगा। उन्होंने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया और आरोप लगाया कि जब-जब चुनाव होते हैं तभी कांग्रेस को गरीबों की याद आती है। क्योंकि उन्हें गरीबों और दलितों को वोट चाहिए होता है। मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा अपने फायदे के लिए लोगों को गरीब रखा है। इसलिए 60 साल में भी हिंदु

प्रधानमंत्री पद के लिए ' मोदी ' सबसे पोपुलर

इमेज
प्रधानमंत्री पद के लिए मोदी सबसे पोपुलर, रेस में मनमोहन और राहुल पीछे: सर्वे January 21, 2014 ज़ी मीडिया ब्यूरो नई दिल्ली : एक न्यूज चैनल द्वारा कराए गए सर्वे के मुताबिक प्रधानमंत्री पद के लिए देश में नरेंद्र मोदी की लहर है। इस सर्वे में प्रधानमंत्री पद के लिए मोदी पहली पसंद है और इस रेस में सबसे आगे चल रहे हैं। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री पद के दावेदारों की फेहरिस्त में सर्वे के मुताबिक मोदी से पीछे हैं। बिहार, पश्चिम बंगाल, झारखंड और ओडिशा में आम लोगों पर हुए सर्वे में यह बात सामने आई है। इसके मुताबिक, बिहार, झारखंड में तो बीजेपी सबसे बड़े दल के रूप में उभरेगी, वहीं प. बंगाल में तृणमूल तो ओडिशा में सत्ताधारी बीजू जनता दल के ही आगे रहने के आसार हैं। पश्चिम बंगाल में प्रधानमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी 18 फीसदी लोगों की पसंद हैं, जबकि 11 फीसदी लोग ममता बनर्जी को पीएम के तौर पर देखना चाहते हैं। सर्वेक्षण के अनुसार पश्चिम बंगाल में 60 फीसदी लोगों ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के प्रदर्शन से संतोष जताया जबकि नरेंद्र मोदी को लोग प्रधानमंत्री पद

गणतंत्र दिवस : जनतंत्र के आत्म निरिक्षण का संवैधानिक पर्व

इमेज
26 tuojh 2014 @ 65os x.kra= fnol ij tura= ds vkRe fufj{k.k dk laoS/kkfud ioZ x.kra= fnol & vjfoUn fllksfn;k ewyr% 26 tuojh 1950 dks gekjs lafo/kku ds ykxw gksus ds dkj.k] ;g rkjh[k x.kra= fnol ds :i esa ekuk;k tkrk gSA fdUrq ;g vge rkjh[k gh lafo/kku ykxw djus ds fy;s D;ksa r; dh xbZ] blds ihNs ewy dkj.k ;g gS fd Lora=rk laxzke ds nkSjku blh fnu rr~dkyhu dkaxzsl us 1930 ds ykgkSj vf/kos'ku esa igyh ckj frjaxs >aMs dks Qgjk;k  Fkk] vkSj lkFk gh ,d egRoiw.kZ QSlyk ysrs gq;s] ?kks’k.kk dh Fkh fd 26 tuojh dks izfro’kZ Þiw.kZ Lojkt fnolß ds :i esa eukuk tk,xk A bl fnu lHkh Lora=rk lsukuh iw.kZ Lojkt dk çpkj djsaxs] bl rjg dk ladYi fy;k x;k FkkA bl rjg ijra= Hkkjr esa 26 tuojh 1930 ls v?kksf"kr :i ls Hkkjr dk Lora=rk fnol cu x;k Fkk A  15 vxLr 1947 dks ns”k Lora= gqvk] vaxzstksa us vius ik[k.M dks iwjk djrs gq;s v[k.MHkkjr dks [kf.Mr dj fn;kA Hkkjr dh Lora=rk ds i”pkr fdl rjg dk lafo/kku gksxk ] blds fy;s iwoZ esa gh lafo/kku lHkk dk xBu gks pqdk FkkA ikfdLr