पोस्ट

सितंबर, 2014 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

स्क्वायर गार्डन में ; भारत माता की जय और मोदी-मोदी के नारे लगे, वन्देमातरम गूंजा !

इमेज
स्क्वायर गार्डन में लगे भारत माता की जय और मोदी-मोदी के नारे Date : Mon, 29 Sep 2014 न्यूयॉर्क। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अनिवासी भारतीयों के साथ ही अमेरिकियों के दिलो-दिमाग पर भी छा गए हैं। रविवार को मोदी जब मेडिसन स्क्वायर गार्डन पर सभा को संबोधित करने पहुंचे तो वहां 'लघु भारत' का नजारा दिखाई दिया। 'भारत माता की जय' और नवरात्रि की शुभकामना से भाषण की शुरुआत करते हुए मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि सवा सौ करोड़ लोगों के बल पर भारत 21वीं सदी में दुनिया का नेतृत्व करेगा। यह हमारी सदी हो सकती है। 2020 तक भारत दुनिया को पेशेवर लोगों का निर्यात करेगा। अनिवासी भारतीयों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि आपने देश की इज्जत बढ़ाई है। हम आपका माथा नहीं झुकने देंगे। इस मौके पर उन्होंने अनिवासी भारतीयों के लिए आजीवन वीजा का एलान किया और कहा कि अब लोगों को थानों के चक्कर नहीं लगाने होंगे। अमेरिकी पर्यटकों को लंबे समय तक के लिए वीजा दिया जाएगा। लगभग 20 हजार लोगों को हिंदी में संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि भारत में लोगों को सरकार से बहुत अपेक्षाएं हैं और हमारी सरकार उनकी

अमेरिका से : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जीता दुनिया का दिल

इमेज
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जीता अमेरिकी सांसदों का दिल Bhasha 29 सितम्बर 2014  न्यूयॉर्क: अमेरिका दौरे पर आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिर्फ प्रवासी भारतीयों का ही नहीं बल्कि लगभग 40 शीर्ष अमेरिकी सांसदों का दिल भी जीत लिया। इन सांसदों ने उनके शब्दों को ‘प्रेरणादायी और विहंगम दृष्टिकोण से परिपूर्ण’ बताया।   मैडिसन स्क्वेयर में अपने भाषण के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि वह एक छोटे आदमी थे, जो ‘चाय बेचकर’ यहां तक पहुंचे हैं, लेकिन ‘छोटे लोगों के लिए बड़े काम’ करने की इच्छा रखते हैं। मोदी की इस बात को सुनकर वहां मौजूद कांग्रेस सदस्य उनके साथ एक खास जुड़ाव महसूस करने लगे। --------------- मेडिसन स्क्वायर में मोदी के भाषण पर राजनेताओं की प्रतिक्रियाएं नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मेडिसन स्क्वायर में भाषण के बाद ट्विटर पर कई सारी प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं। इनमें न सिर्फ आम आदमी शामिल है बल्कि कई राजनेता और बॉलीवुड से जुड़े लोग भी शामिल हैं। ज्यादा प्रतिक्रियाओं में लोगों ने मोदी के इस भाषण की जबरदस्त तारीफ की है। पेश है उनके भाषण पर मिली कुछ खास प्रतिक्रियाएं:

'मेक इन इण्डिया' : सशक्त भारत की समर्थ डगर

इमेज
सबल, सशक्त भारत की समर्थ डगर तारीख: 27 Sep 2014 मोदी के 'मेक इन इण्डिया' अभियान में रेखांकित हुआ दुनिया के उद्यमियों और भारत के नागरिकों के उत्थान का मंत्र। कार्यक्रम में पहंचे बड़े बड़े उद्योगपति इस गरिमामय कार्यक्रम में देश-दुनिया के करीब 500 शीर्ष उद्योगपतियों ने भाग लिया। इनमें से कुछ को मंच से संबोधित करने का मौका भी मिला। कार्यक्रम में इस अभियान को अपना समर्थन देते हुए अपने उद्यमों के प्रयासों की जानकारी देने वालों में थे-रिलायंस उद्योग समूह के अध्यक्ष मुकेश अंबानी, टाटा समूह के अध्यक्ष सायरस मिस्त्री, विप्रो समूह के अध्यक्ष अजीम प्रेमजी, आईटीसी के अध्यक्ष वाई. सी. दावेश्वर, बिरला समूह के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिरला, आईसीआईसीआई बैंक की मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंदा कोचर, मारुति इण्डिया के अध्यक्ष केनीची आयुकावा, लॉकहीड मार्टिन के फिल शॉ और बॉश कंपनी के निदेशक फ्रेंज हॉबर। आएंगे सैकड़ों वास्को डि गामा भारत में निर्माण की अपार संभावनाओं का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि भारत में डेमोक्रेसी (लोकतंत्र) है, डेमोग्राफी (जनसांख्यिकी) है और डिमांड (मांग) है। जो देश इन त

संयुक्त राष्ट्र संघ में नरेन्द्र मोदी विश्व नेता के रूप में उभरे

इमेज
संयुक्त राष्ट्र में मोदी का आह्वान, चलिए 'जी-ऑल' बनाते हैं सितम्बर 27, 2014 संयुक्त राष्ट्र: नई शब्दावलियों का उपयोग करने और बेहतरीन वक्ता के तौर पर पहचान रखने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज संयुक्त राष्ट्र में 'जी-ऑल' के रूप में नयी शब्दावली का इस्तेमाल किया और कहा कि कई तरह की चुनौतियों का सामना करने के लिए अलग अलग समूहों को मिलकर ठोस प्रयास करना चाहिए। मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 69वें सत्र को संबोधित करते हुए कहा, 'आज, हम अब भी कई 'जी' (समूहों) में विभिन्न संख्या में काम कर रहे हैं। भारत भी इनमें से कई में शामिल है। परंतु हम जी-1 या जी-ऑल के रूप मिलकर काम करने में कितना सफल हुए हैं।' उन्होंने कहा कि जी-5, जी-20 जैसे समूहों के नाम बदलते रहते हैं, लेकिन हमें जी-ऑल की जरूरत है, ताकि कई लक्ष्यों को पूरा किया जा सके और पूरे विश्व में लोगों के जीवन में सुधार किया जा सके। प्रधानमंत्री ने कहा, 'एक तरफ हम कहते हैं कि हमारे भाग्य एक दूसरे से जुड़े हुए हैं, दूसरी तरफ हम अब भी नफा-नुकसान की शतो' में सोचते हैं। अगर दूसरे को लाभ होता है,

शारदीय नवरात्रा 25 सितम्बर गुरूवार से

इमेज
शारदीय नवरात्रा 25 सितम्बर गुरूवार से नवरात्रि का दिन १ प्रतिपदा घटस्थापना, शैलपुत्री पूजा   नवरात्रि में आज के दिन का रँग है,पीला २५th सितम्बर २०१४ ( बृहस्पतिवार ) ----------- नवरात्रि का दिन २ द्वितीया ब्रह्मचारिणी पूजा    नवरात्रि में आज के दिन का रँग है हरा २६th सितम्बर २०१४ ( शुक्रवार ) ------------- नवरात्रि का दिन ३ तृतीया सिन्दूर तृतीय / चन्द्रघन्टा पूजा नवरात्रि में आज के दिन का रँग है स्लेटी २७th सितम्बर २०१४ ( शनिवार ) ------------- नवरात्रि का दिन ४    चतुर्थी कुष्माण्डा पूजा /वरद विनायक चौथ उपांग ललिता व्रत    नवरात्रि में आज के दिन का रँग है नारंगी    २८th सितम्बर २०१४ ( रविवार ) -------------- नवरात्रि का दिन ५    पञ्चमी स्कन्दमाता पूजा नवरात्रि में आज के दिन का रँग है सफ़ेद २९th सितम्बर २०१४(सोमवार) ------------------ नवरात्रि का दिन ६    षष्ठी कात्यायनी पूजा नवरात्रि में आज के दिन का रँग है लाल ३०th सितम्बर २०१४(मंगलवार) -------------------- नवरात्रि का दिन ७    सप्तमी सरस्वती आवाहन / कालरात्रि पूजा    नवरात्रि में आज के दिन का रँग है गहरा नीला १st अ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू

इमेज
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू आईबीएन-7 | Sep 21, 2014 नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी अमेरिका यात्रा से पहले सीएनएन के वरिष्ठ पत्रकार फरीद जकारिया को एक्सक्लूसिव इंटरव्यू दिया। पढ़िए उस इंटरव्यू के सवालों के जवाबः- फरीद जकारियाः आपके चुनाव के बाद लोगों ने एक प्रश्न दोबारा पूछना शुरू कर दिया है, जो पिछले दो दशकों में कई बार पूछा जा चुका है। वह यह है, कि क्या भारत अगला चीन होगा? क्या भारत स्थिरता से 8 से 9 प्रतिशत की दर से विकास कर पाएगा और खुद को बदलकर दुनिया में बदलाव ला सकेगा? प्रधानमंत्री मोदीः देखिए, भारत को कुछ भी बनने की जरूरत नहीं है। भारत को भारत ही बनना चाहिए। ये वो देश है, जो कभी सोने की चिड़िया कहा जाता था। हम जहां थे, वहां से नीचे आए हैं। फिर से उठने की हमारी संभावनाएं बढ़ी हैं। दूसरी बात है, अगर आप पिछली पांच शताब्दियों या दस शताब्दियों का डिटेल देखेंगे, तो आपके ध्यान में आएगा, कि भारत और चीन ने हमेशा एक साथ विकास किया है। पूरे विश्व की जीडीपी में दोनों का योगदान हमेशा समान रहा है, और पतन भी दोनों का साथ-साथ हुआ है। ये युग फिर से एशिया का आया है। औ

कोटा नगर निगम के वार्ड आरक्षण

इमेज
कोटा नगर निगम के वार्ड आरक्षण वार्ड  01 एससी महिला 02 जनरल 03 एसटी महिला 04 जनरल महिला 05 ओबीसी   06 एसटी 07 एससी महिला 08 एसटी 09 एससी 10 एससी 11 एससी 12 जनरल 13 जनरल महिला 14 एससी महिला 15 जनरल 16 जनरल महिला 17 जनरल 18 ओबीसी 19 जनरल 20 ओबीसी 21 ओबीसी महिला 22 जनरल 23 ओबीसी 24 ओबीसी महिला 25 एससी 26 ओबीसी महिला 27 ओबीसी 28 ओबीसी 29 एससी 30 एससी महिला 31 एससी 32 जनरल महिला 33 जनरल 34 जनरल 35 एससी 36 जनरल 37 जनरल महिला 38 जनरल 39 जनरल 40 जनरल महिला 41 जनरल महिला 42 जनरल 43 ओबीसी 44 जनरल 45 जनरल 46 ओबीसी 47 जनरल महिला 48 एससी 49 जनरल 50 ओबीसी 51 जनरल 52 जनरल 53 जनरल 54 जनरल 55 जनरल 56 जनरल महिला 57 जनरल महिला 58 जनरल महिला 59 जनरल 60 जनरल 61 ओबीसी महिला 62 जनरल 63 ओबीसी महिला 64 जनरल 65 जनरल महिला

क्या घटोत्कच का कंकाल छिपाया जा रहा है ??

इमेज
सच झूठ पता नहीं , मगर तस्वीरें कहती हैं कुछ है !  जिसे सच पता हो वह अवश्य बताये !  एक इस लिंक को भी देखें  http://www.ajabgjab.com/2014/04/some-mysterious-archaeological.html    --------------------------------------------------------------------------- गुरुवार, 30 जनवरी 2014 क्या  घटोत्कच का कंकाल छिपाया जा रहा है ??  Ghatotkach skeleton  http://ashutoshnathtiwari.blogspot.in   जय श्री राम मित्रों एक लम्बे अंतराल के बाद अगले लेख की शुरुवात एक महाभारतकालीन तथ्य के आधार पर करना चाहूँगा. महाभारत में भीम और हिडिम्बा के पुत्र घटोत्कच का वर्णन है जो अत्यंत ही विशालकाय मायावी और बलशाली था. महाभारत के युद्ध में घटोत्कच ने एक निर्णायक भूमिका निभाई थी जब उसने कर्ण को उस शक्तिबाण का इस्तेमाल करने को विवश किया जिसको कर्ण ने अर्जुन को मारने के लिए संभाल कर रखा था.. आज जब हम इक्कीसवी शताब्दी में हैं और पूर्व में कई सौ वर्षो से हिन्दुस्थान ऐसे लोगो का गुलाम रहा जो हिन्दू संस्कृति को नकारने एवं हेय तथा काल्पनिक बताने के निकृष्ट यत्न करते रहे.वर्तमान तथा भूतकाल की कांग्र

जन्मदिन पर नरेंद्र मोदी ने : मां के पैर छू कर लिया आशीर्वाद

इमेज
जन्मदिन पर घर पहुंचे मोदी,  मां के पैर छू लिया आशीर्वाद आईबीएन-7 | Sep 17, 2014 नई दिल्ली। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन है। प्रधानमंत्री मोदी आज 64 साल के हो गए। जन्मदिन से एक दिन पहले ही मोदी गुजरात पहुंचे हैं। इस खास मौके पर पीएम मोदी अपनी मां से भेंट करने घर पहुंचे। मोदी ने मां के पैर छूकर उनका आशीर्वाद लिया। मां ने खुश होकर मोदी को मिठाई खिलाई और तोहफे के रूप में मोदी को शगुन के पांच हजार रुपये भी दिए। मोदी ने मां के दिए हुए 5 हजार रुपये बाढ़ पीड़ितों की राहत के लिए प्रधानमंत्री राहत कोष में जमाकरवा दिए। बता दें प्रधानमंत्री मोदी ने पहले ही अपील की है कि उनका जन्मदिन न मनाया जाए। बल्कि जम्मू-कश्मीर में आई बाढ़ से बेहाल लोगों की मदद की जाए। मोदी को जन्मदिन के मौके पर जापान के पीएम और राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी दी बधाई दी। यही नहीं आज एक और खास मौका है क्योंकि चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग 3 दिवसीय दौरे पर भारत आ रहे हैं। दोपहर ढाई बजे के लगभग वो सीधे अहमदाबाद आएंगे। वहीं पर मोदी और चिनफिंग की मुलाकात होगी। अहमदाबाद में चीनी राष्ट्रपति के स्वागत की तैयारि

उपचुनाव के नतीजों से हताश नहीं हों : अमित शाह

इमेज
उपचुनाव के खराब नतीजों से हताश नहीं हों : अमित शाह भाषा | Sep 17, 2014 बीदर (कर्नाटक) उपचुनाव में खराब प्रदर्शन के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वे हताश नहीं हों। वे चार राज्यों में आगामी विधानसभा चुनाव भारी बहुमत से जीतेंगे और इसके लिए वे कांग्रेस-मुक्त भारत के अजेंडा पर आगे बढ़ें। शाह ने कहा, 'कुछ चुनाव नतीजे आए हैं। विपक्ष अभिभूत है। उन्हें लगता है कि कुछ बहुत अच्छी चीज हुई है, क्योंकि कुछ जगहों पर बीजेपी परास्त कर दी गई है। लेकिन वे नहीं देख सकते हैं कि हमने असम में अपना खाता खोला है, वे नहीं देख सकते कि हम बंगाल में जीते हैं।' लोकसभा चुनाव में शानदार जीत के महज चार माह बाद बीजेपी उत्तर प्रदेश, राजस्थान और गुजरात के अपने गढ़ों में हुए कुछ उप-चुनावों में बुरी तरह से हार गई। उसे 23 विधानसभा सीटों में से 13 सीटें खोनी पड़ीं। इन उपचुनावों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता की परीक्षा के रूप में देखा जा रहा था। शाह ने कहा, 'इन उपचुनाव नतीजों को न देखें। चार राज्यों में चुनाव हैं। आप देखेंगे कि बीजेपी इन राज्यों में जबर्दस्त बहुम

नरेन्द्र मोदी : Narendra Modi

इमेज
नरेन्द्र मोदी भारत डिस्कवरी प्रस्तुति http://hi.bharatdiscovery.org/india/%E0%A4%A8%E0%A4%B0%E0%A5%87%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%A6%E0%A5%8D%E0%A4%B0_%E0%A4%AE%E0%A5%8B%E0%A4%A6%E0%A5%80 नरेन्द्र मोदी (अंग्रेज़ी: Narendra Modi, जन्म: 17 सितंबर, 1950) भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री हैं। नरेन्द्र मोदी भारतीय जनता पार्टी के प्रसिद्ध नेता और गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री हैं। 'केशुभाई पटेल' के इस्तीफे के बाद नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री बने। नरेंद्र मोदी गुजरात के सबसे ज़्यादा लंबे समय तक शासन करने वाले मुख्यमंत्री हैं। नरेंद्र मोदी 7 अक्तूबर, 2001 से 21 मई, 2014 तक लगातार गुजरात के मुख्यमंत्री पद पर विराजमान रहे। नरेंद्र मोदी को वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में भारत की प्रमुख पार्टी भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रधानमन्त्री पद का प्रत्याशी घोषित किया गया तथा इन्होंने उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक नगरी वाराणसी एवं अपने गृहराज्य गुजरात के वडोदरा संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ा और दोनों जगह से चुनाव भारी मतों के अंतर से जीता। नरेन्द्र मोदी स्वतन्त्र भारत में जन्मे पहले व्यक्ति हैं जो भार

जम्मू-कश्मीर - विपदा में बचाया वीरों ने

इमेज
जम्मू-कश्मीर  - विपदा में बचाया वीरों ने तारीख: 13 Sep 2014 - जम्मू से बलवान सिंह कश्यप ऋषि की जिस तपस्थली, कश्यपमर्ग घाटी को प्रकृति ने धरती का स्वर्ग सा सौंदर्य दिया, आज वही जम्मू-कश्मीर प्रकृति के कोप से थराथरा उठा है। तीन दिन तक लगातार ऐसी मूसलाधार बारिश हुई कि जिसने घाटी को कई स्थानों पर 30 से 40 फुट तक डुबा दिया। हाहाकार मच गया, लोगों की जान पर बन आई, लेकिन ऐसे में सेना के बहादुर जवानों और संघ के स्वयंसेवकों ने सबसे पहले पहंुचकर नागरिकों को तेजी से सुरक्षित स्थानों पर पहंुचाया। भोजन और पानी की व्यवस्था की। बारिश, बाढ़ व भूस्खलन में अब तक 250 के करीब लोगों की जान जा चुकी है, 5 लाख लोगों को बचाया जा चुका है। सड़कें, पुल, घर, फसलें बुरी तरह तबाह हो चुकी हैं। जम्मू संभाग के पुंछ-राजोरी तथा कश्मीर के श्रीनगर व दक्षिण कश्मीर में बिजली, पानी, दूरसंचार सेवाएं पूरी तरह ठप्प पड़ी हैं। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग सहित जम्मू संभाग के कई मार्ग बंद पड़े हैं जबकि सेना, वायु सेना, एनडीआरएफ व अन्य सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जारी राहत अभियान के चलते 70 हजार के करीब लोगों को बचाकर सुर

टीचर डे-- बना-- मोदी डे--!

इमेज
टीचर डे-- बना-- मोदी डे--! अदभुद सोच और सामर्थ हैं मोदी के पास आज बच्चो और अभिभावकों का दिल जीत लिया मोदी जी ने क्षिक्षको का बढ़ाया विश्वास । वाह मोदी जी वाह । पीएम नरेंद्र मोदी का संदेश, होशियार बच्चों को शिक्षक बनना चाहिए 05-09-2014 नई दिल्ली। शिक्षक दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में मानेकशॉ ऑडिटोरियम से देश भर के स्कूली बच्चों को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि क्या कारण है कि बहुत सामर्थ्यवान विद्यार्थी टीचर बनना पसंद नहीं करता, हमें सोचना होगा कि होशियार विद्यार्थी शिक्षक क्यों नहीं बनना चाहते। प्रधानमंत्री ने कहा, क्या हम बच्चों के मन में यह भावना नहीं जगा सकते कि एक अच्छा टीचर बनें, हमारी कोशिश होनी चाहिए कि हम अच्छे टीचरों को एक्सपोर्ट कर सकें। प्रधानमंत्री ने कहा कि अध्यापन देश की उत्तम सेवा है। पीएम मोदी ने कहा कि स्टूडेंट्स को संबोधित करना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। आज सारी दुनिया में अच्छे टीचर्स की मांग है। उन्होंने कहा कि महापुरूषों के जीवन में शिक्षकों का बडा योगदान रहा है। जो पीढियों के बारे में सोचते हैं, वो इंसान बोते हैं। गांवों मे

हिन्दू हैं हम, सच है तो सिर चढ़कर बोलेगा !

हिन्दुत्व - हिन्दू हैं हम सच है तो सिर चढ़कर बोलेगा तारीख: 30 Aug 2014 ये सामान्य भाव से कही गयी बात नहीं है। ये दुष्टों की आंखों में आंखें डाल कर कहा गया जवाब है। आज नहीं तो कल सम्पूर्ण विश्व उन हत्यारी विचारधाराओं से यह प्रश्न पूछेगा कि मानवीय मूल्यों और सहिष्णुता के नाम पर शांति के मजहब का खजाना खाली क्यों है? इस बात को पूछे-कहे बिना विश्व शांति संभव भी नहीं है। हिन्दुस्थान में रहने वाला 'हिन्दू' है। और इस सत्य को मानने में अपने पुरखों-परम्पराओं से साम्य रखने वाले देशवासियों को कोई आपत्ति नहीं है। प्रस्तुत है पाञ्चजन्य का विशेष आयोजन = तुफैल चतुर्वेदी कुछ दिन से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक माननीय भागवत जी के बयान हिंदुस्तान के सभी नागरिक हिन्दू हैं पर वामपंथी, मुस्लिम चरमपंथी, कांग्रेसी ता-ता-थैया कर रहे हैं। भागवत जी के बयान के दूरगामी निहितार्थ हैं अत: इस पर इस प्रकार की प्रतिक्रिया अपेक्षित ही थी। इस परिप्रेक्ष्य में स्वयं को हिन्दू मानने से इंकार करने के कारणों पर विचार करना समीचीन होगा। आइये हिन्दू की परिभाषा क्या है इस विवाद में पड़े बिना हिन्दू धर्म को उ

मानवता को गले लगाने वाला हेै हिन्दू धर्म - परम पूज्य सरसंघचालक भागवतजी

इमेज
हिन्दुत्व - मानवता को गले लगाने वाला हेै हिन्दू धर्म - परम पूज्य सरसंघचालक श्री मोहनजी  भागवत तारीख: 30 Aug 2014 — सरदार रविरंजन, वरिष्ठ पत्रकार - पाञ्चजन्य ब्यूरो पिछले दिनों मुंबई में विश्व हिन्दू परिषद के स्वर्णजयंती समारोह में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक श्री मोहनराव भागवत का एक बयान 'हिन्दुत्व राष्ट्र की पहचान है,उसकी यह अन्तर्भूति शक्ति है कि वह और भी पंथ-संप्रदायों को हजम कर सकता है। जो जरा हाजमा बिगड़ जाने के कारण थोड़ा शैथिल्य हो गया, जिसके परिणाम आज हम भुगत रहे हैं,उसको दूर करना है'। श्री भागवत के इस बयान के आते ही सेकुलरों की समाचार चैनलों पर जमात लगनी प्रारम्भ हो गई। ऐसा लगा मानो कोई संकट आ गया हो। हिन्दुस्थान और हिन्दू की नई-नई परिभाषाएं गढ़ी जाने लगीं। यहां तक कि हिन्दुस्तान टाइम्स समाचार पत्र ने श्री मोहनराव भागवत के बयान पर एक सर्वे किया। और जनता से जानना चाहा कि कितने लोग सहमत हैं कि भारत एक हिन्दू राष्ट्र है। जनता ने सच को उद्घोषित करते हुए 60.92 प्रतिशत लोगों ने स्वीकार किया कि भारत एक हिन्दू राष्ट्र है और 38.26 प्रतिशत लोग इस मत से सहमत नज