शुक्रवार, 23 अगस्त 2019

क्या वंश पूछते हो, श्रीराम मय जो पूरा देश है - अरविन्द सिसौदिया







12 अग॰ 2019 को प्रीमियर हुआ था
**** क्या वंश पूछते हो,भगवान श्रीराम मय जो पूरा देश है - अरविन्द सिसौदिया
*** अनुसंधान हो - श्रीराम के वंशज सीसौदिया, सिकरवार बडगूजर गुहिल भी हें
*** सूर्यवंशी भगवान श्रीराम और माता जानकी की कोख से जन्में "लव" के वंशज पूरे भारत में फैले हुये हैं। मेवाड श्रीराम के पुत्र लव के वंशजों का ही है। गुहिल , सीसौदिया, सिकरवार और बड गूजर लव के वंशज ही है। लव ने लाहौर बसाई थी । बाद में गुजरात और फिर मेवाड पर उनके वंशजों का शासन हुआ। लेकिन पश्चिमी भारत की अशांत और संघर्षशील सीमाओं के कारण कोई बडे दस्तावेजी सबूत मिलना मुस्किल है। किन्तु स्मृतियों,जागाओं और संस्कृत साहित्य इस बात का गवाह है कि श्रीराम के एक मात्र पुत्र लव थे ! वाल्मीकी जी ने कुशा से कुश को बनाया था और कुश को भी पुत्रवत सम्मान ही प्राप्त था। इन दानों पुत्रों को राज्य दिया गया था तथा उनकी वंश परम्परा समस्त भारत में फैली हुई हे।
- अरविन्द सिसौदिया,जिला महामंत्री भाजपा कोटा !!!
भाजपा कोटा संभाग मीडिया प्रभारी ! 9414180151 / 9509559131

कांग्रेस आराजकता उत्पन्न करना चाहती है - अरविन्द सिसौदिया





14 अग॰ 2019 को प्रीमियर हुआ था
कांग्रेस आराजकता उत्पन्न करना चाहती है - अरविन्द सिसौदिया
कांग्रेस पाकिस्तान परस्ती के लिये माफी मांगे - अरविन्द सिसौदिया
काँग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने कहा कि “ कश्मीर से धारा 370 हटाना असंवैधानिक है “। काँग्रेसी के क्रूर नेता मणिशंकर अय्यर ने कहा कि “ कश्मीर अब फलस्तीन बनके रहेगा“। मतलब कश्मीर में खून-खराबे की काँग्रेस की पाकिस्तान से मिल कर मुकम्मल योजना है। काँग्रेस के महाज्ञानी नेता पी. चिदम्बरम् ने साम्प्रदायिक राग अलापते हुये कहा कि “ मुस्लिम-बहुल होने के कारण ही भगवा सरकार ने धारा 370 हटाई, कश्मीर यदि हिन्दू-बहुल होता तो धारा 370 कभी न हटती ।“ चिदम्बरम् यह बताना भूल गए कि यदि कश्मीर हिन्दू-बहुल होता तो धारा 370 लगती ही नहीं। फिर कल ही काँग्रेस के लगभग मुख्य नेता दिग्विजय सिंह बोले कि “ भाजपा ने 370 हटाकर अपने हाथ जला लिए, अब कश्मीर भारत से अलग हो जाएगा ।“. मतलब कांग्रेस अब कश्मीर पाकिस्तान को सौंप कर ही मानेंगे।“ कुल मिला कर कांग्रेस देश को संकअ में डालनें पर आमादा है।
इसके पूर्व संसद में धारा 370 पर चर्चा के दौरान काँग्रेस के अधीर रंजन चैधरी, मनीष तिवारी, दिग्विजय सिंह और चिदम्बरम् वगैरह ने वो सब कुछ कहा जो कश्मीर पर पाकिस्तान कहता रहा है। अधीर रंजन चैधरी ने तो कश्मीर को यूएन का मसला तक बता दिया, जिसमें भारत बिना यूएन की अनुमति के कुछ नहीं कर सकता३ राज्यसभाक् में तो काँग्रेसियों ने विरोध में लगातार हुल्लड़ और नारेबाजी की। समूचा प्रकरण संसद में मौजूद काँग्रेस आलाकमान द्वारा प्रायोजित और समर्थित था। काँग्रेस कार्यसमिति की मीटिंग छोड़कर बाहर आये राहुल गांधी ने पत्रकारों को झूठा बयान दिया कि “ कश्मीर हिंसा में जल रहा है, लोग सेना द्वारा मारे जा रहे हैं, स्थिति बहुत गंभीर है।“
काँग्रेस कश्मीर को सेना द्वारा बना दिया गया नाजी कैम्प तक बता रही है । इसके पहले भी कांग्रेसी मणिशंकर अय्यर और कांग्रेसी सलमान खुर्शीद मोदी सरकार को हटाने के लिए पाकिस्तान मदद माँगने गए थे। भारत भर के लोग हतप्रभ हैं कि देश को आजादी दिलाने और राष्ट्रनिर्माता होने का दावा करने वाली काँग्रेस एका एक पाकिस्तान की प्रवक्ता कैसे बन गई। वह पाकिस्तान की राजनैतिक पार्टी की तरह कैसे व्यवहार कर रही है। लेकिन सच तो यह है कि काँग्रेस वैसी ही है जैसे सत्तर साल पहले थी। देश की जनता ही इतने दशकों तक काँग्रेस से भ्रमित रही और देश गर्त में जाता रहा। भड़काकर धारा 370 और 35 ए को पुनर्जीवित करने की अघोषितनीति से काम कर रहीं हे। जिसे कभी देश सफल नहीं होनें देगा।